112 घंटे बाद खतरे के निशान से नीचे आई नर्मदा, पानी फिर बढ़ने की संभावना, पुल 6वें दिन भी बंद

Khargon News - भास्कर संवाददाता | बड़वाह/सनावद पिछले पांच दिनों से रौद्र स्वरूप में बह रही नर्मदा का उफान शुक्रवार को कम हुआ।...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 06:45 AM IST
Badwah News - mp news narmada falls below danger mark after 112 hours water likely to rise again bridge closed on 6th day
भास्कर संवाददाता | बड़वाह/सनावद

पिछले पांच दिनों से रौद्र स्वरूप में बह रही नर्मदा का उफान शुक्रवार को कम हुआ। रविवार रात को 10 बजे नर्मदा के जल स्तर ने खतरे के निशान 163.980 को पार किया था। करीब 112 घंटे बाद शुक्रवार दोपहर दो बजे नर्मदा का जल स्तर खतरे के निशान से नीचे आया है। इस दौरान जल स्तर 163.900 दर्ज किया गया। खतरे के निशान से उतरने के बाद पुल से आवागन शुरू करने की संभावना जताई जा रही थी लेकिन अभी भी पुल पर वाहनों का आवागमन शुरू नहीं किया गया है।

एसडीएम मिलिंद ढोके ने बताया जल स्तर खतरे के निशान से कम हुआ है लेकिन रात में फिर से पानी छोड़ने की संभावनाओं को देखते हुए अभी पुल पर आवागमन शुरू नहीं किया जा रहा है। स्थिति रही तो संभवतः शनिवार से यातायात पुल से शुरू कर दिया जाएगा। पीडब्ल्यूडी इंजीनियर एससी दफ्तरी ने बताया शुक्रवार दोपहर 12 बजे पुल का निरीक्षण किया था। पुल से आवागमन शुरू किया जा सकता है लेकिन पहले छोटे व हल्के वाहनों को निकलने दिया जाएगा। उसके बाद बड़े वाहनों को निकाला जा सकता है। केंद्रीय जल आयोग से प्राप्त जानकारी के अनुसार सुबह 8 बजे जल स्तर 166.100 दर्ज किया था। शाम 6 बजे करीब 163.800 दर्ज किया है। ओंकारेश्वर डेम के 18 गेट खोले हैं। शाम तक 20000 क्यूमेक्स पानी छोड़ा गया है।

शाम 6 बजे : 163.800 मीटर दर्ज किया जलस्तर

बारिश के दौरान पुल के पास हुए गड्ढे में खड़ा होकर दिखाता व्यक्ति।

पुल के आगे हुआ बड़ा गड्‌ढा, सूचना पर भरा

लगातार बारिश के बाद से पुल बंद है लेकिन पुल के पहले एक बड़ा है। जो पूरा पानी से भरा है। ऐसे में हादसों की आशंका जताई जा रही है। गड्ढे में गड़बड़ तिवारी ने खड़े होकर देखा तो करीब एक हाथ से अधिक गहरा है। उन्होंने बताया आवागमन शुरू होने पर वाहन इस गड्ढे से दुर्घटनाग्रस्त हो सकते हैं। इसकी सूचना अफसरों को मिलने पर उन्होंने गड्ढों को मुरुम व पत्थर ये भरा।

इधर... खतरे के निशान तक पहुंचने के बाद घटा नर्मादा जलस्तर, 5वें दिन भी घाट डूब रहे

भास्कर संवाददाता | महेश्वर

शुक्रवार सुबह खतरे के निशान 147 मीटर तक पहुंचने के बाद शाम को नर्मदा नदी का जलस्तर करीब आधा मीटर घट गया। ओंकारेश्वर बांध से लगातार पानी छोड़ने के कारण लगातार 5वें दिन भी नर्मदा के सभी घाट डूब रहे और सुरक्षा की दृष्टि से अहिल्या घाट के गेट को बंद रखा गया। शाम को जलस्तर कम होने के बाद घाट किनारे नर्मदा मंदिर खुल गया। गणपति मंदिर क्षेत्र से भी पानी कम हो गया। नर्मदा नदी के बीच स्थित बाणेश्वर शिवालय से भी जलस्तर लगभग 10 फीट नीचे है। नाविकों ने अपनी नौकाओं को मुख्य घाट के पास नर्मदा मंदिर से गणपति मंदिर के बीच सुरक्षित बांधा। पहाड़ी क्षेत्र में बारिश से माहेश्वरी नदी में बाढ़ आई। माहेश्वरी नदी व नर्मदा नदी के पानी से विक्रम खेल प्रशाल के पीछे जलस्तर बढ़ा। थाना प्रभारी हाकमसिंह पवार ने पुलिस बल के साथ नर्मदा घाट का निरीक्षण कर श्रद्धालुओं व पर्यटकों को दूर रहने की हिदायत दी।

आधा मीटर कमी आने से नर्मदा मंदिर खुल गया। घाट डूबे रहे।

Badwah News - mp news narmada falls below danger mark after 112 hours water likely to rise again bridge closed on 6th day
X
Badwah News - mp news narmada falls below danger mark after 112 hours water likely to rise again bridge closed on 6th day
Badwah News - mp news narmada falls below danger mark after 112 hours water likely to rise again bridge closed on 6th day
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना