• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Mandsour
  • टीम ने अस्पताल, स्कूल, शौचालय, फैक्टरी का किया निरीक्षण, मिला सकारात्मक फीडबैक
--Advertisement--

टीम ने अस्पताल, स्कूल, शौचालय, फैक्टरी का किया निरीक्षण, मिला सकारात्मक फीडबैक

Mandsour News - स्वच्छ सर्वेक्षण 2018 के लिए गुरुवार सुबह से शहर में घूमी। सफाई व्यवस्था देख लोगों से चर्चा भी की। माथुर कॉलोनी में...

Dainik Bhaskar

Mar 02, 2018, 04:00 AM IST
टीम ने अस्पताल, स्कूल, शौचालय, फैक्टरी का किया निरीक्षण, मिला सकारात्मक फीडबैक
स्वच्छ सर्वेक्षण 2018 के लिए गुरुवार सुबह से शहर में घूमी। सफाई व्यवस्था देख लोगों से चर्चा भी की। माथुर कॉलोनी में रहवासियों से पूछा कि कब से निवास कर रहे हैं, कचरा एक ही डिब्बे में डाल रहे या अलग-अलग। कचरा गाड़ी रोज आती है या नहीं। लोगों ने नपा की व्यवस्था पर संतोषजनक जवाब दिए। टीम को कहीं नकारात्मक प्रतिक्रिया नहीं मिली। इसके अतिरिक्त टीम ने गुरुवार को राजाराम फैक्टरी, निजी अस्पताल, स्कूलों की सफाई व्यवस्था, कॉलोनियों के सुलभ कॉम्प्लेक्स सहित पूरे शहर का जायजा लिया। शाम होने से सर्वे पूरा नहीं हो सका। टीम 3 मार्च को भी शहर में भ्रमण करेगी।

स्वच्छ सर्वेक्षण 2018 गुरुवार शाम को पूरा हुआ। चार दिन चले सर्वे में टीम ने नपा के दस्तावेज देखे, शहर में गोपनीय तरह से लोगों से फीडबैक लिया व गुरुवार को शहर का भ्रमण कर सफाई व्यवस्था की हकीकत जांची। सुबह माथुर कॉलोनी निवासी इंद्रा सिसौदिया से चर्चा की। उनके आधार कार्ड की कॉपी दिल्ली भेजी। इसके बाद उनसे सफाई व्यवस्था के बारे में कई सवाल किए। इंद्रा ने बताया कि गीला व सूखा कचरा अलग रखते हैं व अलग-अलग ही डालते हैं। गाड़ी रोज आती है व सफाई व्यवस्था में पहले से बहुत सुधार है। इसी तरह टीम सदस्य ने रवींद्रसिंह जादौन से भी सफाई व्यवस्था के बारे में जानकारी ली। लोगों की सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली।

गुरुवार को अंतिम दिन था लेकिन शाम तक सर्वे पूरा नहीं हो सका, अब कल भी भ्रमण करेगी टीम

फैक्टरी में बना सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट भी देखा

टीम को दिल्ली से शहर के विभिन्न क्षेत्रों के साथ निजी फैक्टरी, निजी अस्पताल, स्कूल व अन्य संस्थानों की भी लोकेशन मिली। राजाराम फैक्टरी में बना सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट देखा। टीम के सदस्य ने फैक्टरी संचालक द्वारा की व्यवस्थाओं के फोटोग्राफ मोबाइल के माध्यम से दिल्ली पहुंचाए। इसके साथ निजी मेवाड़ हॉस्पिटल व पाटीदार अस्पताल की भी लोकेशन दी गई। टीम ने यहां पाई सफाई के फोटो दिल्ली पहुंचाए।

इस तरह की नपा ने व्यवस्था

नपा ने शहर में सफाई व्यवस्था बनाए रखने के लिए दो माह से 40 वार्डों के लिए 40 नोडल अधिकारी नियुक्त किए थे। हर वार्ड में सफाई व्यवस्था के लिए जिम्मेदार बनाया था। वार्ड में काम कराने के लिए एक नोडल को एक दरोगा व करीब सात से पंद्रह कर्मचारी दिए। नोडल पहले समय-समय पर अपने वार्डों का भ्रमण कर सफाई व्यवस्था कराते रहे। स्वच्छ सर्वेक्षण के दौरान सुबह से शाम तक नोडल वार्डों में लगे रहे। कहीं भी कोई कमी दिखाई देने पर तुरंत काम कराया। इसके लिए नपा ने कमला नेहरू स्कूल व नपा कार्यालय में कंट्रोल रूम बनाया जहां से नोडल की मांग पर तुरंत कार्रवाई की जाती।

टीम ने इस तरह शहर का भ्रमण कर लोगों से की चर्चा, स्वच्छता देखी।

हमने पूरे प्रयास किए


शौचालय देखे, उपयोग करने वालों से ली प्रतिक्रिया

टीम ने स्लेट-पेंसिल कॉम्प्लेक्स, ट्रांसपोर्टनगर एवं नाहर सैयद दरगाह के पास झुग्गी-झोपड़ियों में बने शौचालयों की सफाई व्यवस्थाओं का जायजा लिया। ट्रांसपोर्टनगर में नपा द्वारा लगाए अस्थायी शौचालय को भी देखा। इसका उपयोग करने वालेे लोगों से प्रतिक्रिया ली। इसके अतिरिक्त मंगलम विहार, किटियानी, बसेर कॉलोनी, परख कॉलोनी, रेलवे स्टेशन क्षेत्र की सफाई व्यवस्था के फोटो दिल्ली भेजे। टीम ने गुरुवार को महू-नीमच राजमार्ग पर स्थित काबरा पेट्रोल पंप पर यहां के शौचालय व परिसर की सफाई व्यवस्था देखी। नयापुरा के जैन मंदिर में भी स्वच्छता का सर्वे किया।

X
टीम ने अस्पताल, स्कूल, शौचालय, फैक्टरी का किया निरीक्षण, मिला सकारात्मक फीडबैक
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..