मनासा

--Advertisement--

विवि की वार्षिक परीक्षाएं 6 से होंगी, संशय बरकरार

विक्रम यूनिवर्सिटी को वार्षिक परीक्षा कार्यक्रम मार्च के अंतिम सप्ताह से बढ़ाकर 6 अप्रैल करना पड़ा है। हालांकि इसी...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 03:00 AM IST
विक्रम यूनिवर्सिटी को वार्षिक परीक्षा कार्यक्रम मार्च के अंतिम सप्ताह से बढ़ाकर 6 अप्रैल करना पड़ा है। हालांकि इसी दिन से पेपर शुरू हो सकेंगे या नहीं, इस पर संशय है। जिले के 8 शासकीय कॉलेजों से 6000 विद्यार्थी परीक्षा कार्यक्रम में शामिल होंगे। यूनिवर्सिटी के कर्मचारियों के मांगों को लेकर लंबे समय से हड़ताल पर रहने से परीक्षा विभाग संबंधी कामों पर भी असर आया है। यही कारण था कि टाइम टेबल को मार्च से बढ़ाकर 6 अप्रैल करना पड़ा है। 8 साल के बाद पुन: वार्षिक पैटर्न पर परीक्षाएं कराई जाना हैं।

शिक्षण सत्र 2017-18 की वार्षिक परीक्षा में पीजी कॉलेज, गर्ल्स कॉलेज, मनासा, रामपुरा, सिंगोली, जावद, जैसे काॅलेजों में दर्ज 6000 छात्र-छात्राएं परीक्षा कार्यक्रम में शामिल होंगे। इसके अलावा एटीकेटी, एक्स स्टूडेंट, प्राइवेट विद्यार्थियों की संख्या 1500 तक रहने के आसार हैं। यूनिवर्सिटी ने डेढ़ माह पहले मार्च के प्रथम सप्ताह को लेकर परीक्षा कार्यक्रम प्रस्तावित किया था। इसके बाद कर्मचारी हड़ताल पर जाने से मार्च अंत में परीक्षा का प्लान बना। इसके बाद 6 अप्रैल तक परीक्षा बढ़ा दी गई। लेटलतीफी के बीच उत्तरपुस्तिकाओं की जांच से लेकर रिजल्ट जारी करने तक पर असर आएगा। यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार डॉ. परीक्षित सिंह का कहना है कि फिलहाल परीक्षा कार्यक्रम 6 अप्रैल का बनाया है, हड़ताल के कारण काम पर असर आता है।

अगर परीक्षा कार्यक्रम में किसी तरह का बदलाव करना होगा तो पुन: सूचना जारी करेंगे। वैसे छात्र-छात्राओं को सभी विषयों का अध्ययन करते रहना चाहिए ताकि परीक्षा संबंधी तैयारियां पूरी रहें। अगले दिनों में जब कभी निर्णय लेना जरूरी हुआ तो सूचना जारी करेंगे। हालांकि कॉलेज प्रशासन द्वारा अपने स्तर पर वार्षिक परीक्षा की तैयारियां शुरू कर दी है। उधर, विद्यार्थी भी परीक्षा की तैयारी में जुट गए हैं।

सेमेस्टर परीक्षा के आवेदन की अवधि बढ़ने के आसार

साइंस, आर्ट्स, कॉमर्स समेत सेल्फ फाइनेंस काेर्स में स्नातक के चौथे और छठे सेमेस्टर और स्नातकोत्तर में दूसरे, चौथे सेमेस्टर के परीक्षा आवेदन मार्च अंत तक हुए। यूनिवर्सिटी एक बार फिर से अवधि में विस्तार करने जा रही है। मकसद यही है कि बचे छात्र-छात्राएं भी आवेदन कर परीक्षा कार्यक्रम में शामिल हो पाएं। इन विद्यार्थियों की परीक्षा 20 से 25 अप्रैल से कराई जाने के आसार बन रहे हैं।

X
Click to listen..