--Advertisement--

नाले में जेसीबी से हो रहा था अवैध खनन, किसानों ने किया हंगामा

ब्लॉक के साईंखेड़ा में नाले में जेसीबी से खनन कर मलबा निजी निर्माण के लिए ले जाया जा रहा था। यहां राजस्व की जमीन पर...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 04:05 AM IST
नाले में जेसीबी से हो रहा था अवैध खनन, किसानों ने किया हंगामा
ब्लॉक के साईंखेड़ा में नाले में जेसीबी से खनन कर मलबा निजी निर्माण के लिए ले जाया जा रहा था। यहां राजस्व की जमीन पर पंचायत सचिव ने नियम विरुद्ध मिट्टी खनन की परमिशन दे दी। वहीं निर्धारित मात्रा से कहीं ज्यादा मलबा ले जाया जा रहा है। बारिश में अपने खेतों में पानी भरने से चिंतित ग्रामीणों ने हंगामा कर मौके पर पटवारी को बुलाया।

निजी स्कूल भवन निर्माण के लिए नाले से दो दिन में 60 ट्रॉली से अधिक मलबा ले जाया जा चुका है। नाले के दोनों ओर खेती करने वाले किसानों ने जेसीबी से खुदाई कर मलबा निकलते देखा तो हंगामा मचाना शुरू कर दिया। किसानों ने उपसरपंच रूपेश पवार, पंच दौलतराव पवार सहित अन्य ग्रामीणों को जानकारी दी। उपसरपंच सहित ग्रामीण मौके पर पहुंचे। खुदाई करने वालों से पूछा तो उन्होंने बताया पंचायत में राशि जमा कर अनुमति ली है। मलबा निजी स्कूल भवन निर्माण में उपयोग के लिए ले जाया जा रहा है। किसानों ने बताया इस तरह नाले की खुदाई हुई तो बारिश में नाले की मिट्टी धंसक जाएगी, पानी खेतों में जमा हो जाएगा। मौजूद लोगों के हंगामे के बाद जेसीबी के चालक ने खुदाई बंद की। सूचना पर हल्का पटवारी संतोषी प्रजापति मौके पर पहुंचीं। उपसरपंच, पंचों और किसानों की उपस्थिति में नाले में हो रहे खनन का पंचनामा बनाया। पटवारी ने बताया पंचनामा अधिकारियों के समक्ष प्रस्तुत कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

सरकारी नाले में खनन की पंचायत ने दे दी अनुमति

राजस्व विभाग के स्वामित्व वाले नाले में खुदाई की ग्राम पंचायत ने नियम विरुद्ध अनुमति दे दी। ग्राम पंचायत ने अनुमति देने के संबंध में उच्च अधिकारियों को भी जानकारी नहीं दी। साईंखेड़ा के प्रभारी सचिव अलकेश सूर्यवंशी ने बताया निजी स्कूल संचालक को 20 ट्राॅली मलबे की जरूरत थी। 100 रुपए ट्राॅली के हिसाब से 20 ट्राली के दो हजार रुपए लेकर उसे रसीद दी है। जानकारी मिली है 20 ट्राॅली से ज्यादा मलबा ले जाया गया है।

मुलताई। साईंखेड़ा नाले में जेसीबी से अवैध खनन कर डंपरों से ले जाया गया मलबा।

X
नाले में जेसीबी से हो रहा था अवैध खनन, किसानों ने किया हंगामा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..