• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Manasa
  • व्यापारी की गिरफ्तारी के विरोध में रैली निकालकर सौंपा ज्ञापन
--Advertisement--

व्यापारी की गिरफ्तारी के विरोध में रैली निकालकर सौंपा ज्ञापन

तहसील क्षेत्र के अल्हेड़ निवासी विनोद पाटीदार ने सूदखोरों की प्रताड़ना से परेशान होकर 10 जनवरी को खेत पर जहरीला...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 04:55 AM IST
तहसील क्षेत्र के अल्हेड़ निवासी विनोद पाटीदार ने सूदखोरों की प्रताड़ना से परेशान होकर 10 जनवरी को खेत पर जहरीला पदार्थ खा लिया था। उसकी 12 जनवरी को अहमदाबाद ले जाते समय मौत हो गई थी। विनोद ने आत्महत्या से पहले मोबाइल पर वीडियो बनाया था। उसमें पांच लोगों को जिम्मेदार बनाया था। जिन पर पुलिस ने कार्रवाई कर उसकी तलाश शुरू की। दो सूदखोरों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। बाकी तीन की तलाश जारी है।

मंगलवार को इस मामले में नया मोड़ तब आ गया जब पुलिस ने नगर के व्यापारी संतोष झंवर को गिरफ्तार कर धारा 306 की कार्रवाई की। कोर्ट में पेश किया जहां से जेल भेज दिया। रात को नगर के सभी व्यापारी एकत्र होकर थाने पर पहुंचे और गिरफ्तारी का विरोध किया। 11 बजे थाने पर पुलिस अधिकारियों से चर्चा की तथा बुधवार सुबह ज्ञापन देने का निर्णय लिया। बद्रीविशाल मंदिर पर नगर के सभी व्यापारी एकत्र हुए। रैली निकालकर ज्ञापन देने एसडीएम कार्यालय पहुंचे। वहां व्यापारियों ने एसडीएम पीएल देवड़ा को दिए ज्ञापन में कहा कि संतोष झंवर गैस एजेंसी का संचालन करते हैं। उनका रुपए लेनदेन का कारोबार नहीं है। इसके बावजूद पुलिस ने युवक की आत्महत्या मामले से उन्हें जोड़कर डेढ़ महीने बाद गिरफ्तारी की। व्यापारी संघ ने इसकी उच्च स्तरीय जांच करवाकर झंवर पर लगाई धारा 306 को हटाकर जेल से रिहा करने की मांग की। एसडीएम ने व्यापारियों को उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया। सराफा व्यापारी संघ अध्यक्ष महेंद्र सोनी, मंडी व्यापारी संघ अध्यक्ष आशिष सारडा, परशुराम सेना अध्यक्ष ललित ओझा, इंदरमल पामेचा, विजय पामेचा, मदन झंवर सहित व्यापारी मौजूद थे।

नगर के व्यापारियों ने रैली निकालकर एसडीएम पीएल देवड़ा को सौंपा ज्ञापन।

आंदोलन की दी चेतावनी

व्यापारी संघ अध्यक्ष अनिल मूंदड़ा ने कहा कि पुलिस प्रशासन इस मामले की जांच कर सत्यता जनता के सामने लाए। 24 घंटे में उचित कार्रवाई नहीं होने पर व्यापारियों ने आंदोलन की चेतावनी दी। बताया पुलिस प्रशासन को इस मामले में जांच करने और सत्य सामने लाने के लिए मौखिक तौर पर 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया गया है। प्रभारी टीआई किशोर पाटनवाला ने बताया कि इस मामले में जांच चल रही है। इसमें जो सच्चाई सामने आएगी उसी आधार पर कार्रवाई करेंगे।