विज्ञापन

धर्म... आत्मिक सुख स्थायी होता है- पं. आर्य

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 04:36 AM IST

Khargon News - धर्म... आत्मिक सुख स्थायी होता है- पं. आर्य सनावद | भौतिक सुख हमेशा अस्थाई व क्षणभंगुर होते हैं। उसकी प्यास कभी...

Sanavad News - mp news religion spiritual happiness is permanent pt arya
  • comment
धर्म... आत्मिक सुख स्थायी होता है- पं. आर्य

सनावद | भौतिक सुख हमेशा अस्थाई व क्षणभंगुर होते हैं। उसकी प्यास कभी नहीं बुझती। हमें आत्मिक सुखों के लिए कार्य करना चाहिए। आत्मिक सुख सद्मार्ग पर चलकर परोपकार, सेवा व पुण्य कार्य करने से मिलता है। ऐसे सुख स्थाई होते हैं। पं. प्रकाश आर्य ने श्रीमद‌् भागवत वेद कथा के चौथे दिन यह बात कही। उन्होंने वेद आधारित मानव जीवन को सुखमय बनाकर जीवन के उद्देश्य को पूर्ण करने की विधियां बताई। परमात्मा व प्रकृति अनुरूप जीवन की व्याख्या करते हुए धर्म को संविधान की तरह अपनाने की बात कही। महेश आर्य, राघोराम आर्य, कमल पटेल, जेटी बिरले, किशोरीलाल पटेल, अनिल चौधरी, सोहन चाचरिया, तिलोक पाटिल, रेवाराम पाटिल, राम साद, संजय आर्य आदि मौजूद थे।

X
Sanavad News - mp news religion spiritual happiness is permanent pt arya
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन