• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Murena
  • Morena News mp news confidential signature of the house including the documents of the contract and also on the registry of the house

अनुबंध के दस्तावेज सहित महिला से मकान की रजिस्ट्री पर भी गुपचुप करा लिए हस्ताक्षर, भवन हड़पा

Murena News - कोतवाली पुलिस ने महिला की शिकायत पर सुरेश मावई समेत चार लोगों को धोखाधड़ी का आरोपी बनाया है भास्कर संवाददाता |...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:30 AM IST
Morena News - mp news confidential signature of the house including the documents of the contract and also on the registry of the house
कोतवाली पुलिस ने महिला की शिकायत पर सुरेश मावई समेत चार लोगों को धोखाधड़ी का आरोपी बनाया है

भास्कर संवाददाता | मुरैना

शहर की गांधी काॅलोनी स्थित 60 लाख रुपए कीमत के भवन की फर्जी रजिस्ट्री कराने के मामले में कोतवाली पुलिस ने शनिवार को आरोपी सुरेश मावई समेत चार लोगों के खिलाफ कूटरचित दस्तावेजों के आधार पर धोखाधड़ी करने का मुकदमा दर्ज किया है। कारनामा सात साल पुराना है लेकिन शिकायत देर से होने के कारण कार्रवाई अब शुरू हुई है।

जानकारी के मुताबिक, गांधी काॅलोनी में रहने वाले आदिराम गुर्जर की प|ी कपूरी देवी उम्र 60 साल ने 2011-12 में अपने मकान बेचने का सौदा सुरेश मावई निवासी गुलेंद्रा से किया था। मकान बेचने के अनुबंध पत्र पर दस्तखत कराने के दौरान सुरेश मावई ने चालाकी से भवन की रजिस्ट्री के दस्तावेजों पर भी हस्ताक्षर करा लिए। बाद में जब कपूरी देवी ने शेष रकम देकर भवन की रजिस्ट्री कराने की बात कही तो आरोपी सुरेश ने उन्हें रजिस्ट्री दिखाते हुए कहा कि रजिस्ट्री तो पहले ही कर दी आपने। अब क्यों दाेबारा रजिस्ट्री की बात कर रही हो। सुरेश की बात सुनने के बाद स्पष्ट हो गया कि उसने कूटरचित दस्तावेजों के आधार पर भवन की फर्जी रजिस्ट्री करा ली है। इस बात को लेकर समाज के लोगों की पंचायत हुई जिसमें सुरेश ने शेष रुपए देने की बात कही लेकिन पैसे नहीं दिए। इसी तनाव के चलते आदिराम गुर्जर का निधन हो गया। महिला की शिकायत पर कोतवाली पुलिस ने आरोपी सुरेश मावई, श्रीराम राठी, सुधीर राठी व प्रमोद रियाना के खिलाफ धोखाधड़ी का अपराध दर्ज किया है।

राठी बंधुओं को बनाया पार्टनर

कपूरी देवी के मकान को खरीदने के लिए आरोपी सुरेश मावई ने शहर के श्रीराम राठी व सुधीर राठी से 50 लाख रुपए की रकम लेकर उन्हें प्रॉपर्टी खरीदने के लिए बिजनेस पार्टनर बना लिया और बाद में उनसे बेईमानी करते हुए कूपरी देवी के भवन की रजिस्ट्री अपने नाम करा ली। कलेक्टर गाइड लाइन से उक्त प्रॉपर्टी का मूल्य 50 लाख रुपए होता है लेकिन प्रापर्टी माफिया ने उसे 12 लाख रुपए की प्रॉपर्टी दर्शाकर कम स्टॉम्प शुल्क अदा किया है। यह भी जांच में विचाराधीन है।

X
Morena News - mp news confidential signature of the house including the documents of the contract and also on the registry of the house
COMMENT