मुखिया हो बीमार, तभी मिल रहा परिवार के दूसरे सदस्यों को इलाज

Murena News - जिले के करीब 3 हजार सरकारी अफसर व कर्मचारी इन दिनों अपने परिजन का इलाज कराने को लेकर परेशान हैं। इनकी परेशानी की वजह...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:30 AM IST
Morena News - mp news the head is sick then the other members of the family getting treated
जिले के करीब 3 हजार सरकारी अफसर व कर्मचारी इन दिनों अपने परिजन का इलाज कराने को लेकर परेशान हैं। इनकी परेशानी की वजह है, इलाज के बाद मेडिक्लेम भुगतान के बिल ऑनलाइन सबमिट नहीं हो पाना। इन्हें यह दिक्कत एंप्लाइज सेल्फ सर्विस (ईएसएस) में परिवार के सदस्यों का विवरण दर्ज नही होने से आ रही है।

वित्त विभाग की एकीकृत वित्तीय प्रबंधन प्रणाली के अंतर्गत एक निजी कंपनी द्वारा इंटीग्रेटेड फाइनेंशियल मैनेजमेंट इंफॉर्मेशन सिस्टम (आईएफएमआईएस) सॉफ्टवेयर तैयार किया गया है। इस साल 1 अप्रैल के बाद से शासकीय सेवकों को चिकित्सा प्रतिपूर्ति देयक आॅनलाइन जमा करने के निर्देश दिए गए थे। इसके लिए शासकीय सेवकों को आईएफएम आईएस साफ्टवेयर के जरिए ईएसएस में जाकर मेडिकल बिलों की जानकारी भरनी होती है। जब मेडिक्लेम वाला भाग खोलकर कर्मचारी जानकारी सबमिट करने की कोशिश करते हैं तो मरीज के विवरण कॉलम में मरीज का नाम, शासकीय सेवक से संबंध एवं मरीज कहां पर बीमार हुआ जैसी जानकारी का विकल्प दिखाई नहीं देता है। जैसे ही कर्मचारी मरीज का नाम भरता है तो जानकारी सबमिट नहीं होती है। तब उसे सिलेक्ट ऑप्शन पर जाना होता है और खुद के नाम पर क्लिक करना पड़ता है, तब जाकर मेडिक्लेम सबमिट होता है। यानि प|ी या परिवार के अन्य सदस्यों के बीमार होने पर खुद को बीमार बताना पड़ता है। इस बारे में अफसरों से बात की तो जवाब मिला कि कर्मचारियों को ऑफलाइन बिल जमा करने की अनुमति दे दी गई है।

हम सॉफ्टवेयर की मॉनीटरिंग कर रहे हैं


X
Morena News - mp news the head is sick then the other members of the family getting treated
COMMENT