पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • Tarana News Mp News Dugari Created In 4 Bigha Collecting Rain Water Will Cultivate Horticulture

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

4 बीघा में बनाई डबरी, बारिश का पानी संग्रहण कर उद्यानिकी खेती करेंगे

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
तहसील मुख्यालय से 18 किमी दूर मक्सी मार्ग पर स्थित गांव पंचायत दुधली में किसान ने पानी का संग्रह के लिए डबरी बनाई है। सोयाबीन की फसल बारिश के पानी में हो जाती है, लेकिन पानी की ज्यादा जरूरत गेहूं और चने की बोवनी के दौरान पड़ती हैं।

बारिश के पानी को संग्रहण करने के लिए 32 वर्षीय किसान नरेंद्र पिता महेश पाटीदार ने 18 लाख खर्च कर डबरी बनवाई है। किसान नरेंद्र बताया बारिश का पानी संग्रहित करेंगे और उसका उपयोग उद्यानिकी फसल में किया जाएगा। कुल 4 बीघा में यह डबरी बनाई है।

1 करोड़ से 2 करोड़ पानी होगा संग्रहण

नरेंद्र पाटीदार ने 18 लाख खर्च कर डबरी बनवाई है

उद्यान अधीक्षक सुनील राठौर ने बताया 30 से 40 बीघा लहसुन, प्याज, आलू व अन्य उद्यानिकी फसल की जा सकती है। 1 करोड़ 80 लाख से दो करोड़ लीटर पानी का संग्रहण इस डबरी में किया जा सकेगा। तराना विकासखंड में लगभग 12 ऐसे तालाबों में प्लास्टिक लाइनिंग के तालाब बने हुए हैं।

100 बीघा में 3 बार दिया जाएगा पानी, इसका उपयोग लहसुन, प्याज में किया जाएगा

4 बीघा में बनी डबरी 27 फीट गहरी है एवं 60 फीट चौड़ी है। 225 बाय 500 इसका क्षेत्रफल है। पानी जमा होने पर कुल 100 बीघा कृषि भूमि को 3 बार तक सिंचित किया जा सकता है। इस संग्रहित पानी का उपयोग लहसुन, प्याज, आलू की बोवनी में किया जाएगा। डबरी में 1400 घंटे यानी 58 दिनों तक का पानी संग्रहित किया जा सकता है। इससे पहले गांव गांगलीयाखेड़ी में किसान जगदीशचंद्र पिता गोपाल सिंह पाटीदार ने भी फरवरी 2018 में डबरी के पानी का संग्रह किया था। किसान द्वारा पांच बीघा में लहसुन, 9 बीघा में आलू एवं चार बीघा में प्याज की खेती की थी।

बीए आैर बीकॉम में बढ़ रही विद्यार्थियों की रुचि

पहले चरण में सबसे ज्यादा इन्हीं में एडमिशन

उज्जैन| कॉलेजों में प्रवेश के लिए चल रही ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया में स्नातक स्तर का प्रथम चरण पूरा हो गया है। नए ट्रेंड में विद्यार्थियों की रुचि बीए आैर बीकॉम में प्रवेश के लिए बढ़ी है। चार शासकीय कॉलेजों में से तीन कॉलेजों में सबसे अधिक एडमिशन इन्हीं दो पाठ्यक्रमों में हुए हैं।

पहले चरण में कुल आवंटित सीटों की तुलना में सबसे अधिक एडमिशन शासकीय कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय में हुए हैं। प्रभारी प्राचार्य डॉ. उल्का यादव ने बताया कुल आवंटित सीटों के मुकाबले 73.64 फीसदी छात्राओं ने पहले चरण में प्रवेश लिया। वहीं आंकड़ों के लिहाज से शासकीय माधव कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय में सबसे ज्यादा विद्यार्थियों ने एडमिशन लिए हैं। प्रभारी प्राचार्य डॉ. मंसूर खान ने बताया कॉलेज में आवंटित कुल सीटों पर 66.43 प्रतिशत छात्र-छात्राओं ने प्रवेश लिया है। इधर बीएससी में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों की पसंद अभी भी शासकीय माधव साइंस कॉलेज बना हुआ है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति पूर्णतः अनुकूल है। बातचीत के माध्यम से आप अपने काम निकलवाने में सक्षम रहेंगे। अपनी किसी कमजोरी पर भी उसे हासिल करने में सक्षम रहेंगे। मित्रों का साथ और सहयोग आपकी हिम्मत और...

    और पढ़ें