मुरैना

  • Home
  • Madhya Pradesh News
  • Murena News
  • ट्रेजरी शिफ्ट न होने से अस्पताल भवन निर्माण में आ रही बाधा, अतिक्रमण भी नहीं हटा
--Advertisement--

ट्रेजरी शिफ्ट न होने से अस्पताल भवन निर्माण में आ रही बाधा, अतिक्रमण भी नहीं हटा

सिविल अस्पताल के निर्माण कार्य में अतिक्रमण बाधा बन रहा है। जी प्लस टू बिल्डिंग बनेगी 50 बेड के सिविल...

Danik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:55 PM IST
सिविल अस्पताल के निर्माण कार्य में अतिक्रमण बाधा बन रहा है।

जी प्लस टू बिल्डिंग बनेगी

50 बेड के सिविल अस्पताल के भवन स्वास्थ्य विभाग जी प्लस टू मंजिला बिल्डिंग का निर्माण करा रहा है। आधार तल पर ओपीडी, ऑपरेशन थिएटर, मेटरनिटी, लेबर रूम व प्री लेबर रूम तथा ब्लड बैंक का निर्माण कराया जाएगा। पहली मंजिल पर मरीजों को भर्ती करने के लिए मेडिकल वार्ड, चिल्ड्रन वार्ड, सर्जिकल वार्ड,मेटरनिटी वार्ड व ड्रेसिंग रूम तथा एक्स-रे कक्ष बनाए जाएंगे। स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों की मानें तो दिसंबर तक सिविल अस्पताल भवन का निर्माण कार्य पूरा करा दिया जाएगा।

सिविल अस्पताल भवन के पीछे स्थित मस्जिद तक पहुंचने के लिए आम रास्ता की जरूरत है। तत्कालीन एसडीएम ने जनभागीदारी से मस्जिद के लिए रास्ता दिलाए जाने की बात कही थी लेकिन स्थानीय प्रशासन ने मस्जिद के लिए अभी तक आम रास्ते की व्यवस्था नहीं की है। इसका असर भी सिविल अस्पताल भवन के निर्माण को प्रभावित कर रहा है।

मस्जिद के लिए भी नहीं दिया रास्ता

राजस्व कर्मचारी का अतिक्रमण

एसडीएम कार्यालय में पदस्थ भृत्य गोपाल बाथम ने रहने के लिए पुराने तहसील कार्यालय के पीछे दो कक्षों का निर्माण कर लिया है। गोपाल को पुराना तहसील कार्यालय छोड़ने के लिए कई बार कहा जा चुका है लेकिन उसे नया आवास आवंटित होने के बाद भी वह पुराने आवास को ख ाली नहीं कर रहा है। अतिक्रमण की स्थिति का प्रभाव सिविल अस्पताल भवन के निर्माण कार्य पर पड़ रहा है।

ट्रेजरी नहीं हुई शिफ्ट

सबलगढ़ का उप कोषालय कार्यालय अभी भी पुराने तहसील कार्यालय भवन में संचालित किया जा रहा है। जबकि उसके लिए अन्यत्र स्थान पर नया कार्यालय भवन तैयार कर दिया गया है। उप कोषालय को नए कार्यालय में शिफ्ट करने की प्रक्रिया बीते दो महीने से जिला मुख्यालय तक चल रही है लेकिन कोई भी अधिकारी कॉल लेकर उप कोषालय को पुराने तहसील कार्यालय से खाली नहीं करा पा रहा है। इस कारण सिविल अस्पताल भवन का निर्माण कार्य 2500 वर्गफीट क्षेत्रफल में नहीं हो पा रहा है।

डाक्टर्स के लिए बनाए जाएंगे छह आवास

सिविल अस्पताल भवन कैम्पस में डाक्टर्स के लिए छह आवास बनाए जाएंगे। तीन जी टाइप व तीन आवास एच टाइप बनाने का काम फरवरी में शुरू होने की उम्मीद है। कैम्पस में आवास सुविधा होने से डाक्टर्स इमरजेंसी ड्यूटी के लिए उपलब्ध मिल सकेंगे। सिविल अस्पताल बनने से मरीजों को वहां गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए विशेषज्ञ डाक्टर्स उपलब्ध हो सकेंगे। इससे मरीजों को इलाज के लिए 80 किमी दूर जिला अस्पताल नहीं आना पड़ेगा।

Click to listen..