ऐसे हैं हमारे शिक्षक... शिक्षकों ने सामने किताब रखकर दी परीक्षा, फिर भी 55 में से 10 ऐसे जो 50% अंक नहीं ला सके

Murena News - हाईस्कूल व मिडिल की शिक्षक कितने ज्ञानवान हैं, इसकी पोल विभाग द्वारा बुधवार को ली गई दक्षता परीक्षा से खुल चुकी...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:30 AM IST
Morena News - mp news such are our teachers teachers put the book in front of the examination even then 10 out of 55 who can not get 50 marks
हाईस्कूल व मिडिल की शिक्षक कितने ज्ञानवान हैं, इसकी पोल विभाग द्वारा बुधवार को ली गई दक्षता परीक्षा से खुल चुकी है। 55 में से 10 शिक्षक के इस परीक्षा में 50 फीसदी से भी कम आए हैं। यह हाल तब हैं जब इन शिक्षकों ने सामने किताब रखकर नकल की थी। अब ऐसे कमजोर शिक्षकों की वेतनवृद्धि रोके जाने की कार्रवाई के साथ उन्हें स्पेशल ट्रेनिंग कराई जाएगी ताकि वे अध्यापन कराने की स्थिति में आ सकें।

सत्र 2018-19 में जिन 11 हाईस्कूल का रिजल्ट 30 फीसदी से कम रहा है, ऐसे स्कूलों के 11 विषयवार शिक्षकों की परीक्षा बुधवार को महारानी लक्ष्मीबाई गर्ल्स हायर सेकंडरी स्कूल में कराई गई तो उनमें से चार शिक्षक के अंक 50 फीसदी से भी कम आए। उधर नवीन मिडिल स्कूल में मिडिल स्कूल के 44 शिक्षकों की परीक्षा के मूल्यांकन में छह शिक्षक फेल साबित हुए क्योंकि उनके अंक भी थर्ड ग्रेड के आए हैं। ऐसे 10 शिक्षकों के रोल नंबरों को जिला शिक्षा अधिकारी ने आयुक्त लोक शिक्षण को बुधवार की देर शाम भेज दिया है। ऐसा माना जा रहा है कि कमजोर शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई बतौर उनकी वेतनवृद्धि रोेकने की कार्रवाई की जा सकती है। साथ ही 10 शिक्षकों को उनके स्केल के आधार पर ट्रेनिंग देकर अध्यापन के योग्य बनाया जाएगा ताकि अगले सत्र में रिजल्ट सुधर सके।

तीन शिक्षकों को देना होगा टेस्ट

मिडिल स्कूल की 47 में से 44 शिक्षक ही बुधवार को परीक्षा में शामिल हुए थे। तीन शिक्षक परीक्षा से गैरहाजिर रहे हैं। ऐसे तीन शिक्षकों को कारण बताओ नोटिस दिए जाकर उन्हें फिर से आयोजित होने वाली परीक्षा में शामिल होने की चेतावनी दी गई है।

पूरी प्रक्रिया इसलिए ताकि शैक्षणिक गुणवत्ता में सुधार हो

आयुक्त लोक शिक्षण जयश्री कियावत का कहना है कि इंटर व हाईस्कूल के रिजल्ट बेहतर आएं, इसके लिए छात्रों के बेस को मजबूत करने की जरूरत है। मिडिल पास कर जो बच्चे नवमी में दाखिला ले रहे हैं लेकिन उन्हें हिंदी, अंग्रेजी पढ़ना-लिखना नहीं आता है। गणित व साइंस भी ऐसे छात्रों के लिए कठिन है। इस स्थिति में सुधार के लिए शिक्षा विभाग अपने शिक्षकों के स्तर को ठीक करने की जरूरत है।

X
Morena News - mp news such are our teachers teachers put the book in front of the examination even then 10 out of 55 who can not get 50 marks
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना