--Advertisement--

मैदान ठीक करने के लिए कॉलेज के पास दो दिन

नहीं किया दुरुस्त तो तीसरे दिन छात्रसंघ बैठेगा धरने पर भास्कर संवाददाता | नागदा स्वामी विवेकानंद शासकीय...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 03:00 PM IST
नहीं किया दुरुस्त तो तीसरे दिन छात्रसंघ बैठेगा धरने पर

भास्कर संवाददाता | नागदा

स्वामी विवेकानंद शासकीय कॉलेज के खेल मैदान का दुरुस्तीकरण दो दिन में पूरा करने की चेतावनी छात्रसंघ ने प्रबंधन को दी है। दो दिन में खेल मैदान दुरुस्त नहीं होता है तो तीसरे दिन यानी शनिवार को छात्रसंघ कॉलेज परिसर में धरने पर बैठ जाएगा। खेल मैदान को लेकर छात्रसंघ द्वारा आंदोलन किया गया था। इस पर 16 से 20 जनवरी तक इसे व्यवस्थित करने का आश्वासन दिया गया था। काम पूरा नहीं होने पर छात्रसंघ ने 26 जनवरी तक का समय दिया था, लेकिन उसके बाद भी यह पूरा नहीं हुआ। इस पर छात्रसंघ ने कॉलेज प्रबंधन को अंतिम चेतावनी दी है।

छात्रसंघ अध्यक्ष कुरैशी ने बताया कॉलेज का खेल मैदान 4 साल से उबड़-खाबड़ हो रहा है। छात्रसंघ नहीं होने से विद्यार्थियों की समस्या को भी अनसुना किया गया। छात्रसंघ गठन के बाद लगातार मांग के बाद भी मात्र आश्वासन दिया गया। जब 6 जनवरी को खेल मैदान दुरुस्त कराया गया तो 16 जनवरी तक खेलकूद गतिविधि हो सके, इतना दुरुस्त करने का आश्वासन दिया गया था। खेल मैदान को पूरा दुरुस्त कर रहे हैं, यह अच्छी बात है, लेकिन वार्षिक खेलकूद की गतिविधियां लेट होती जा रही हैं। इसलिए हमने 26 जनवरी तक का भी समय दिया था, बावजूद बुधवार तक भी काम पूरा नहीं हुआ। प्राचार्य डॉ. शीला ओझा से चर्चा कर 2 फरवरी तक काम पूरा करने की चेतावनी दी गई है। अगर 2 फरवरी तक काम पूरा नहीं होता है तो 3 जनवरी को छात्रसंघ कॉलेज गेट पर धरना दे गया और जब तक काम पूरा नहीं होगा, तब तक नहीं उठेगा। गौरतलब है कि कॉलेज में 600 से अधिक विद्यार्थी पढ़ते हैं, इसमें से कई स्कूल समय में राज्यस्तर तक खेल चुके हैं, लेकिन सुविधा नहीं होने से वह अभ्यास नहीं कर पा रहे हैं।

मैदान है पर वर्षों से खेल शिक्षक ही पदस्थ नहीं

कुरैशी के मुताबिक कॉलेज के पास स्वयं का खेल मैदान है। विभिन्न खेलों की सामग्री भी उपलब्ध है, लेकिन खेल शिक्षक का अभाव बना हुआ है। ऐसे में किसी भी प्रोफेसर को प्रभार दिया जाता है। यह स्थिति वर्षों से है। खेल शिक्षक नहीं होने से अभ्यास या गतिविधियों के दौरान विद्यार्थी घायल भी होते हैं।

कहीं इसलिए तो नहीं हो रही लेटलतीफी

वार्षिक खेलकूद में लगातार लेटलतीफी की जा रही है। छात्रसंघ ने खेल मैदान दुरुस्त होने तक छात्राओं के बीच होने वाली प्रतियोगिताओं को संपन्न कराने की बात कहीं थी। लेकिन कॉलेज प्रबंधन ने सभी प्रतियोगिता एक साथ ही कराने को कहा। ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि कॉलेज प्रबंधक आगामी दिनों में आने परीक्षा परिणामों का इंतजार कर रहा है। परीक्षा परिणाम में छात्रसंघ के पदाधिकारी या सीअार को एटीकेटी आती है तो छात्रसंघ छोटा होता जाएगा, वहीं पदाधिकारी भी चपेट में आ सकते हैं। इससे कॉलेज प्रबंधक पर दबाव भी नहीं रहेगा कि वार्षिकोत्सव में क्या करना है और क्या नहीं।

जनभागीदारी से खेल मैदान को दुरुस्त कराया जा रहा है


X

Recommended

Click to listen..