कुक्षी

--Advertisement--

कलश यात्रा के साथ नौ दिनी श्रीराम कथा शुरू

श्रीराम कथा भक्ति और मुक्ति दोनों ही प्रदान करने वाली है। सकाम और निष्काम आराधना करने से मानव अपने कल्याण को...

Dainik Bhaskar

May 02, 2018, 03:55 AM IST
कलश यात्रा के साथ नौ दिनी श्रीराम कथा शुरू
श्रीराम कथा भक्ति और मुक्ति दोनों ही प्रदान करने वाली है। सकाम और निष्काम आराधना करने से मानव अपने कल्याण को प्राप्त करता है। जीवन के कल्याण का मूल आधार ही श्रीराम कथा है। हमारे पौराणिक कथाओं में एकमात्र रावण ही है जिसको प्रतिवर्ष हम जलाते है। इसका यह कारण है कि रावण सत्य का सामना नहीं कर सकता है उसको केवल दूसरों के ही दोष नजर आते है। वह सीताजी का हरण चोरों की भांति करता है इतना होने पर भी वह अपने आप को राजा कहता था। आज यही प्रवृत्ति मानव के अंदर भी है। यह बात नगर के सुतार मोहल्ले में संकटमोचन हनुमान मंदिर समिति द्वारा सोमवार से आयोजित रात्रिकालीन श्रीराम कथा के शुभारंभ पर पंडित संजयकृष्ण त्रिवेदी कांटाफोड़ (देवास) ने श्रद्धालुओं से कही।

कथा महोत्सव के अंतर्गत सोमवार शाम को नगर के आईमाताजी मंदिर से कथास्थल सुतार मोहल्ले तक नगर के प्रमुख मार्गों से मंगल कलश यात्रा निकाली गई। कलश यात्रा में महिलाएं एवं बालिकाएं बड़ी संख्या में सिर पर कलश धारण कर शामिल हुई। ढोल एवं बैंडबाजे की धुन पर बालिकाओं एवं महिलाओं ने नृत्य भी किया। कलश यात्रा में महंत अयोध्यादासजी कोटेश्वर धाम एवं संत मंडल सुसज्जित रथ पर सवार होकर चले। कलश यात्रा एवं संतों का नगर में जगह-जगह पुष्पवर्षा से स्वागत किया।

आयोजन समिति के सदस्यों व कथा के मुख्य यजमान बाबूलाल नैनाजी सोलंकी ने संतों का पूजन किया। कथा के पहले दिन श्रीराम चरितमानस का महात्म्य समझाते हुए पं. त्रिवेदी ने कहा श्रीराम कथा मनोरंजन का नहीं बल्कि आत्म रंजन का साधन है। आधुनिक युग में ईश्वरीय आराधना से परे हटकर युवा वर्ग दुनिया की इस चकाचौंध में अपने धर्म, संस्कृति एवं संस्कारों को भूलता जा रहा है। वैदिक पुराणों व धार्मिक अनुष्ठानों को भूलकर दिन प्रतिदिन मोहमाया के महासागर में डूबता जा रहा है। नौ दिवसीय श्रीराम कथा का आयोजन रात 8 से 11 बजे तक किया जा रहा है। सोमवार की महाआरती एवं महाप्रसादी के लाभार्थी महेशचंद गुप्ता रहे। बड़ी संख्या में श्रद्धालु कथा सुनने पहुंच रहे है।

नगर के सुतार मोहल्ले में संकटमोचन हनुमान मंदिर समिति ने रात्रिकालीन कथा का किया आयोजन

कुक्षी. श्रीराम कथा के शुभारंभ पर कलश यात्रा निकाली।

X
कलश यात्रा के साथ नौ दिनी श्रीराम कथा शुरू
Click to listen..