• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Mhow News
  • शूटिंग में भारत को 3 मेडल, श्रेयसी ने ग्लास्गो के सिल्वर को गोल्ड में बदला
--Advertisement--

शूटिंग में भारत को 3 मेडल, श्रेयसी ने ग्लास्गो के सिल्वर को गोल्ड में बदला

भारत को एक गोल्ड, 2 ब्रॉन्ज मेडल मिले; 12 गोल्ड सहित अब कुल 24 मेडल हुए, टैली में नंबर तीन पर बरकरार है भारत

Danik Bhaskar | Apr 12, 2018, 06:35 AM IST
भारत को एक गोल्ड, 2 ब्रॉन्ज मेडल मिले; 12 गोल्ड सहित अब कुल 24 मेडल हुए, टैली में नंबर तीन पर बरकरार है भारत


गोल्ड कोस्ट | कॉमनवेल्थ गेम्स में शूटरों ने भारत के लिए तीन और मेडल जीते। श्रेयसी सिंह ने महिलाओं के डबल ट्रैप इवेंट में गोल्ड जीता। ओमप्रकाश मिठरवाल ने 50 मीटर पिस्टल और अंकुर मित्तल ने डबल ट्रैप में ब्रॉन्ज जीता। भारत शूटिंग में अब तक 4 गोल्ड सहित 12 मेडल जीत चुका है। हालांकि जीतू राय बाहर हो गए। श्रेयसी सिंह ने 4 साल पहले ग्लासगो कॉमनवेल्थ गेम्स में इसी इवेंट में सिल्वर मेडल जीता था।

बराबरी पर था स्कोर, शूटऑफ में जीतीं श्रेयसी सिंह...

आखिरी राउंड में नंबर-3 से 4 पर खिसकीं वर्षा

श्रेयसी सिंह महिलाओं के डबल ट्रैप इवेंट के फाइनल में ऑस्ट्रेलिया की एमा कॉक्स के साथ 96 के स्कोर पर बराबरी पर थीं। शूटऑफ में श्रेयसी ने बाजी मारते हुए गोल्ड जीता। स्कॉटलैंड की लिंडा पियर्सन को ब्रॉन्ज मिला। 26 साल की श्रेयसी ने 10 मजबूत खिलाड़ियों की फील्ड में 24, 25, 22 और 25 के स्कोर किए। कॉक्स ने 23, 28, 27 और 18 के स्कोर किए। दोनों का कुल स्कोर 96 रहा और फैसला शूटआफ में हुआ। श्रेयसी की साथी शूटर वर्षा वर्मन चौथे स्थान पर रहीं। वर्षा ने 21, 25, 21, 19 के स्कोर किए जबकि लिंडा ने उनसे आखिरी राउंड में बेहतर प्रदर्शन से पोडियम पर जगह पक्की की।


ओम ने दिलाया पहला मेडल, जीतू फेल

सातवें दिन भारत को दिन का पहला पदक ओम ने दिलाया। ओम ने 50 मीटर पिस्टल इवेंट में 201.1 के स्कोर के साथ ब्रॉन्ज जीता। 542 अंक के साथ फाइनल में पहुंचने वाले एएमयू महू के जीतू राय फाइनल में आठवें स्थान पर रहे। जीतू ने ग्लास्गो में इस इवेंट का गोल्ड जीता था।

ओम मिठरवाल

आखिरी 10 में 3 शॉट चूके, ब्रॉन्ज मिला

डबल ट्रैप में अंकुर मित्तल ने 53 का स्कोर किया। वे तीसरे स्थान पर रहे। पहले 10 शॉट्स में अंकुर ने सभी निशाने सही लगाए। 20 शॉट्स तक केवल दो निशाने ही चूके थे। 50 शॉट्स के बाद उनका स्कोर 46 था। आखिरी 10 शॉट्स में वे 3 चूक गए और ब्रॉन्ज से संतोष करना पड़ा।

अंकुर मित्तल