पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

उन्हेल| हर कोई कहता है पाप का घड़ा एक दिन

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
उन्हेल| हर कोई कहता है पाप का घड़ा एक दिन भरता है, लेकिन पुण्य का भी भरता है। इसका कोई उल्लेख नहीं करता है। इस पर ध्यान देना चाहिए कि पुण्य का घड़ा क्यों नहीं भरता, क्योंकि हम पुण्य के कार्यों का बखान करते हैं, जबकि पाप को छिपाने का प्रयास करते हैं। यह बात बुधवार को पोरवाल धर्मशाला में आचार्य प्रवर दिव्यानंद सूरीश्वरजी निराले बाबा ने धर्मसभा में कही। उन्होंने कहा पाप का प्रचार भी करना चाहिए और पुण्य को छिपाना चाहिए। यह असंभव है। इसी असंभव को संभव में बदलकर मुक्ति का मार्ग प्रशस्त किया जा सकता है। शारीरिक शृंगार के चक्कर में हम भारतीय संस्कृति का विनाश करने में लगे हुए हैं, जबकि हमें भारतीय संस्कृति का विकास करना चाहिए। माता पदमावती देवी की आरती का लाभ नप उपाध्यक्ष लाला ईश्वर सोनी परिवार ने लिया। इस दौरान जयंतीलाल जैन, सुभाष जैन, जयंतीलाल कटारिया, अशोक कटारिया, अनिल जैन, प्रकाश जैन, मयंक गांधी, सुरेश बम, नीतेश पिचोलिया, सुनील जैन का बहुमान चातुर्मास समिति द्वारा किया गया। इस मौके पर ज्ञानचंद जैन, बनेसिंह ठाकुर, वर्धमान जैन, विक्रमसिंह ठाकुर, भगवानसिंह विमल जैन आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...