Hindi News »Madhya Pradesh »Kukshi» विश्व शांति के उद्देश्य से भारत भ्रमण पर रथ यात्रा

विश्व शांति के उद्देश्य से भारत भ्रमण पर रथ यात्रा

विश्व शांति रथ यात्रा के मंगलवार को नगर आगमन पर कुक्षी जैन श्री संघ के तत्वावधान में सकल जैन समाज द्वारा रथ की...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 09, 2018, 04:00 AM IST

  • विश्व शांति के उद्देश्य से भारत भ्रमण पर रथ यात्रा
    +1और स्लाइड देखें
    विश्व शांति रथ यात्रा के मंगलवार को नगर आगमन पर कुक्षी जैन श्री संघ के तत्वावधान में सकल जैन समाज द्वारा रथ की अगवानी की गई। समाजजन ने रथ में विराजमान प्रभु पार्श्वनाथ की दिव्य प्रतिमा के दर्शन वंदन किए। दिव्य स्वर्ण कलश के सम्मुख वासक्षेप पूजा की व 12 नवकार का जाप कर मंगल कामना की। विश्व शांति रथ यात्रा के साथ चल रहे सागर छाजेड़ एवं संगम छाजेड़ ने बताया कि वासक्षेप से परिपूर्ण दिव्य स्वर्ण कलश 108 पार्श्वनाथ तीर्थ, 120 जन्म कल्याणक भूमि, 100 से अधिक आचार्य भगवंत, 3000 साधु-साध्वियों द्वारा पूजित किया गया है। विश्व शांति रथ यात्रा विश्व में शांति की सकारात्मक तरंगों को घर-घर फैलाने, सर्वधर्म समभाव रहे के उद्देश्य से भारत भ्रमण कर रही है।

    भगवान महावीर के सिद्धांत को लेकर यात्रा भारत भ्रमण पर 5 मार्च से निकली है 11 राज्यों के 280 शहरों में 380 दिन मार्ग भ्रमण कर फरवरी 2019 को वापस कृष्णागिरि तीर्थ धाम (तमिलनाडु) पहुंचेगी। कृष्णागिरि तीर्थ धाम में 3 फरवरी से 11 फरवरी 19 तक विश्व शांति उत्सव का महाआयोजन किया जाएगा। आचार्य देवेश श्रीमद प्रेमसूरिश्वर के शिष्य र| कृष्णगिरी शक्तिपीठाधिपति शांतिदूत राष्ट्रसंत विद्यासागर यतीवर्य डा. श्री वसंतविजय महाराज साहब के मार्गदर्शन व प्रेरणा से कृष्णागिरि तीर्थ धाम पर विश्व के प्रथम 421 फीट ऊंचे सर्वोच्च शिखर वाले अद्भुत भव्य मंदिर की अभूतपूर्व प्रतिष्ठा होगी। जिसमें 47 फूट का भव्य समवसरण, 31 फीट ऊंचे अशोक वृक्ष के नीचे 23-23 फीट की भव्यतम प्रभु पार्श्वनाथ की चंहुमुखी नयनाकर्षित प्रतिमाएं विराजमान होंगी। कुक्षी नगर में आई विश्व शांति रथ में विराजमान प्रभु पार्श्वनाथ की दिव्य प्रतिमा के दर्शन वंदन के लिए रथ दिनभर नगर के रम्पी डम्पी एकेडमी के स्कूल के प्रांगण में मौजूद रहा। जहां समाजजन का दर्शन वंदन के लिए दिन भर आना जाना लगा रहा। नगर में चातुर्मास हेतु विराजमान साध्वियों ने भी प्रभु पार्श्वनाथ की दिव्य प्रतिमा के दर्शन वंदन किए। समाजजन द्वारा रथ में विराजमान प्रभु पार्श्वनाथ की संध्या आरती की गई। आरती का का लाभ विशाल जैन (नाकोड़ा प्लायवुड व मगनलाल जी बोंदर जी परिवार वालों ने लिया।संध्या आरती के पश्चात रथ तालनपुर तीर्थ की ओर प्रस्थान कर गया। समाजजन ने इसके नगर आगमन पर कृष्णगिरी धाम पीठाधिपति यतिवर्य डॉ. वसंतविजयजी के प्रति आभार व्यक्त किया और कहा गुरुदेव के विश्व शांति के प्रयासों की हम सब अनुमोदना करते हैं।

    5 मार्च से निकला है रथ, 11 राज्यों के 280 शहरों में भ्रमण कर फरवरी 2019 को वापस कृष्णागिरि पहुंचेगा

    कुक्षी. रथ यात्रा में विराजित प्रभु पार्श्वनाथ की प्रतिमा के समाजजनों ने दर्शन किए।

  • विश्व शांति के उद्देश्य से भारत भ्रमण पर रथ यात्रा
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kukshi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×