--Advertisement--

जल सरंक्षण हेतु गोनी नदी का किया पूजन, कलश यात्रा भी निकाली

भास्कर संवाददाता | खातेगांव हनुमान जन्म उत्सव को अनूठे तरह से मनाने के लिए ग्राम दीपगांव व रिजगांव के ग्रामीणों...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 03:15 AM IST
भास्कर संवाददाता | खातेगांव

हनुमान जन्म उत्सव को अनूठे तरह से मनाने के लिए ग्राम दीपगांव व रिजगांव के ग्रामीणों ने ग्राम विकास प्रस्फुटन समिति के माध्यम से जल संरक्षण का संकल्प लिया। इस अवसर पर ग्राम दीपगांव और रिजगांव दोनों गांव की महिलाओं और पुरूषों द्वारा कलश यात्रा के रूप में दोनों गांव के बीच गोनी नदी पर एकत्रित होकर नदी का पूजन किया। कलशयात्रा के स्वरूप में ग्रामीण नदी तट पर पहुंचे। यहां पहुंच कर महिलाओं ने नदी का पूजन किया। गोनी नदी नर्मदा की सहायक नहीं है तथा नर्मदा पुराण में गोनी नदी का उल्लेख भी आता है। नदी के पूजन के पश्चात नदी तट पर श्रमदान एवं जल संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें मप्र जन अभियान परिषद के विकासखंड समन्वयक प्रफुल्ल पाठक द्वारा ‘जल संरक्षण में समाज की भूमिका’ विषय पर संबोधित किया। मुख्य अतिथि आदर्श ग्राम बछखाल के सरपंच प्रतिनिधि लक्ष्मीनारायण गोरा ने ग्रामीणों को गाय, नदी और वृक्षों के महत्व बताया। इस दौरान ग्राम पंचायत दीपगांव के सरपंच प्रतिनिधि गुलाबसिंह पटेल, भूपेंद्र पंवार, रामजीवन पटेल, जीवनसिंह मीणा एवं मेंटर्स संगीता शर्मा, तेज गीरी विशेष रूप से उपस्थित थे। संचालन ओपी शर्मा द्वारा किया गया। आभार प्रस्फुटन समिति के रामहेत पंवार ने किया।

कन्याभोज व भंडारा हुआ

नेवरी | नेवरी में हनुमान जन्मोत्सव पर कन्या भोजन एवं भंडारा हुआ। इसमें बड़ी संख्या में भक्तों एवं कन्याओं ने प्रसाद ग्रहण किया। सुबह से हनुमानजी के मंदिरों में भक्तों का तांता लगा रहा। चने व गुड़ का प्रसाद चढ़ाकर श्रद्धालुओं ने संकटमोचन के मंदिर में पूजन-अर्चन किया।

खातेगांव। नदी पूजन के बाद सभी ने किया श्रमदान।