• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Multai News
  • भूख हड़ताल पर बैठे बुजुर्गों ने कहा: ट्रेनों की मांग करके थक गए, सांसद कब रुकवाएंगी ट्रेन
--Advertisement--

भूख हड़ताल पर बैठे बुजुर्गों ने कहा: ट्रेनों की मांग करके थक गए, सांसद कब रुकवाएंगी ट्रेन

मुलताई। ट्रेनों के स्टॉपेज की मांग को लेकर बुजुर्गों ने की भूख हड़ताल। संगठनों सहित जनप्रतिनिधियों ने दिया...

Danik Bhaskar | Feb 01, 2018, 03:00 PM IST
मुलताई। ट्रेनों के स्टॉपेज की मांग को लेकर बुजुर्गों ने की भूख हड़ताल।

संगठनों सहित जनप्रतिनिधियों ने दिया आंदोलन को समर्थन

भास्कर संवाददाता| मुलताई

रेलवे स्टेशन पर ट्रेनों के स्टॉपेज की मांग को लेकर चल रहा धरना और क्रमिक भूख हड़ताल में नगर के बुजुर्ग भी शामिल हुए। क्रमिक भूख हड़ताल पर बैठे बुजुर्गों ने ट्रेनों का स्टॉपेज नहीं होने के लिए सांसद ज्योति धुर्वे को जिम्मेदार ठहराया। बुजुर्गों ने कहा लंबे समय से नगरवासी ट्रेनों के स्टॉपेज की मांग कर रहे हैं। इसके बाद भी सांसद क्षेत्रवासियों की मांग को गंभीरता से नहीं ले रही हैं। जिससे पवित्र नगरी को ट्रेनों का स्टॉपेज नहीं मिल रहा है। बुजुर्ग अमरचंद अग्रवाल, जगदीशचंद्र पंवार, परसराम बचले, कय्यूम लोहार, श्रवण वाघमारे, टीकाराम मंडले, राधे कास्लेकर सहित अन्य बुजुर्गों ने कहा ट्रेनों के स्टॉपेज के लिए रेलमंत्री, सांसद सहित रेलवे के उच्च अधिकारियों को कई बार आवेदन दिया जा चुका है। इसके बाद भी ट्रेनों के स्टॉपेज को लेकर मुलताई क्षेत्रवासियों के साथ भेदभाव किया जा रहा है। ट्रेनों का स्टॉपेज देने की बजाय नागपुर-इटारसी पैसेंजर को भी बिना कारण बंद कर दिया है। मंच के अनिल सोनी ने कहा अमरावती नागपुर - जबलपुर ट्रेन, स्वर्ण जयंती एक्सप्रेस, जयपुर - चेन्नई, नागपुर-रीवा एक्सप्रेस सहित अन्य ट्रेनों के स्टॉपेज की मांग कई सालों से उठ रही है। इसके बाद भी अभी तक स्टॉपेज नहीं दिया है। निष्क्रिय सांसद का खामियाजा क्षेत्रवासियों को उठाना पड़ रहा है। ट्रेनों के स्टॉपेज की मांग को लेकर क्षेत्र के युवा, बुजुर्ग और महिलाओं में आक्रोश बढ़ गया है। 38 धार्मिक और सामाजिक संगठनों के साथ वर्तमान विधायक, नपा अध्यक्ष सहित पूर्व विधायकों ने आंदोलन को समर्थन दे दिया है। नगरवासियों ने 6 फरवरी को नगर बंद का भी ऐलान कर दिया है। इसके बाद भी ट्रेनों का स्टॉपेज नहीं मिलता है तो उग्र आंदोलन होगा।