• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Mhow News
  • 10 लाख रुपए महीना सफाई का ठेका, फिर भी रेलवे स्टेशन गंदा, अफसर नहीं देते ध्यान
--Advertisement--

10 लाख रुपए महीना सफाई का ठेका, फिर भी रेलवे स्टेशन गंदा, अफसर नहीं देते ध्यान

रेलवे स्टेशन की सफाई का ठेका 10 लाख रुपए महीने पर देने के बावजूद यहां कई जगह कचरे के ढेर लगे हैं। ठेकेदार के कर्मचारी...

Danik Bhaskar | Feb 12, 2018, 04:25 AM IST
रेलवे स्टेशन की सफाई का ठेका 10 लाख रुपए महीने पर देने के बावजूद यहां कई जगह कचरे के ढेर लगे हैं। ठेकेदार के कर्मचारी प्लेटफॉर्म का कचरा पटरी और उसके किनारे बनी नालियों में फेंक देते हैं, जिससे नालियां चोक हो जाती हैं। इसके अलावा कर्मचारी कचरे से भरी पोटलियों को पटरी के किनारे और प्लेटफॉर्म पर फेंक कर चले जाते हैं। स्टेशन पर गंदगी मिलने पर कुछ दिन पहले डीअारएम आरएन सुनकर ने डिप्टी एसएस विक्रांत पांडे को डांट भी लगाई थी, लेकिन हालात नहीं बदले।

पान की पीक से रंग गई पार्सल ऑफिस की दीवार

प्लेटफॉर्म 1 : पार्सल आॅफिस से महू की ओर जाने पर दीवार किनारे गंदगी का ढेर मिला, जबकि पास में ही सफाईकर्मियों का कमरा है। यहीं से सफाई का काम किया जाता है।

हम पूरे दिन सफाई करते हैं

सेंगर सिक्युरिटी एंड लेबर सर्विसेस के इंचार्ज विनीत भदौरिया ने कहा-सभी हिस्सों में पूरे दिन सफाई की जाती है।

प्लेटफॉर्म पर ही कचरा छोड़ जाते हैं कर्मचारी

प्लेटफॉर्म 2 और 3 : शास्त्री ब्रिज की ओर बने पाथ ओवर ब्रिज की सीढ़ियों के नीचे रेलवे कर्मियों के लिए कमरा है। यहां पर भी कचरे का ढेर था।

जबकि रोज होता है अनाउंस

गंदगी या कचरा मिलने पर 50 से 500 रुपए तक जुर्माना लगाने का अनाउंसमेंट भी रोज बीच-बीच में किया जाता है।

शौचालय ऐसे कि मुंह पर रुमाल भी काम नहीं आता

प्लेटफॉर्म 4 : यहां पहले बने एक रेस्टोरेंट के शौचालय इतने गंदे हैं कि आप मुंह पर रुमाल रखकर भी खड़े नहीं रह सकते। यहां शराब की बोतलें भी पड़ी हुई मिलीं।

दिल्ली के अफसरों से सबक लें यहां के अधिकारी

डीआरएम ने दौरा कर कहा था सफाई कर फोटो भेजो

प्लेटफॉर्म 5 और 6 : एस्केलेटर के नीचे कचरे का ढेर है। निरीक्षण पर आए डीआरएम ने इसी परिसर में गंदगी देख सफाई करवाकर उसका फोटो भी भेजने को कहा था।