Hindi News »Madhya Pradesh »Mhow» हेरिटेज टूरिज्म के लिए पांच मीटरगेज ट्रैक सहेजेगी रेलवे

हेरिटेज टूरिज्म के लिए पांच मीटरगेज ट्रैक सहेजेगी रेलवे

दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे से प्रेरित है प्रोजेक्ट हेरिटेज टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए भारतीय रेलवे पांच...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 09, 2018, 05:30 AM IST

हेरिटेज टूरिज्म के लिए पांच मीटरगेज ट्रैक सहेजेगी रेलवे
दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे से प्रेरित है प्रोजेक्ट

हेरिटेज टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए भारतीय रेलवे पांच पुरानी मीटरगेज लाइनों को सहेजेगी। ये सभी लाइनें ब्रिटिश शासनकाल के दौरान बनाई गई थीं। रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्वनी लोहानी रेल के हेरिटेज स्ट्रक्चर को बढ़ावा देने के लिए मीटरगेज लाइनों को संरक्षित करने पर जोर दे रहे हैं। इनमें से चार लाइनें चालू हालत में हैं। असम में स्थित एक लाइन पर अभी परिचालन बंद है।

महू-पातालपानी-कालाकुंड

किमी

मध्यप्रदेश

विसवदार-तलाला

गुजरात

किमी

ननपुर-मैलानी

उत्तर प्रदेश

किमी

162 किमी- मावली जंक्शन मारवाड़ जंक्शन- राजस्थान

असम की माहुर-हरंगजाओ लाइन को छोड़कर शेष चारों लाइनें चालू हालत में हैं।

मंत्रालय ने जोनल रेलवे से इन रूटों की व्यावहारिकता पता करने के लिए कहा है।

21 अप्रैल तक संबंधित जोन से जवाब मिल जाने के बाद इस प्रोजेक्ट को लॉन्च किया जाएगा।

खासियत | मनोरम पहाड़ों-घाटियों के बीच स्थित इस लाइन में टनल्स हैं। यह लाइन चोरल, मलेंडी नदी से होकर गुजरती है।

खासियत | यह रेलवे लाइन गिर अभयारण्य में स्थित है। इस सेक्शन से दिन में तीन ट्रेनें पास होती हैं।

खासियत | यह लाइन दुधवा टाइगर रिजर्व में स्थित है। इस सेक्शन से रोजाना छह ट्रेनें गुजरती हैं।

47 किमी- माहुर-हरंगजाओ- असम

(स्रोत : रेल मंत्रालय)

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Mhow

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×