मेला में 10 दिन बाद भी दुकानों का आवंटन नहीं अलीगढ़, जयपुर, भिंड से आए दुकानदार परेशान

Murena News - मेला मैदान पर जयपुर से आई महिला दुकानदार गंदगी के बीच खाना पकाते हुए। अंगूरी बोली- मेरी दुकान बेची तो आत्महत्या...

Dec 04, 2019, 09:41 AM IST
Morena News - mp news no allocation of shops in the fair even after 10 days shopkeepers from aligarh jaipur bhind are upset
मेला मैदान पर जयपुर से आई महिला दुकानदार गंदगी के बीच खाना पकाते हुए।

अंगूरी बोली- मेरी दुकान बेची तो आत्महत्या के लिए तैयार

भरतपुर से खिलौनों की दुकान लेकर आई अंगूरी का कहना है कि वह पांच दिन से खुले आसमान के नीचे बसर कर रही है। मेला में दुकान मिलने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। बीते साल मुझसे त्रिलोक शांडिल्य ने दुकान आबंटन के लिए 2750 रुपए जमा करा लिए और उसके बाद मेरी दुकान को किसी और को बेच दिया। जिससे मुझे दूसरे के सानिध्य की जमीन पर आठ दिन बाद दुकान लगाने का अवसर मिल पाया। इस बार भी वैसा ही धोखा किया तो मैं संबंधित कर्मचारी का नाम लेकर आत्महत्या कर लूंगी। वहीं अलीगढ़ से स्पोर्ट्स सामान की दुकान लेकर आए राजेश चौधरी की भी ऐसी ही शिकायत सुनने को मिली। राजेश का कहना था कि एक सप्ताह से मुरैना आए हुए हैं तो तो दुकान आबंटन की कोई प्रक्रिया शुरू हुई और ना ही मेला मैदान में कोई सुविधा नजर नहीं आ रही है। पिछले साल दुकान आबंटन के नाम पर 11 हजार रुपए जमा कराने के बाद भी उसे दुकान उपलब्ध नहीं कराई गई। इस हाल में उसे मेला छोड़कर जाना पड़ा। पैसे भी उसे वापस नहीं मिले। इस बार चीटिंग हुई तो फिर कभी मुरैना मेला में दुकान लेकर नहीं आएंगे।

नहाने के 20 रुपए व फ्रेश होने के 10 रुपए वसूले

राजस्थान से रेडीमेड कपड़े की दुकान लेकर आए दाऊजी का कहना है कि मेला परिसर स्थित सुलभ कॉम्पलेक्स में नहाने के लिए 20 रुपए प्रति व्यक्ति व 10 रुपए प्रसाधन सुविधा के वसूल किए जा रहे हैं। जबकि मेला दुकानदारों को पांच रुपए प्रति व्यक्ति के हिसाब से यह सुविधा मिलना चाहिए। दुकान आबंटन करने के मामले में भी कर्मचारी कल-कल कहकर समय व्यतीत कर रहे हैं।

मंगलवार को मेला परिसर में यह अव्यवस्थाएं नजर आई

भूमिपूजन के 10 दिन बाद तक मेला मैदान को समतल नहीं कराया जा सका है। मंगलवार को ठेकेदार ने मेला मैदान समतल करने के लिए वहां बीहड़ी मिट्‌टी डलवाई है जिससे मैदान में जगह-जगह मिट्‌टी के ढ़ेर लगे हुए हैं। झूला परिसर को जो जगह मिली है वहां दलदल की स्थिति होने के कारण खतरा बना हुआ है कि ऊंचे झूले गिरे तो हादसा होगा। कारण है कि मेयर के निर्माणाधीन बंगले के पीछे आसपास की बस्ती का पानी आने से वहां बीते एक साल से दलदल की स्थिति बनी हुई है। मेला आयोजन समिति ने अभी तक मुख्य प्रवेश द्वार पर साइन बोर्ड तक नहीं लगवाया है।

कैलेंडर अभी तैयार नहीं हुआ है


X
Morena News - mp news no allocation of shops in the fair even after 10 days shopkeepers from aligarh jaipur bhind are upset
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना