प्रहलाद की पुकार सुन खंभा फाड़कर प्रकटे भगवान नृसिंह, हिरण्यकश्यप का किया वध

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 08:31 AM IST

Mandsour News - नृसिंहपुरा स्थित नृसिंह मंदिर में शुक्रवार को शाम 6 बजे अग्रवाल समाज ने भगवान नृसिंह की जयंती मनाई। गेधुलि वेला...

Mandsour News - mp news pralhad39s call to death broke the revelation of god nrusingh hiranyakaship39s slaughter
नृसिंहपुरा स्थित नृसिंह मंदिर में शुक्रवार को शाम 6 बजे अग्रवाल समाज ने भगवान नृसिंह की जयंती मनाई। गेधुलि वेला में मंदिर में शंख, घड़ियाल, घंटियां बजाकर लोगों ने जन्मोत्सव मनाया। इस दौरान भक्त प्रहलाद की पुकार सुन भगवान नृसिंह खंभा फाड़कर प्रकट होते हैं और हिरण्यकश्यप रूपी राक्षस का वध करते हैं। इस सजीव चित्रण का नाटय मंचन देखने के लिए मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। इसके बाद भगवान नृसिंहजी की महाआरती कर प्रसादी का वितरण किया।

भगवान नृसिंह जयंती को लेकर समाज अध्यक्ष नरेंद्रसिंह अग्रवाल ने बताया कि भक्त प्रहलाद की रक्षा करने के लिए भगवान विष्णु ने नृसिंह रूप में अवतार लिया था। इस कारण आज का दिन भगवान नृसिंह जयंती के रूप में मनाया जाता है। कथानुसार अपने भाई की मृत्यु का बदला लेने के लिए राज हिरण्यकश्यप ने कठिन तपस्या करके ब्रह्माजी और शिवजी को प्रसन्न कर उनसे अजेय होने का वरदान प्राप्त कर लिया। वरदान प्राप्त करते ही हिरण्यकश्यप अहंकारवश प्रजा पर अत्याचार करने लगा और उन्हें तरह-तरह की यातनाएं और कष्ट देने लगा। इससे प्रजा अत्यंत दु:खी थी। हिरण्यकश्यप की प|ी कयाधु ने एक पुत्र को जन्म दिया जिसका नाम प्रहलाद रखा। राक्षस कुल में जन्म लेने के बाद भी बचपन से ही श्रीहरि भक्ति से प्रहलाद को गहरा लगाव था। हिरण्यकश्यप ने प्रहलाद का मन भगवत भक्ति से हटाने के लिए कई प्रयास किए लेकिन वह सफल नहीं हो सका। एक बार उसने अपनी बहन होलिका की सहायता से प्रहलाद को अग्नि मेें जलाने का प्रयास किया। प्रहलाद पर भगवान की कृपा होने से उसे मायूसी हाथ लगी। अंततः एक दिन हिरण्यकश्यप ने प्रहलाद को तलवार से मारने का प्रयास किया, भक्त प्रहलाद की पुकार सुन भगवान नृसिंह खंभे से प्रकट होते हैं और हिरण्यकश्यप का वध अपने नाखूनों से कर भक्त प्रहलाद की रक्षा करते हैं। राजमल गर्ग, नंदकिशोर अग्रवाल, संतोष गोयल, शरद बंसल सहित समाजजन मौजूद थे।

खंभा फाड़कर प्रकटे भगवान नृसिंह, नाटय मंचन देखने उमड़े समाजजन।

धुंधड़का में धाकड़ समाज ने निकाली कलशयात्रा।

धाकड़ समाज ने निकाला चल समारोह, किया सम्मान

धुंधड़का |
नृसिंह जयंती पर सुबह से ही मंदिर में हवन-पूजन शुरू हुआ। सुबह 9 बजे हाट मैदान स्थित रामकुंड से कलशयात्रा शुरू हुई जो धमनार रोड पटेल मोहल्ला नई आबादी नृसिंह मंदिर रोड होते हुए दोपहर 12 बजे मंदिर पहुंची। यहां हवन की पूर्णाहुति कर प्रसाद वितरण हुआ। दिनभर आयोजन के बाद शाम को 7 बजे भगवान नृसिंह का प्रकट उत्सव मनाया। यहां महाआरती व प्रसादी वितरण के बाद प्रतिभाओं का सम्मान हुआ। इसमें पं. प्रेमप्रकाश पाराशर ने कहा कि जब-जब संसार में दुराचार बढ़ता है तब भगवान अवतार लेकर उस दुराचारी का अंत करते हैं। पाप कितना भी बढ़ जाए लेकिन धर्म से आगे नहीं निकल सकता। धाकड़ युवा संघ ने समाज के छात्र-छात्राओं एवं परीक्षा में बेहतर परीक्षा परिणाम लाने वाले परीक्षार्थियों का सम्मान किया। पं. कैलाश शर्मा, मोहनलाल मेहता, जगदीश मेहता, युवा इकाई अध्यक्ष राजू बंबोरिया, मंगल मेहता, रमेश मेहता सहित कई समाजजन मौजूद थे।

Mandsour News - mp news pralhad39s call to death broke the revelation of god nrusingh hiranyakaship39s slaughter
X
Mandsour News - mp news pralhad39s call to death broke the revelation of god nrusingh hiranyakaship39s slaughter
Mandsour News - mp news pralhad39s call to death broke the revelation of god nrusingh hiranyakaship39s slaughter
COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543