• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Nagda
  • होली पर सुरक्षा के लिए एसपी ने भेजे सिर्फ 10 सिपाही
--Advertisement--

होली पर सुरक्षा के लिए एसपी ने भेजे सिर्फ 10 सिपाही

थानों में पहले से बल की कमी, पर्व की सुरक्षा काे लेकर गहराने लगी चिंता भास्कर संवाददाता | नागदा शहर सहित...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 04:40 AM IST
थानों में पहले से बल की कमी, पर्व की सुरक्षा काे लेकर गहराने लगी चिंता

भास्कर संवाददाता | नागदा

शहर सहित ग्रामीण अंचल में शुक्रवार को होली का त्योहार धूमधाम से मनाया जाएगा। होली पर दिनभर शहर में युवाओं की टोलियां सहित हुड़दंगियों पर लगाम कसने के साथ ही सुरक्षा व्यवस्था को चाक चौबंद करने के लिए एसपी ने महज 10 सिपाही दोनों थानों को दिए हैं। ऐसे में बड़ा सवाल ये है कि ट्रेनिंग वाले ये 10 जवान पूरे शहर की सुरक्षा व्यवस्था कैसे संभालेंगे, जबकि थानों में स्थायी बल की पहले ही कमी है।

गौरतलब है कि सभी त्योहारों के लिए मंडी व बिरलाग्राम दोनों ही थानों को सुरक्षा व्यवस्था के लिए अतिरिक्त बल दिया जाता है। हर बार बल में जवानों के साथ ही अधिकारियों की संख्या सुरक्षा के मान से पर्याप्त होती रही है, लेकिन इस बार एसपी सचिन अतुलकर द्वारा ट्रेनिंग के महज 10 जवान को दोनों थानों में भेजा है। 10 जवान कैसे और किन परिस्थिति में शहर की सुरक्षा करेंगे ये सवाल जनता के साथ ही पुलिस अधिकारियों अधिकारियों के मन में भी चिंता पैदा कर रहा है।

एसपी नहीं दिखा रहे गंभीरता : मामले में सवा लाख की आबादी सहित 200 से अधिक गांवों की सुरक्षा को लेकर महज 10 जवान देने पर एसपी अतुलकर से चर्चा करने के प्रयास किए गए। लेकिन संपर्क नहीं हो सका।

नगर सुरक्षा समिति से लेना पड़ेगी मदद

शहर को पहले ही प्रशासन द्वारा संवेदनशील की श्रेणी में रखा गया है। क्योंकि शहर के कुछ क्षेत्रों में कभी भी तनाव पैदा होने की स्थिति बन सकती है। ऐसे में कम बल ऊपर से त्योहारों के लिए भी मंडी थाने को महज 6 और बिरलाग्राम को 4 सिपाही दिए जाना भी विभाग की सक्रियता काे दर्शाता है। लेकिन ये फैसला एसपी का है, संभवत: इसी कारण स्थानीय अधिकारी भी इस पर बोलने से कतरा रहे हैं। सूत्रों की मानें तो कम बल के कारण होली जैसे बड़े त्योहार पर सुरक्षा लिए अब पुलिस नगर सुरक्षा समिति सदस्यों की मदद ले सकती है। साथ ही कोटवार सहित अन्य मददगारों की मदद से भी पुलिस शहर की सुरक्षा व पर्व पर शांति व्यवस्था को बनाए रखने का काम करेगी।