--Advertisement--

पहले बताया बेटा हुआ, रु. नहीं दिए तो स्टाफ ने रख दी बेटी

जिला अस्पताल की मेटरनिटी में भर्ती प्रसूता सीमा के पति राजू जाटव ने ऑन ड्यूटी स्टाफ पर आरोप लगाया है कि प्रसव के...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 03:15 AM IST
जिला अस्पताल की मेटरनिटी में भर्ती प्रसूता सीमा के पति राजू जाटव ने ऑन ड्यूटी स्टाफ पर आरोप लगाया है कि प्रसव के एवज में 1100 रुपए नहीं देने पर उनका बच्चा बदल दिया गया है। इस पूरे मामले की जांच होना चाहिए। महिला के पति के आरोप का अस्पताल प्रशासन ने खंडन करते हुए कहा है कि बच्चा बदलने की बात गलत है।

सुमावली क्षेत्र के मटकौरा से आए राजू जाटव का कहना है कि प|ी सीमा ने शुक्रवार शाम पांच बजे जिला अस्पताल की मेटरनिटी में एक बच्चे को जन्म दिया। प्रसव के तत्काल बाद लेबर रूम से बाहर एक आई महिला कर्मचारी ने उससे कहा कि तुम्हारी प|ी को बेटा हुआ है, 1100 रुपए दीजिए। चूंकि मेरे पास इतने रुपए नहीं थे तो मैंने रुपए देने से मना कर दिया। कुछ देर बाद वही महिला कर्मचारी फिर से उसके पास आई और बोली कि लड़की हुई है। प|ी सीमा ने भी बताया कि प्रसव के दौरान उसे होश नहीं था। प्रसव के बाद नर्स उसके बगल में एक लड़की लिटा गई। इसकी जांच होना चाहिए। राजू ने बच्चे का डीएनए टेस्ट कराने की बात कही है।

पीड़ित बोला- डीएनए टेस्ट हो

प्रसूता सीमा जाटव का आरोप है कि बच्चे की जगह बच्ची दे दी।

बेटा बदलने की बात सही नहीं