• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Murena
  • काम के दबाव से घबराए अफसर, पीएचई एसई ने लिया वीआरएस, बोले यहां खराब है माहौल
--Advertisement--

काम के दबाव से घबराए अफसर, पीएचई एसई ने लिया वीआरएस, बोले-यहां खराब है माहौल

Murena News - पाहड़गढ़ के कन्हार क्षेत्र में कुआं से पानी भरते ग्रामीण। कहां से कितने प्रस्ताव गए भोपाल मुरैना : जिले के...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:55 PM IST
काम के दबाव से घबराए अफसर, पीएचई एसई ने लिया वीआरएस, बोले-यहां खराब है माहौल
पाहड़गढ़ के कन्हार क्षेत्र में कुआं से पानी भरते ग्रामीण।

कहां से कितने प्रस्ताव गए भोपाल

मुरैना :
जिले के सबलगढ़ क्षेत्र से जाटौली, कीरतपुर, बत्तोखर, बावरी, अटार व पिपरघान गांव में नल-जल योजना के प्रस्ताव एसई कार्यालय को भेजे गए हैं। सहायक यंत्री डीआर जर्मन का कहना था कि सातवें गांव का नाम उन्हें याद नहीं है।

भिंड : कार्यपालन यंत्री आरके सिंह का कहना है कि उन्होंने जिले के छह ब्लॉक से चार-चार नल-जल योजनाओं के मान से 24 डीपीआर टीएस के लिए एसई को भेज दी हैं। दूसरे चरण में 24 नल-जल योजनाओं के प्रस्ताव और भेजे जाना हैं।

श्योपुर : कार्यपालन यंत्री पीआर गोयल के मुताबिक, उनके जिले से उतनवार, ननावत, धीरोली, सोंठवा, लुहार,मायापुर व आवदा में नल-जल योजनाएं शुरू करने के प्रस्ताव सर्कल कार्यालय को भेजे हैं। अभी पांच प्रस्ताव और भेजे जाने हैं।

17 प्रस्ताव की दी गई स्वीकृति

एसई जीएस अग्रवाल ने बताया कि अभी तक मुरैना, भिंड व श्योपुर की 17 नल-जल योजनाओं की डीपीआर को तकनीकी स्वीकृति दी गई है। अभी इतने ही प्रस्ताव पाइप लाइन में हैं।

इधर...ईई गोयल दिल्ली में भर्ती

मुरैना के कार्यपालन यंत्री केआर गोयल बीते तीन दिनों ने नई दिल्ली के मेदांता हास्पिटल में भर्ती होकर अपनी सर्वाइकल स्पोंडलाइटिस का इलाज करा रहे हैं। उनका कहना है कि पहले स्वस्थ तो हो जाएं, उसके बाद नल-जल योजनाओं की बात करेंगे। ईई गोयल ने बताया कि 28 जनवरी तक उनके कार्यालय से एसई कार्यालय के लिए 56 में से सात नल-जल योजनाओं के प्रस्ताव भेजे जा सके हैं।

कंसल्टेंट्स ने लेट किया सर्वे




सीई के पास भेज दी हैं 17-18 डीपीआर


X
काम के दबाव से घबराए अफसर, पीएचई एसई ने लिया वीआरएस, बोले-यहां खराब है माहौल
Astrology

Recommended

Click to listen..