5 दिन बारिश के बाद छठे दिन राहत, सुबह और दोपहर में रिमझिम के बाद खुला मौसम

Nagda News - चंबल में लगातार बाढ़ से मंदिर और मुक्तिधाम के पास गुजर रहे रास्तों को नुकसान पहुंचाया है। फिलहाल पानी सीसी रपट के...

Bhaskar News Network

Sep 17, 2019, 08:41 AM IST
Nagda News - mp news relief on sixth day after 5 days of rain open weather after rimjhim in morning and afternoon
चंबल में लगातार बाढ़ से मंदिर और मुक्तिधाम के पास गुजर रहे रास्तों को नुकसान पहुंचाया है। फिलहाल पानी सीसी रपट के आधे हिस्से तक है। रपट के अंदर तक पानी रिसने से इसका कुछ हिस्सा कट चुका है। मौके पर ड्यूटी दे रहे पुलिसकर्मियों ने पत्थर फंसाकर खड़े रहने की वैकल्पिक व्यवस्था की है, वरना जमीन का निचला तल इतना गल चुका है कि इस जगह पर ज्यादा वजन आया तो रपट बह सकती है इससे बड़ा हादसा हो सकता है। पुलिसकर्मियों ने बताया बीती रात चंबल का जलस्तर बढ़ने के बाद रपट कटने लगी, इसके बाद ताबड़तोड़ यह व्यवस्था की। वहीं मुक्तिधाम के पास गुजर रहे रास्ते की मिट्टी भी कट चुकी है। गौरतलब है कि गणेश विसर्जन के दौरान इसी जगह से खड़े रहकर कुछ लोगों ने प्रतिमाएं विसर्जित की थी, शुक्र है तब कुछ ऐसा हुआ नहीं।

इधर, सोमवार सुबह रिमझिम बारिश के बाद दिनभर पानी नहीं बरसा। दोपहर में हल्की धूप भी निकली, लेकिन कैचमेंट एरिया में लगातार बारिश से चंबल का जलस्तर दोबारा बढ़ गया। रविवार शाम पानी पुलिया के नीचे से बह रहा था, लेकिन रातभर में पानी बढ़कर मंदिर की छत तक पहुंच गया। अभी माता मंदिर के साथ हनुमान डेम से भी पानी पूरे बहाव के साथ बह रहा, जिसकी लहरे लगभग 5 फीट ऊंची उठ रही हैं।

13 दिन बाद नवरात्र, जर्जर हिस्से ठीक कराना जरूरी

29 सितंबर से शारदीय नवरात्र शुरू हो रहे हैं। पानी उतरने पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु इसी रपट से होकर मंदिर पहुंचेंगे। ऐसे में पानी उतरते ही प्रशासन को पहले यह कटाव ठीक कराना जरूरी है। वरना सड़क पर अधिक दबाव के कारण रपट का हिस्सा गिर भी सकता है। प्राचीन मंदिर होने से नवरात्र के नौ दिन यहां श्रद्धालुओं का दबाव रहेगा। ज्यादातर लोग दो व चार पहिया वाहन लेकर भी पहुंचेंगे। अंतिम दिन प्रतिमा विसर्जन के लिए ट्रैक्टरों का दबाव रहेगा।

मंदिर की रपट में दरार, पुलिसकर्मियों ने पत्थर फंसाए, मुक्तिधाम के पास रास्ते की मिट्टी भी कटी, कैचमेंट एरिया में बारिश से माता मंदिर फिर जलमग्न

जिले की सातों तहसील की बारिश पर एक नजर


पिछले साल : 31.92


पिछले साल : 29.37


पिछले साल : 19.72


पिछले साल : 25


पिछले साल : 33.66


पिछले साल : 18.58


पिछले साल : 21.33

नीम के पेड़ की पत्तियां झड़ी

इस बार ज्यादा बारिश से पतझड़ जैसे हालात हो गए हैं। पाड़ल्या रोड पर सालों पुराना नीम के पेड़ की पत्तियां झड़ रही हैं, जिससे पेड़ की डालियां नजर आ रही हैं। हर साल बारिश में पेड़ की ऐसी हालात नहीं होती। इस बार बारिश से पेड़ के निचले हिस्से की पत्तियां झड़ गईं।

Nagda News - mp news relief on sixth day after 5 days of rain open weather after rimjhim in morning and afternoon
X
Nagda News - mp news relief on sixth day after 5 days of rain open weather after rimjhim in morning and afternoon
Nagda News - mp news relief on sixth day after 5 days of rain open weather after rimjhim in morning and afternoon
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना