--Advertisement--

90 रु. चोरी के मामले में वृद्ध ने 12 साल बाद आरोपी को समझाइश के बाद किया माफ

Nagda News - दो बच्चों के साथ अलग रह रहे दंपति हुए एक भास्कर संवाददाता | महिदपुर कोर्ट परिसर में शनिवार को नेशनल लोक अदालत...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 03:50 AM IST
Mahidpur News - rs 90 in case of theft aged 12 years after the accused was forgiven
दो बच्चों के साथ अलग रह रहे दंपति हुए एक

भास्कर संवाददाता | महिदपुर

कोर्ट परिसर में शनिवार को नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया। इसमें विभिन्न प्रकरणों का निराकरण आपसी समझाइश के आधार पर कराया गया। एक प्रकरण रोचक रहा। इसमें भगवानसिंह पिता हेमराज पारदी निवासी मालीखेड़ी (उन्हेल) ने 15 अक्टूबर 2006 को सब्जी मंडी के पास से धुलेट निवासी मांगीलाल पिता कान्हा की जेब से 90 रुपए चुरा लिए। उसे रंगेहाथों पकड़ पुलिस को सौंप दिया। इसके बाद आरोपी गायब रहा। उसके खिलाफ स्थाई वारंट निकाला गया। पिछले 15 दिनों से वह जेल में था। मामले में न्यायाधीश एमपी नामदेव की समझाइश पर 75 वर्षीय मांगीलाल ने 35 वर्षीय भगवानसिंह को राजीनामा कर माफ कर दिया।

इसी प्रकार मुस्कान बी 2 साल के बेटे जुबेर व पति जाहिद निवासी आलोट 4 साल के बेटे अनस के साथ करीब 4 माह से अलग-अलग रह रहे थे। न्यायाधीश नामदेव की समझाइश के बाद बच्चों के भविष्य को देखते हुए दोनों साथ में रहने को राजी हुए। निराकृत हुए प्रकरणों में पक्षकारों को पौधे प्रदान किए गए।

आरंभ में मां सरस्वती का पूजन व दीप प्रज्ज्वलन किया गया। एडीजे मुकेश नाथ, न्यायाधीश एमपी नामदेव, न्यायाधीश विकसिता मरकाम, उर्मिला चौहान, सीएमओ शिवप्रसाद धुर्वे सहित अभिभाषक, विभागों के अधिकारी, पक्षकार मौजूद थे। इस बार पक्षकारों की सुविधा के लिए एक ही स्थल पर पास-पास में बैंक, बिजली, टेलीफोन, नगर पालिका अधिकारी, कर्मचारी बैठक की विशेष व्यवस्था कर प्रकरण सुने गए। लोक अदालत में एडीजे न्यायाधीश मुकेश नाथ की कोर्ट में 56 प्रकरणों का निराकरण हुआ। जिसमें मोटर व्हीकल एक्ट, बिजली कंपनी व अन्य आपराधिक प्रकरणों में करीब 10 लाख रुपए की वसूली हुई। न्यायाधीश एमपी नामदेव की कोर्ट में 20 प्रकरणों का निराकरण हुआ। प्री-लिटिगेशन जिसमें बैंक, नपा की करीब 9 लाख 55 हजार रुपए की वसूली हुई। न्यायाधीश विकसिता मरकाम की कोर्ट में 4 आपराधिक प्रकरणों का निराकरण हुआ। जिसमें धारा 138 के मामले में 3 लाख 85 हजार रुपए की वसूली हुई। न्यायाधीश उर्मिला चौहान की कोर्ट में 12 प्रकरणों का निराकरण हुआ। धारा 138 के मामले में 4 लाख 85 हजार रुपए की वसूली हुई। इसी प्रकार राजस्व विभाग में एसडीएम कोर्ट व तहसीलदार कोर्ट में 170 प्रकरणों का निराकरण हुआ।

तराना में लाेक अदालत में प्रकरणों का निराकरण

तराना | तहसील स्तर पर नेशनल लोक अदालत का आयोजन शनिवार को हुआ। इसमें राजीनामा योग्य प्री-लिटिगेशन एवं न्यायालयों में लंबित प्रकरण रखे गए। न्यायाधीश श्रीकृष्ण डागलिया के न्यायालय में प्री-लिटिगेशन के 202 प्रकरणों में 27 हजार 460 रुपए की राशि का समझौता हुआ। साथ ही लंबित प्रकरणों में कुल 150 में से 10 प्रकरणों का निपटारा हुआ। अपर न्यायाधीश एस. पाल के न्यायालय में पेंडिंग प्रकरण में 16 से 10 प्रकरणों का निपटारा हुआ। न्यायाधीश वंदना मालवीय के न्यायालय में 189 में से 10 एवं विधि डागलिया के न्यायालय में 46 में से 6 प्रकरणों का निपटारा हुआ।

X
Mahidpur News - rs 90 in case of theft aged 12 years after the accused was forgiven
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..