• Hindi News
  • Mp
  • Murena
  • Morena News mp news 44530 crore approved for excellence pg college housing board will create 20 rooms on the first floor

एक्सीलेंस पीजी कॉलेज के लिए 445.30 करोड़ मंजूर, हाउसिंग बोर्ड बनाएगा प्रथम तल पर 20 कक्ष

Murena News - एक्सीलेंस पीजी कॉलेज के विस्तार के लिए एशियन डवलपमेंट बैंक ने 445.30 करोड़ रुपए मंजूर किए हैं। इस राशि से हाउसिंग...

Feb 15, 2020, 08:26 AM IST
Morena News - mp news 44530 crore approved for excellence pg college housing board will create 20 rooms on the first floor

एक्सीलेंस पीजी कॉलेज के विस्तार के लिए एशियन डवलपमेंट बैंक ने 445.30 करोड़ रुपए मंजूर किए हैं। इस राशि से हाउसिंग बोर्ड कॉलेज के प्रथम तल पर 20 नवीन कक्षों का निर्माण कराएगा। इसी के साथ जौरा कॉलेज के नवीन भवन निर्माण के लिए भी 491.50 करोड़ रुपए स्वीकृत किए गए हैं। दोनों निर्माण कार्य 16 महीने की समयावधि में पूर्ण किए जाने हैं।

एक्सीलेंस पीजी कॉलेज के 30 कक्षों में 900 छात्र-छात्राओं के एक साथ बैठकर पढ़ने की सुविधा नहीं है। इसलिए कॉलेज भवन के प्रथम तल पर 20 नवीन कक्षों के निर्माण की आवश्यकता महसूस की जा रही है। नए 20 कक्षों में से पांच कक्ष लैब के रूप में उपयोग में लिए जाएंगे। 15 कक्षों में कैमिस्ट्री व बॉटनी के पीजी क्लासेस समेत यूजी की बीएससी कक्षाओं का संचालन नए भवन में हो सकेगा। अभी स्थिति यह है कि नया कॉलेज भवन बनने के चार साल बाद भी साइंस संकाय के 450 छात्र-छात्राएं 70 साल पुराने भवन में पढ़ रहे हैं। पुराना भवन धर्मशाला का भवन है। इसलिए उसमें सुविधाओं के नाम पर कुछ भी नहीं है। लैब, लाइब्रेरी से लेकर पीने के पानी, बिजली व प्रसाधन की समस्याएं अध्ययन को प्रभावित कर रही हैं। उच्च शिक्षा विभाग के आयुक्त ने पुराने भवन से बीएससी व एमएससी की कक्षाओं काे नए भवन में शिफ्ट करने के आदेश जारी किए हैं। कॉलेज भवन विस्तार के लिए शासन ने हाउसिंग बोर्ड को एजेंसी नियुक्त किया है। हाउसिंग बोर्ड के सहायक यंत्री कौशलेन्द्र चतुर्वेदी का कहना है कि उक्त प्रोजेक्ट की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट व नक्शा तैयार है। 31 मार्च से पहले टेंडर की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। निर्माण कार्य 16 महीने की समयावधि में पूर्ण कर लिया जाएगा।

30 कक्षों में 900 छात्र-छात्राओं को बैठाना संभव नहीं

जाैरा रोड स्थित पीजी कॉलेज के आगामी डेढ़ साल मशक्कतभरे साबित होंगे। क्योंकि 30 कक्षों में 900 छात्र-छात्राओं को एक साथ बैठाना संभव नहीं होगा। कारण है कि 30 कक्षों का उपयोग अन्य चेम्बरों के रूप में होने से अध्यापन के लिए खाली कक्षों की संख्या घट गई है। दूसरी व्यावहारिक परेशानी यह भी है कि प्राइवेट कॉलेजों के छात्रों की परीक्षाएं भी पीजी कॉलेज के नए भवन में करानी पड़ रही हैं जिसे बीए,बीकॉम व बीएससी के छात्रों की कक्षाएं सस्पेंड करना पड़ती हैं।

160 कॉलेजों के लिए मिला बजट

एशियन डवलपमेंट बैंक ने प्रदेश के 160 कॉलेजों के नए भवन बनाने से लेकर रेनोवेशन वर्क के लिए बजट मंजूर किया है। जिसमें मुरैना का एक्सीलेंस पीजी कॉलेज व जौरा डिग्री कॉलेज का नया भवन निर्माण शामिल है।

चार प्रयोगशालाओं को भी लाएंगे नए भवन में

एक्सीलेंस पीजी कॉलेज भवन में पुरानी बिल्डिंग में संचालित फिजिक्स, कैमिस्ट्री, बाॅटनी व जूलॉजी की चार प्रयोगशालाओं काे मार्च के अंत तक नए भवन में शिफ्ट कर लिया जाएगा।

लाइब्रेरी की 50 हजार पुस्तकें नए कॉलेज भवन में शिफ्ट

उच्च शिक्षा आयुक्त के आदेश के बाद कॉलेज प्रशासन ने पुराने भवन में तीसरी मंजिल पर संचालित 80 वर्ष पुरानी लाइब्रेरी की 125 अलमारियों समेत 50 हजार पुस्तकों को नए कॉलेज भवन के बड़े हाॅल में शिफ्ट करा दिया है। अभी 10 हजार पुस्तकों को शिफ्ट करने की प्रक्रिया चल रही है।

एक्सीलेंस पीजी कॉलेज की नई बिल्डिंग।

पहली मंजिल पर 20 नए कक्ष बनाए जाएंगे

डीपीआर के मुताबिक,नए भवन के प्रथम तल पर 20 नए कक्षों का निर्माण कराया जाएगा ताकि उसमें बीएससी व एमएससी के छात्रों को शिफ्ट किया जा सके। साइंस संकाय के छात्रों के लिए फिजिक्स, कैमिस्ट्री, ज्यूलॉजी व बॉटनी की प्रैक्टीकल लैब भी बनवाई जाएंगी। इसके अलावा 100 कम्प्यूटर की एक लैब भी बनवाई जाना प्रस्तावित है। जिसमें बीएससी कम्प्यूटर साइंस व बीकॉम कम्प्यूटर के छात्र-छात्राओं को प्रायोगिक अभ्यास कराया जा सकेगा। उल्लेखनीय है कि पीजी कॉलेज के नए भवन में चार साल से सिर्फ बीए व बीकॉम की क्लासेस ही लगाई जा रही हैं। साइंस के छात्र तीन किमी दूर फाटक बाहर कॉलेज के पुराने भवन में पढ़ रहे हैं।

एडीबी ने 445.30 करोड़ रुपए की स्वीकृति दी है

X
Morena News - mp news 44530 crore approved for excellence pg college housing board will create 20 rooms on the first floor
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना