• Hindi News
  • Mp
  • Murena
  • Morena News mp news nurses did not come even after being called several times dropped out of newborn womb in bucket died

कई बार बुलाने पर भी नहीं आईं नर्सें, नवजात गर्भ से निकलकर बाल्टी में गिरा, मौत

Murena News - जिला अस्पताल की मेटरनिटी में डॉक्टरों, नर्सों की लापरवाही से जन्म होते ही नवजात की मौत जिला अस्पताल की...

Feb 15, 2020, 08:30 AM IST
Morena News - mp news nurses did not come even after being called several times dropped out of newborn womb in bucket died

जिला अस्पताल की मेटरनिटी में डॉक्टरों, नर्सों की लापरवाही से जन्म होते ही नवजात की मौत

जिला अस्पताल की मेटरनिटी में डॉक्टरों और नर्सों की लापरवाही से शुक्रवार की सुबह एक नवजात की जन्म लेते ही मौत हो गई। प्रसूता लेबर रूम में टेबल पर कराहती रही। उसकी सास नर्स को पुकारती रही। इसी बीच गर्भ से बच्चा बाहर आ गया और नीचे रखी बाल्टी में जा गिरा। गंभीर चोट लगने से नवजात ने दम तोड़ दिया। इस बीच कोई डॉक्टर भी मौके पर नहीं था। इस मामले में सिविल सर्जन डाॅ. एके गुप्ता का तर्क है कि महिला के गर्भ से मृत बच्चा पैदा हुआ था जबकि प्रसूता के मुताबिक, 12 दिन पहले अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट में बच्चे की स्थिति सामान्य बताई गई थी।

किशनपुर मौजा के माधौपुरा के रहने वाले अरुण बंसल की प|ी मनीषा (21) को गुरुवार की रात 10 बजे संस्थागत सुरक्षित प्रसव के लिए जिला अस्पताल की मेटरनिटी में भर्ती कराया गया। शुक्रवार सुबह 4 बजे प्रसव पीड़ा हुई तो नर्सों के कहने पर सास पुष्पा बंसल मनीषा को लेबर रूम में ले गईं और टेबल पर लिटा दिया। इस दौरान प्रसव पीड़ा और बढ़ी और नवजात दिखने लगा। बच्चे को देखकर सास पुष्पा ऑन ड्यूटी नर्सों को आवाज देकर बुलाती रहीं। बकौल पुष्पा बंसल, ड्यूटी पर नर्स प्रीति अग्रवाल थीं। उन्हें कई बार बुलाया, लेकिन वह कहती रही कि कुछ नहीं हुआ। इसी बीच मनीषा का नवजात शिशु गर्भ से निकलकर टेबल के नीचे रखी बाल्टी में जा गिरा। गिरने से नवजात के पेट की स्किन फट गई और बच्चे ने दम तोड़ दिया। नवजात के बाल्टी में गिरने की आवाज सुनकर नर्स प्रसव टेबल के पास आईं और नवजात को लेकर कहीं चली गई। बाद में उसे मृत घोषित कर दिया। मनीषा का कहना है कि इस हादसे के बाद तक ऑन ड्यूटी लेडी डॉक्टर कहीं नजर नहीं आईं। नर्सों की लापरवाही ने उसके बच्चे की जान ले ली। यह उसका दूसरा प्रसव था।

बहू को दर्द हो रहा था, फिर भी नर्सें नहीं आईं


बच्चा मृत था, शरीर पर स्किन भी नहीं थी


सोनोग्राफी में गर्भस्थ शिशु को सामान्य बताया गया था

प्रसूता मनीषा बंसल का कहना है कि जिला अस्पताल की लेडी डॉक्टर संध्या माैर्य ने 12 दिन पहले उसका अल्ट्रासाउंड बीएल मेडिकल सेंटर से कराया तो रेडियोलॉजिस्ट डॉ. सुरेश गुप्ता ने सोनोग्राफी रिपोर्ट में नवजात के सामान्य होने तथा सामान्य प्रसव होने की बात कही थी। अब सिविल सर्जन यह कैसे कह सकते हैं कि उसका बच्चा पेट से सड़ा व मृत पैदा हुआ था। उसका प्रसव भी आठ महीने 12 दिन का हुआ था।

मेटरनिटी में भर्ती प्रसूता मनीषा बंसल।

X
Morena News - mp news nurses did not come even after being called several times dropped out of newborn womb in bucket died
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना