• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Murena News
  • 10 करोड़ से शहर में बनेंगी 12 सड़कें सौंदर्यीकरण पर भी 5 करोड़ खर्च होंगे
--Advertisement--

10 करोड़ से शहर में बनेंगी 12 सड़कें सौंदर्यीकरण पर भी 5 करोड़ खर्च होंगे

नगर निगम का 324.67 करोड़ रुपए का बजट शनिवार को पेश किया गया। आमदनी और खर्च के एक-एक रुपए के हिसाब-किताब के साथ सालभर कराए...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 03:15 AM IST
नगर निगम का 324.67 करोड़ रुपए का बजट शनिवार को पेश किया गया। आमदनी और खर्च के एक-एक रुपए के हिसाब-किताब के साथ सालभर कराए जाने वाले विकास कार्यों की घोषणाएं की गईं। भास्कर ने निगम बजट की पड़ताल की तो तथ्य सामने आए कि आय के स्त्रोत सीमित होने व वसूली कम होने से विकास के बजट को 10 फीसदी ही बढ़ाया जा सका है। फिर भी निगम के जनप्रतिनिधियों व अफसरों को भरोसा है कि 2018-19 के बजट में जो प्रावधान किए गए हैं वो पूरे होंगे। पढ़िए एक रिपोर्ट...

नया बजट शहर के 47 वार्डों की दो लाख 88 हजार 330 आबादी के लिए यूं राहतभरा माना जा सकता है क्योंकि नगर सरकार ने लोगों पर कोई नया टैक्स नहीं थोपा है और ना ही संपत्ति कर, समेकित कर, जलकर, शिक्षा उपकर के स्लैब में कोई वृद्धि की है। 324.67 करोड़ रुपए के नवीन बजट की पांच फीसदी विशेष निधि 16.23 करोड़ रुपए से शहर की गरीब बस्तियों में मूलभूत सुविधाओं को पूरा करने की बात बजट में कही गई है। मेयर अशोक अर्गल, सभापति अनिल गोयल अल्ली, निगमायुक्त डीएस परिहार की मौजूदगी में मात्र 5 मिनट में बजट पेश कर दिया गया। इस दौरान जमकर हंगामा व शोर-शराबा भी हुआ।

बजट पर नजर

2.43 करोड़ सार्वजनिक परिवहन व ट्रैफिक प्रबंधन के लिए

1.11 करोड़ स्ट्रीट लाइट, बिजली सामग्री खरीद व पोल शिफ्टिंग के लिए

1.18 करोड़ ठोस अपशिष्ट प्रबंधन, वाहन किराए पर व्यय, गरीब बस्तियों में चिकित्सा के लिए

17.31 करोड़ निगम भवन निर्माण, कम्युनिटी हॉल निर्माण, शहर के सौंदर्यीकरण व प्रसाधन व्यवस्था के लिए

55 लाख शहर के पार्क व उद्यानिकी विकास पर व्यय

18.65 करोड़ शहर में कराए जाने वाले निर्माण कार्यों के लिए

1.15 करोड़ पर्यावरण संरक्षण, शैक्षणिक गतिविधियां समेत वन्य प्राणी सप्ताह के आयोजन हेतु

19.89 लाख अग्निशमन सेवाओं के लिए

बजट सत्र के दौरान एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाते हुए पार्षदगण।

बजट के 6 महत्वपूर्ण बिंदु, जो आपको जानना जरूरी

1 नाला पटाव: कब्रिस्तान रोड से लेकर मुरैना बाईपास तक 4.5 किमी की लंबाई में नाला नंबर एक को भूमिगत बनाकर उसके ऊपर 21 करोड़ की लागत से टू-लेन सीमेंट-कांक्रीट सड़क का निर्माण कराया जाएगा।

लाभ : 10 हजार आबादी को नाले की गंदगी से मुक्ति मिलेगी। आवागमन के लिए एक अतिरिक्त सड़क की सुविधा मिलेगी।

4 पीएम आवास: शहर में कम आय वर्ग के 1476 लोगों के लिए 122 करोड़ रुपए की लागत से अतरसुमा व मुरैना गांव में पीएम आवास बनाए जा रहे हैं।

लाभ : ईडब्ल्यूएस आवास दो लाख रुपए जमा करने पर मिल सकेंगे। इसके लिए बैंक से लोन का प्रावधान भी रखा गया है।

2 पार्क: चंबल कालोनी व न्यू हाउसिंग कालोनी में दो करोड़ रुपए की लागत से दो बड़े पार्कों का निर्माण कराया जाएगा। यह काम 2018 में ही पूरा कराया जाएगा।

लाभ : पार्क बनने से शहर के लोगों को मॉर्निंग वॉक व ईवनिंग वॉक की सुविधा मिलेगी। इससे शहर में ग्रीनरी भी विकसित होगी।

5 सीवर प्रोजेक्ट: शहर के 25 वार्डों में 128 करोड़ रुपए की लागत से सीवर लाइन बिछाने का काम कराया जा रहा है। सीवर का काम 60 फीसदी पूरा हो चुका है।

लाभ : शहर के 35 वार्डों की सवा दो लाख आबादी के प्रत्येक घर को सीवर से कनेक्ट किया जाएगा। ताकि प्रदूषण व गंदगी न हो।

3 सड़कें: शहर की 12 सड़कें शिक्षा नगर, पुरानी हाउसिंग कालोनी, गांधी काॅलोनी, गणेशपुरा आदि का निर्माण 10 करोड़ रुपए से कराया जाएगा। जो लोगों की सबसे बड़ी जरूरत है।

लाभ : उखड़ी सड़कों को नई जिंदगी मिलने से 50 हजार लोगों को आवागमन की सुविधा सुलभ होगी। ट्रैफिक जाम समस्या भी खत्म होगी।

6 ट्रांसपोर्ट नगर: छौंदा के पास की जमीन पर 45 करोड़ रुपए से ट्रांपपोर्ट नगर बनाने का काम शुरू कराया गया है। 20 साल पुराना यह प्रोजेक्ट 2019 में मूर्तरूप लेगा।

लाभ : 300 मोटर मैकेनिक व पार्टस विक्रेताओं को दुकान मिलेगी। शहर में हैवी वाहन नहीं घुसेंगे।