Hindi News »Madhya Pradesh »Kukshi» महिलाओं को रोजगार दिलाने के लिए गांव- गांव जाकर दे रहे नि:शुल्क प्रशिक्षण

महिलाओं को रोजगार दिलाने के लिए गांव- गांव जाकर दे रहे नि:शुल्क प्रशिक्षण

महिलाओं को रोजगार दिलाकर स्वावलंबी बनाने के लिए श्री आईजी स्वरोजगार एवं प्रशिक्षण संस्थान द्वारा गांव- गांव जाकर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 10, 2018, 03:55 AM IST

महिलाओं को रोजगार दिलाने के लिए गांव- गांव जाकर दे रहे नि:शुल्क प्रशिक्षण
महिलाओं को रोजगार दिलाकर स्वावलंबी बनाने के लिए श्री आईजी स्वरोजगार एवं प्रशिक्षण संस्थान द्वारा गांव- गांव जाकर नि:शुल्क प्रशिक्षण दिया जा रहा है। ग्राम कोणदा में भी संस्थान द्वारा शुक्रवार को महिलाओं को सिलाई प्रशिक्षण दिया गया। जिसके तहत प्लास्टिक के उपयोग को कम करके उसके विकल्प तैयार करने हेतु कपड़े के बैग निर्माण करने का प्रशिक्षण संस्थान की ओर से विजय भायल कुक्षी और अनिल शिंदे कोणदा द्वारा दिया गया। युवराज सेप्टा और विक्रम चोयल ने बताया कि थैली निर्माण कर 150 से 200 रुपए तक प्रति दिवस एक महिला कमाई कर सकती है। प्रशिक्षित और सिलाई की इच्छुक महिलाओं को थैली निर्माण हेतु कच्चा माल भी उपलब्ध कराया जाएगा।

हीरालाल हम्मड कापसी और जितेंद्र शिंदे कोणदा ने बताया कि पूरे वर्षभर तोरण निर्माण, ज्वेलरी निर्माण, गृह सज्जा सामग्री निर्माण का भी प्रशिक्षण दिया गया। आगामी दिनों में रक्षाबंधन को लेकर राखी निर्माण का प्रशिक्षण देकर कच्चा माल संस्थान द्वारा उपलब्ध कराया जा रहा है और निर्मित राखियों को बाजार मूल्य से कम दामों में ग्रामीण क्षेत्र में उपलब्ध कराया जाएगा।

कपड़े के बैग निर्माण करने का प्रशिक्षण दिया

एक साल में 335 महिलाओं को स्वरोजगार दिलाया

कैलाश सोलंकी कोणदा और हरीश मुकाती फतयापुर ने बताया कि संस्थान का शुभारंभ 1 जून 2017 से हुआ था। मात्र एक वर्ष में 335 महिलाओं को प्रशिक्षित कर स्वरोजगार उपलब्ध कराया गया। जितेंद्र शिंदे ओर हरीश मुलेवा बेंगलोर ने बताया कि आगामी दिनों में संस्थान द्वारा विभिन्न कार्यो में रुचिनुरूप महिलाओं को चिह्नांकित कर प्रशिक्षण देकर रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा। संस्थान को मोहन बरफा, कोणदा अशोक राठौर मंडवाड़ा, बाबूलाल पवार राजगढ़, योगेश परमार बालकुआ,अनिल गहलोत का सहयोग मिल रहा है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kukshi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×