• Hindi News
  • Mp
  • Nagda
  • Nagda News mp news jhalawar39s teen turned out to complete the task of online games rail police found the bogie check of deluxe janta express

ऑनलाइन गेम का टास्क पूरा करने मुंबई निकला झालवाड़ का किशोर, रेल पुलिस ने डीलक्स-जनता एक्सप्रेस की बोगी चेक की तो मिला

Nagda News - जीआरपी ने किशोर को परिजनों के सुपुर्द कर रवाना किया भास्कर संवाददाता | नागदा ऑनलाइन गेम का टास्क पूरा करने के...

Oct 12, 2019, 08:36 AM IST
जीआरपी ने किशोर को परिजनों के सुपुर्द कर रवाना किया

भास्कर संवाददाता | नागदा

ऑनलाइन गेम का टास्क पूरा करने के लिए घर से बिना बताएं ट्रेन से मुंबई के लिए झालावाड़ का किशोर निकल गया था। इसकी सूचना जैसे ही डीआरएम को मिली, उन्होंने ट्विटर पर जानकारी दी। इसके बाद जीआरपी सतर्क हो गई। ट्रेनों में चेकिंग शुरू कर दी। नागदा में जनता एक्सप्रेस की चेकिंग के दौरान ट्रेन के स्लीपर कोच में अकेला बच्चा मिल गया। जिसे उसके परिजनों को सौंपा गया।

नागदा जीआरपी चौकी प्रभारी आरपी नागर ने बताया उन्हें मैसेज मिला था कि झालावाड़ से बच्चा घर से बिना बताएं मुंबई के लिए निकला हैं। इस पर रेल पुलिस ने नागदा से यहां से मुंबई जाने वाली एक्सप्रेस ट्रेन की चेकिंग की। जीआरपी और आरपीएफ ने पहले डीलक्स की चेकिंग की, जिसमें बच्चा नहीं था। थोड़ी देर में नागदा पहुंची जनता एक्सप्रेस की भी चेकिंग की। इसमें स्लीपर कोच में बच्चा अकेला मिला। चौकी प्रभारी नागर ने बताया बच्चे ने अपनी कोचिंग में पढ़ने वाले दोस्तों को बताया था कि वह गेम का टास्क पूरा करने के लिए मुंबई जाने वाला है। बच्चे के निकलने के बाद परिजनों ने उसकी तलाश की तो यह बात सामने आई। तब उन्होंने झालावाड़, कोटा से लेकर रतलाम तक सभी मुंबई जाने वाली ट्रेनों में पड़ताल शुरू की और नागदा पहुुंचे। जीआरपी और आरपीएफ ने परिजनों को साथ लेकर संयुक्त चेकिंग अभियान चलाया तो बच्चा मिला। चौकी प्रभारी नागर के मुताबिक झालावड़ थाने में बच्चे की गुमशुदगी दर्ज थी, इसलिए उसे परिजनों के साथ रवाना कर दिया।

डीआरएम के ट्वीट के बाद सक्रिय हुआ था रेल अमला

बच्चा बुधवार शाम अपने घर से गायब हुआ था। परिजनों ने अपने परिचित रतलाम निवासी प्रभु राठौड़ से मदद मांगी, जिन्होंने एम.पी गोस्वामी को रात 1.30 बजे घटनाक्रम बताया। गोस्वामी ने रात में बच्चे का फोटो सहित रतलाम आरपीएफ, डीआरएम को ट्वीट किया। रतलाम डीआरएम ने संज्ञान लिया और ट्वीट करने के चंद मिनटों में ही डीआरएम कोटा, जयपुर, अजमेर, मुंबई आरपीएफ आदि को भेजकर स्टेशनों पर सर्च करने को कहा। रेलवे अधिकारी परिजनों से फोन पर चर्चा करने के साथ ही एक दूसरे से ट्रेनों और उसे ढूंढने की कार्रवाई की अपडेट डालते रहे।

आर्मी में है किशोर के पिता- बालक के पिता आर्मी में सेवारत है। मां गृहिणी है। परिजनों ने बताया कि बालक कुछ समय से मोबाइल में ऑनलाइन गेम खेल रहा था। इस गेम में भी टास्क दिए जाते हैं और गेम खेलने वालों का ग्रुप बन जाता है। जिसमें वह चैटिंग भी कर सकते हैं। इसी गेम में मुंबई के लड़कों के संपर्क में आकर बालक घर पर बिना बताए घर से निकल गया था। तत्काल परिजनों की पड़ताल और रेलवे अधिकारियों की संवेदनशीलता के चलते वह परिजनों को मिल गया।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना