विधायक ने मिलावट की सूचना मांगी, 10 मिनट बाद ही खराब मावे की शिकायत, जहां शपथ ली थी वहीं कार्रवाई

Khargon News - रैली में विधायक रवि जोशी व कलेक्टर गोपालचंद्र डाड सहित बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए। हेलो! टीआई साहब श्रीकृष्ण...

Nov 15, 2019, 07:40 AM IST
Bhikangauv News - mp news mla asks for notice of adulteration complaint of bad mava only after 10 minutes where swearing was taken
रैली में विधायक रवि जोशी व कलेक्टर गोपालचंद्र डाड सहित बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए।

हेलो! टीआई साहब श्रीकृष्ण टॉकिज क्षेत्र में कपड़ा दुकान के पास बिकता है रतलाम का नकली मावा

डेढ़ क्विंटल मावा मिला, 40 किलो जब्त कर पैकिंग व खुले के दो सैंपल लिए

भास्कर संवाददाता | खरगोन

शुद्ध के लिए युद्ध अभियान में जारी हेल्पलाइन नंबर के 24 घंटे में पर मिलावटी मावा भंडारण की सूचना पर पुलिस व औषधि विभाग ने कार्रवाई की। यहां डेढ़ क्विंटल मावा मिला। टीम ने सैंपल लिया है। टीआई ललितसिंह डागुर ने बताया कि जारी हेल्पलाइन नंबर (7803828449) का कंट्रोल पुलिस को दिया है। हेल्प नंबर पर एक कॉल आया।

इसमें कॉलर ने कहा कि टीआई साहब श्रीकृष्ण टॉकिज क्षेत्र की बालाजी मावा भंडार पर रतलाम से नकली मावा आया है। टीम तत्काल दुकान पहुंची। यहां 40 किलो पैकिंगयुक्त मावा जब्त किया। पैकिंग मावे में 20 व 10-10 किलो के दो पैकेट मिले। पैकेट पर कृष्णा डेयरी गुजरात अंकित है। एसडीएम अभिषेक गेहलोत व खाद्य एवं औषधि विभाग के नीरज श्रीवास्तव को बुलाया। टीम ने जांच की। फ्रिज व खुले में 1 क्विंटल मावा रखा था। इस तरह करीब डेढ़ क्विंटल मावा मिला। 40 किलो मावा जब्त किया है। जबकि खुले मावा का सैंपल लिया है। एसडीएम ने कहा- सैंपल लैब भेजेंगे। पूछताछ में दुकान संचालक ने बताया कि मावा रतलाम से बुलाया है।

दुकान पर मावा जांच करते एसडीएम अभिषेक गेहलोत व टीआई ललितसिंह डागुर।

इधर... 14 दिन में रिपोर्ट को 1 से 3 माह का समय, इस बीच अमानक सामग्री खा चुके होते हैं लोग

खरगोन |
खाद्य एवं औषधि विभाग का कार्रवाई का सिस्टम ही गलत है। अफसर सैंपल लेकर प्रदेश की एकमात्र भोपाल स्थित प्रयोगशाला में भेजते हैं। इस बीच संबंधित दुकान संचालक मावा या अन्य सामग्री के बेच देते हैं। प्रयोगशाला से जांच रिपोर्ट एक से तीन माह में आती है। सैंपल अमानक निकले या मानक तब तक बहुत देर हो जाती है। सामग्री मनुष्य के शरीर में पहुंच चुकी होती है। नियम यह होना चाहिए कि संबंधित सामग्री को सील कर वातानुकूलित स्थान पर रखना चाहिए। मानक हो तो दुकान संचालक को सामग्री देना चाहिए। यदि अमानक निकले तो सामग्री लोगों को शरीर में जाने से बच सकती है। औसतन जिले में नकली सामग्री का ज्यादा कारोबार होता है। कारोबारियों को भी पता है कि सैंपल लेकर प्रयोगशाला भेजेंगे। सामग्री को बेचने से तो नहीं रोक सकते हंैं। सरकारी नियम के मुताबिक 14 दिन में (अवकाश छोड़कर) रिपोर्ट हर हाल में देना जरूरी है। वहीं 8 से 12 अगस्त को भेजे चार सैंपल की रिपोर्ट गुरुवार को मिली है। रिपोर्ट 90 दिन के बाद मिली है। इसमें कुछ सैंपल अमानक मिले हैं।

Bhikangauv News - mp news mla asks for notice of adulteration complaint of bad mava only after 10 minutes where swearing was taken
X
Bhikangauv News - mp news mla asks for notice of adulteration complaint of bad mava only after 10 minutes where swearing was taken
Bhikangauv News - mp news mla asks for notice of adulteration complaint of bad mava only after 10 minutes where swearing was taken
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना