• Hindi News
  • Mp
  • Mandsour
  • Mandsour News mp news trains to run after electrification till chittorgarh crs mandsaur neemuch will come after 20 october to check the work

चित्तौड़गढ़ तक इलेक्ट्रिफिकेशन के बाद चलेगी ट्रेन, सीआरएस मंदसौर-नीमच का काम जांचने 20 अक्टूबर के बाद आएंगे

Mandsour News - भास्कर संवाददाता | रतलाम/मंदसौर अांबेडकरनगर-रतलाम-नीमच-चित्तौडगढ़ रेल लाइन पर 10 माह बाद ही यात्री ट्रेनें...

Oct 16, 2019, 08:40 AM IST
भास्कर संवाददाता | रतलाम/मंदसौर

अांबेडकरनगर-रतलाम-नीमच-चित्तौडगढ़ रेल लाइन पर 10 माह बाद ही यात्री ट्रेनें इलेक्ट्रिक इंजिन से चल पाएंगी। मंदसौर-नीमच सेक्शन को इलेक्ट्रीफाइड काम पूरा हो गया है। कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी (सीआरएस) 20 अक्टूबर के बाद कभी भी इलेक्ट्रिफिकेशन कार्य को जांचने आ सकते हैं। सीआरएस रतलाम-मंदसौर सेक्शन की जांच कर यात्री ट्रेन चलाने की परमिशन दे चुके हैं। रेल विद्युतीकरण (आरई) मुख्यालय अहमदाबाद ने जून तक चित्तौडगढ़ तक का इलेक्ट्रिफिकेशन पूरा करने का टारगेट दिया, लेकिन मंडल कार्यालय का दावा मार्च तक पूरा करने का है। अप्रैल-मई में सीआरएस निरीक्षण के बाद रेलवे को उम्मीद है कि जून 2020 में इलेक्ट्रिक इंजन से यात्री ट्रेन चलाने की परमिशन मिल जाएगी। जुलाई में मालगाड़ी चलाने के बाद अगस्त तक रेलवे अांबेडकरनगर से चित्तौडगढ़ तक मेमू ट्रेन चला देगा। योजना में 348 किमी लंबे रतलाम-चंदेरिया-कोटा तक का विद्युतीकरण होना है। रतलाम मंडल का 183 किमी, जबकि कोटा का 165 किमी का हिस्सा शामिल हैं।

तब तक टॉयलट वाला रैक आ जाएगा

परमिशन मिलते ही रेलवे सबसे पहले अाम्बेडकरनगर-चित्तौडगढ़ रूट पर मेमू (मेनलाइन इलेक्ट्रिक मल्टीपल यूनिट) ट्रेन चलाएगा। वडोदरा डिवीजन से दो मेमू रैक का अलाटमेंट हो गया है। इसमें से 1 अगस्त में आ गया था लेकिन टॉयलेट की सुविधा नहीं होने से लौट गया। मार्च-अप्रैल टायलेट ब़्लॉक वाले मेमू रैक आ जाएंगे। उधर रेलवे ने डेमू की जगह लेने वाली मेमू ट्रेन चलाने के लिए शेड्यूल बनाना शुरू कर दिया है।

जून 2020 का है लक्ष्य
ट्रांजेक्शन सब स्टेशन (टीएसएस) तैयार

ओएचई (ओवर हेड इलेक्ट्रिक) केबल में बिजली सप्लाई करने वाले जावरा और नीमच के ट्रांजेक्शन सब स्टेशन (टीएसएस) भी तैयार हो चुके हैं। रतलाम से चित्तौडगढ़ तक दौड़ने वाले इलेक्ट्रिक इंजिन को 123 केवी/25केवी के सब स्टेशन से बिजली मिलेगी। बिजली रेलवे मप्र पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी से खरीदेगा। ओएचई के मेंटेनेंस के लिए सेंटर पाइंट नीमच रहेगा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना