• Hindi News
  • Rajya
  • Madhya Pradesh
  • Murena
  • Kailaras News mp news the contract for the bus stand recovery was not done after march 60 lakh cattle haats were not received the losses were in the small

मार्च बाद नहीं हुआ बस स्टैंड वसूली का ठेका 60 लाख पशु हाट के नहीं मिले, घाटे में ननि

Murena News - यात्री प्रतीक्षालय में दुकान लगने से लोगों को बैठने की सुविधा नहीं मिल पा रही है। यात्रियों को नहीं मिल रहीं यह...

Nov 15, 2019, 08:26 AM IST
Kailaras News - mp news the contract for the bus stand recovery was not done after march 60 lakh cattle haats were not received the losses were in the small
यात्री प्रतीक्षालय में दुकान लगने से लोगों को बैठने की सुविधा नहीं मिल पा रही है।

यात्रियों को नहीं मिल रहीं यह सुविधाएं

प्राइवेट व रोडवेज बस स्टैंड से 300 बसों का संचालन होता है। अंतरराज्यीय बस स्टैंड होने के कारण मुरैना से ग्वालियर, शिवपुरी, झांसी, डबरा, दतिया, अंबाह, पोरसा, भिंड, इटावा, धौलपुर, आगरा, मथुरा, करौली, जयपुर, दिल्ली, जौरा, कैलारस सबलगढ़, विजयपुर, श्योपुर के लिए सुबह पांच बजे से रात 9.30 बजे तक बसों की यात्रा सुविधा मिलती है। तकरीबन 5000 यात्री आवागमन करते हैं। बड़ा बस स्टैंड होने के बाद भी यहां यात्रियों के रुकने के लिए रेन बसेरा की सुविधा नहीं है। यात्रियों के बैठने के लिए एक टीनशेड बनवाया था उसमें दुकानदारों का कब्जा होने के कारण वह यात्रियों के लिए अनुपयोगी हो गया। दोनों बस स्टैंड की पुरानी बुकिंग विंडो के अंदर दो बस मालिकों का अतिक्रमण होने से वहां भी यात्रियों के बैठने या रुकने जैसी कोई सुविधा नहीं है। नगर निगम चाहती तो इन दाेनों स्थानों को रैन बसेरा के रूप में विकसित कर लेती लेकिन इस पर अफसरों का ध्यान नहीं है।बस स्टैंड परिसर में बनाए गए सुलभ कॉम्पलेक्स का प्राइवेट बस स्टैंड साइड का गेट बंद होने के कारण यात्रियों को उसमें प्रसाधन सुविधा नहीं मिल पा रही है। इस हाल में यात्री खुले मैदान को ही गंदा कर रहे हैं। बस स्टैंड के अंदर वाहन पार्किंग जैसी कोई सुविधा नहीं है। इस कारण दो पहिया, तीन पहिया व चार पहिया वाहनों के चाहे जहां खड़े होने से आवागमन के रास्ते बाधित हो रहे हैं।

पशु हाट का ठेका नहीं, 60 लाख का राजस्व अटका

नगर निगम 2019-20 में पशु हाट का 60 लाख रुपए का ठेका न कर पाने में बैकफुट पर है। अप्रैल से लेकर नवंबर तक मेला मैदान में पशु हाट का आयोजन हर सप्ताह हो रहा है लेकिन पशु हाट का राजस्व नगर निगम को नहीं मिल पा रहा है। चौकाने वाली बात है कि नगर निगम ने पशु हाट की वसूली को विभागीय तौर पर भी शुरू नहीं कराया।

शर्त के साथ वसूली देने की बात

नगर निगम के मेयर व निगमायुक्त ने पिछले दिनों बस मालिकों से कहा कि उन्हें स्टैंड वसूली का टैक्स देना चाहिए। इसके लिए निगम विभागीय वसूली की प्रक्रिया शुरू कर रहा है। बस मालिकों ने वसूली का पैसा देने के पीछे शर्त लगा दी कि जो पैसा बस मालिकों से वसूल किया जाएगा उसे बस स्टैंड के विकास में लगाना होगा। इस शर्त पर निगम का कहना है कि परिषद ने एक करोड़ रुपए की लागत से बस स्टैड परिसर काे सीमेंटेड कराया है। 55 लाख व नौ लाख रुपए लागत की दो सड़कों का निर्माण अलग से कराया है इस हाल में कोई नई शर्त रखने का क्या औचित्य है। संभवत: ये दोनों मुद्दे शुक्रवार को आयोजित मेयर इन काउंसिल की बैठक में चर्चा में शामिल रहेंगे।

X
Kailaras News - mp news the contract for the bus stand recovery was not done after march 60 lakh cattle haats were not received the losses were in the small
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना