Hindi News »Madhya Pradesh »Mhow» मध्य प्रदेश में अनोखी शादी Unique Wedding Will Held On Ambedkar Jayanti In Mhow City In MP

चर्चा में है 14 को होने वाली इन दोनों की शादी, वेडिंग कार्ड में की ये अनोखी अपील

14 अप्रैल बाबासाहेब आंबेडकर की जयंती के दिन मध्य प्रदेश के महू में अनूठी शादी होगी।

Bhaskar News | Last Modified - Apr 12, 2018, 01:25 PM IST

चर्चा में है 14 को होने वाली इन दोनों की शादी, वेडिंग कार्ड में की ये अनोखी अपील

महू.14 अप्रैल बाबासाहेब आंबेडकर की जयंती के दिन मध्य प्रदेश के महू में अनूठी शादी होगी। इस में दूल्हा-दुल्हन बाबासाहेब आंबेडकर की प्रतिमा के सामने एक-दूसरे को वरमाला पहनाकर विवाह सूत्र में बंधेंगे। शादी में शामिल होने वाले मेहमान उपहार में कैश देने की बजाय पुस्तकें भेंट करेंगे। इसके लिए बाकायदा शादी के निमंत्रण कार्ड में अपील भी प्रिंट की गई है।

यह विवाह शाजापुर विद्युत विभाग एई सूर्यदेव जयसिंह निवासी खेजरा खुर्द गांव अशोक नगर व इंदौर नगरीय प्रशासन विभाग में पदस्थ सब इंजीनियर रचना सुमन निवासी धार का होगा। इस शादी के लिए बाकायदा दूल्हा-दुल्हन आंबेडकर जयंती के दिन निकलने वाली शोभायात्रा के साथ आंबेडकर स्मारक पहुंचेंगे। यहां सभी बौद्ध भिक्षुओं की मौजूदगी में बाबासाहेब की प्रतिमा के सामने एक-दूसरे को वरमाला पहनाकर विवाह सूत्र में बंधेंगे। इसके बाद उनकी शादी का शेष समारोह मोेतीमहल परिसर में होगा। समारोह के दौरान मेहमानों को बाबासाहेब की तस्वीरें व संविधान की किताबें भी बांटी जाएंगी।

निमंत्रण कार्ड में लिखा उपहार में हमें सिर्फ पुस्तकें भेंट करें
सूर्यदेव ने अपनी शादी को आदर्श विवाह नाम दिया है। इसके लिए निमंत्रण कार्ड पर आदर्श विवाह लिखने के साथ ही कार्ड को बाबासाहेब के जीवन पर आधारित बनाया गया है। कार्ड पर आंबेडकर स्मारक की तस्वीर व पंचशील ध्वज की आकृति बनवाई गई है। साथ ही उपहार के रूप में केवल पुस्तकें देने का भी आग्रह किया गया है।

दोनों पक्ष ढाई-ढाई लाख रु. मिलाकर रखेंगे स्कूल की नींव
सूर्यदेव ने बताया पूरी शादी में लड़की के परिवार से किसी भी तरह का दहेज नहीं लिया जाएगा। इसके बजाय हमारा परिवार व लड़की पक्ष का परिवार दोनों ढाई-ढाई लाख रुपए मिलाकर पांच लाख रुपए की राशि से अशोकनगर में स्कूल की नींव रखेंगे। इसके अलावा हर साल गरीब कन्याओं का आदर्श विवाह भी कराएंगे।

5 साल पहले तय किया था
एई सूर्यदेव जयसिंह ने बताया कि उन्होंने पांच साल पहले ही तय कर लिया था कि जिस दिन भी शादी करेंगे आंबेडकर जयंती के दिन आंबेडकर जन्मभूमि महू पर ही करेंगे। जैसे ही उनकी शादी रचना सुमन से तय हुई, उन्होंने अपने शादी का प्लान उसे बताया। जिस पर सुमन के साथ ही उसके परिवार वालों ने भी खुशी जाहिर करते हुए 14 अप्रैल को शादि करने का समर्थन दिया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Mhow

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×