Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »Kolar Bhaskar» Real Lifes Funsk Wangdoo, Made Machine Making Drone Part

ये हैं रियल लाइफ के फुंसुक वांगडू, ड्रोन के पार्ट खरीदने के नहीं थे पैसे तो खुद बना ली मशीन

शहर के 21 साल के स्टूडेंट विकास ने अनूठा काम करके दिखाया। उन्होंने ड्रोन के पार्ट्स बनाने वाली मशीन खुद तैयार कर ली।

Bhaskar News | Last Modified - Feb 27, 2018, 07:42 AM IST

  • ये हैं रियल लाइफ के फुंसुक वांगडू, ड्रोन के पार्ट खरीदने के नहीं थे पैसे तो खुद बना ली मशीन
    +2और स्लाइड देखें
    विकास बीई इलेक्ट्रॉनिक एंड कम्युनिकेशन के लास्ट ईयर के स्टूडेंट हैं।

    सागर (भोपाल). शहर के 21 साल के स्टूडेंट विकास ने अनूठा काम करके दिखाया। उन्होंने ड्रोन के पार्ट्स बनाने वाली मशीन खुद तैयार कर ली। उन्होंने एक ऐसी मशीन तैयार की है जो कई तरह की मशीन के पार्ट्स तैयार कर सकती है। दरअसल, विकास ने एक ड्रोन बनाया था। लेकिन तकनीकी खराबी की वजह से वो ज्यादा दिन चल नहीं सका और खराब हो गया। विकास के पास ड्रोन को ठीक कराने के लिए रुपए नहीं थे जिस वजह से उसने इस मशीन को घर पर ही बना लिया। उनकी मशीन कई तरह के पार्ट्स तैयार कर सकती है। अब चाहे ड्रोन की आर्म हो, प्रिंटर्स के गियर, पुली, मोबाइल केसिंग हो या फिर गिफ्ट आइटम। जिद से हासिल की राह...

    - विकास ने यह सब अपनी जिद और लगन से करके दिखाया है। बीई इलेक्ट्रॉनिक एंड कम्युनिकेशन के लास्ट ईयर के स्टूडेंट हैं। विकास के मुताबिक उन्हें कक्षा-7वीं से ही मशीनों में इंटरेस्ट था।

    - ड्रोन के लिए जब पार्ट खरीदने गया तो पता लगा कि छोटे-छोटे से कलपुर्जे बहुत महंगे आते हैं। तय किया कि यह जरूरी सामग्री खुद बनाकर इन्हें सस्ते दामों में सबको उपलब्ध कराऊंगा।

    3 हजार में लेपटॉप लिया और सुधारकर गॉड मशीन से जोड़ लिया

    -3 हजार रुपए में पुराना लेपटॉप लिया और खुद सुधारा। एक मशीन बनाकर नाम दिया गॉड मशीन।

    - लैपटॉप में पुर्जे की डिजाइन बनाने के बाद मशीन से आउटपुट मिल जाता है। नए इक्यूपमेंट, पार्ट्स के बारे में गूगल से समझकर हूबहू वैसा ही प्लास्टिक से बना लेते हैं।

    काम को पहचान भी मिली

    - मई में तिरुपति में होने जा रही इंटरनेशनल यंग साइंटिस्ट कांग्रेस के लिए विकास का पेपर चुना गया है। इसके अलावा कई एग्जीबिशन में अवार्ड और सर्टिफिकेट्स भी उन्हें मिल चुके हैं।

  • ये हैं रियल लाइफ के फुंसुक वांगडू, ड्रोन के पार्ट खरीदने के नहीं थे पैसे तो खुद बना ली मशीन
    +2और स्लाइड देखें
    विकास जब ड्रोन के लिए पार्ट खरीदने गया तो पता लगा कि छोटे-छोटे से कलपुर्जे बहुत महंगे आते हैं। तय किया कि यह जरूरी सामग्री खुद बनाकर इन्हें सस्ते दामों में सबको उपलब्ध किया जाए।
  • ये हैं रियल लाइफ के फुंसुक वांगडू, ड्रोन के पार्ट खरीदने के नहीं थे पैसे तो खुद बना ली मशीन
    +2और स्लाइड देखें
    इस मशीन से कई तरह की मशीनों के पार्टस बनाए जा सकते हैं।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kolar Bhaskar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×