• Hindi News
  • Mp
  • Nagda
  • Nagda News mp news due to savings the nature of the fair was spoiled this time even 30 light was not installed malaviya

बचत के चक्कर में मेले का स्वरूप बिगाड़ा, इस बार 30% लाइट भी नहीं लगी -मालवीय

Nagda News - महाशिवरात्रि मेला आयोजन पर बीते साल 5 लाख 70 हजार की लाइट और सांस्कृतिक कार्यक्रमों पर 18 लाख 50 हजार के खर्च को लेकर...

Feb 22, 2020, 08:21 AM IST
Nagda News - mp news due to savings the nature of the fair was spoiled this time even 30 light was not installed malaviya

महाशिवरात्रि मेला आयोजन पर बीते साल 5 लाख 70 हजार की लाइट और सांस्कृतिक कार्यक्रमों पर 18 लाख 50 हजार के खर्च को लेकर भाजपा बहुमत की नपा परिषद पर कमीशनखोरी का आरोप लगाने वाले कांग्रेस के जिला कार्यकारी अध्यक्ष सुबोध स्वामी जनता को भ्रमित करने की कोशिश कर रहे है। क्योंकि 2019 में नपा द्वारा लगाए गए मेला में लगी लाइट और आमंत्रित कलाकारों के मुकाबले इस बार 30 प्रतिशत लाइट भी नहीं लगाई गई है। जिस मंदिर की प्राचीन विशेषता के कारण 50 साल से भी अधिक समय से चंबल तट स्थित मुक्तेश्वर मंदिर परिसर में मेला लगता आ रहा है। उस मंदिर के परिसर में ही अंधेरा पसरा हुआ है।

यह बात शुक्रवार को मीडिया से चर्चा में नपा परिषद के निवृतमान अध्यक्ष अशोक मालवीय ने कही है। आपने बताया कि बीते साल चंबल सागर मार्ग पर उत्कृष्ट सड़क का काम चल रहा था स्ट्रीट लाइट भी नहीं थी, इधर बायपास मार्ग पर भी रोशनी के लिए हाईमास्ट लगाए गए थे। साथ भव्य प्रवेश द्वारा लगाए गए थे। मंदिर परिसर को एलईडी लाइट से सजाया गया था। इस बार ऐसा कुछ नहीं है। उत्कृष्ट सड़क पर स्ट्रीट लाइट लग चुकी है। प्रवेश द्वारा भी आयोजन के स्तर के अनुरुप नहीं, एलईडी लाइट भी नहीं है, ऐसे में इस बार के मेले में लाइट की व्यवस्था के कम दर मिलने का मतलब पूर्व परिषद द्वारा कमीशनखोरी करना नहीं है। कांग्रेस के विधायक दिलीपसिंह गुर्जर और पार्टी अध्यक्ष ने प्रशासक पर दवाब बनाकर बचत करने के फेर में मेले की भव्यता और उसके स्तर को प्रभावित कर दिया है। जो शहरवासियों की धार्मिक आस्था के साथ खिलवाड़ है। 2019 में मेले में पंकज उधास, कविता पोड़वाल, काॅमेडियन श्याम रंगीला और दिल्ली के चिराग ग्रुप को आमंत्रित किया गया था। जिनका अंतरराष्ट्रीय स्तर पर नाम है, तो उनकी दरें भी उसी के अनुसार होगी, इस बार के मेले में भजन गायक आशा वैष्णव, जूनियर आर्टिस्ट जानी लीवर, कामेडियन चिराग वाधवानी को बुलाया गया है, जिनका स्तर जनता जानती है। अकेले पंकज उधास को ही 13 लाख 50 हजार का भुगतान किया गया। ऐसे में अब जनता बेहतर समझ सकती हैं कि मेले को कांग्रेस कौन से स्तर पर ले जा रही है।

कमीशनखोरी के आरोप पर पूर्व नपा अध्यक्ष का पलटवार

मालवीय व शेखावत ने चर्चा ने की।

80 हजार रुपए का तो बिजली बिल भुगतान ही किया

मालवीय के अनुसार बीते साल शाह डेकारेर्टर्स ने 70 से 80 हजार का भुगतान बिजली कंपनी को ही किया है। जिसके प्रमाण है। कांग्रेस के दवाब में ई-टेडरिंग में भी गोलमाल किया गया है। कम दर देने वाली एजेंसी को कलाकारों को बुलाने का वर्कआर्डर न देकर मनमानी की गई है। शहर के मेले की साख दूर-दूर तक अगर इसकी भव्यता प्रभावित हुई तो इसका जवाब जनता समय आने पर कांग्रेस को देगी।

X
Nagda News - mp news due to savings the nature of the fair was spoiled this time even 30 light was not installed malaviya

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना