--Advertisement--

मोबाइल कोर्ट ने 44 वाहनों से एक लाख का जुर्माना वसूला

केएस चौराहे पर चेकिंग के दौरान आठ सीटर वाहन में 21 यात्री निकले। शहर में चेकिंग प्वांइट बनाकर की चेकिंग भास्कर...

Danik Bhaskar | Sep 13, 2018, 03:26 AM IST
केएस चौराहे पर चेकिंग के दौरान आठ सीटर वाहन में 21 यात्री निकले।

शहर में चेकिंग प्वांइट बनाकर की चेकिंग

भास्कर संवाददाता | मुरैना

स्कूली बच्चे घर से लेकर शिक्षण संस्था के बीच के सफर में कितने सुरक्षित हैं इसे चेक करने के लिए मोबाइल कोर्ट मजिस्ट्रेट ने बुधवार को शहर में तीन स्थानों पर वाहन चेकिंग पाइंट लगाए। सुप्रीम कोर्ट की गाइड का उल्लंघन करते पाए जाने पर 44 वाहनों से एक लाख रुपए का जुर्माना वसूल किया गया। अभियान अभी जारी रहेगा।

बुधवार की सुबह सात बजे न्यायिक मजिस्ट्रेट सिद्धि मिश्रा की उपस्थिति में जेएमएफसी उमेश सोनी ने स्कूल वाहनों समेत प्राइवेट जीप व वीडियो कोच बसों की सघन चैकिंग कराई। सुबह 10 बजे तक चली वाहन चैकिंग में न्यायिक मजिस्ट्रेट सोनी ने 19 वाहनों पर कार्रवाई करते हुए उनसे 70 हजार 900 रुपए का जुर्माना वसूल किया। जेएमएफसी सोनी ने हरिद्वार से ग्वालियर जा रही कल्पना ट्रेवल्स की वीडियोकोच बस पर भी 10 हजार रुपए का जुर्माना किया। वीडियोकोच के संबंध में तथ्य सामने आए कि बस स्टाफ,टूरिस्ट परमिट लेकर उस पर सवारियों को यात्रा करा रहा था। ट्रेफिक थाने के सामने न्यायिक मजिस्ट्रेट एनआर परमार ने स्कूल बसों की चेकिंग बारीकी से करायी। टीएसएस स्कूल की बस एमपी06 पी0586 के संचालन के संबंध में ड्राइवर अमर सिंह फिटनेस व परमिट में से कोई भी दस्तावेज पेश नहीं कर सका। एकेडमिक हाइट की बस एमपी06पी0714 में क्षमता से अधिक बच्चे बैठाए गए थे। 823 नंबर की स्कूल बस का संचालन भी बिना परमिट व बिना फिटनेस के किया जाना पाया गया। जेएमएफसी परमार ने 20 वाहनों से20 हजार 900रुपए का जुर्माना वसूल कराया। मुडि़याखेरा के वाहन चेकिंग पाइंट में न्यायिक मजिस्ट्रेट विशाल शर्मा ने पांच वाहनों पर कार्रवाई करते हुए उनसे 8200 रुपए का जुर्माना वसूला।