• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Narsinghgarh
  • लोग बीमार हो रहे हैं, फिर भी जहरीली गैस रोकने 3 माह में नपा ने एस्टीमेट नहीं बनाया
--Advertisement--

लोग बीमार हो रहे हैं, फिर भी जहरीली गैस रोकने 3 माह में नपा ने एस्टीमेट नहीं बनाया

भास्कर संवाददाता| नरसिंहगढ़ वर्षों से लोगों की सेहत के लिए खतरनाक बने दुग्ध शीतकेंद्र के जहरीले सीवेज के...

Danik Bhaskar | Apr 04, 2018, 03:00 AM IST
भास्कर संवाददाता| नरसिंहगढ़

वर्षों से लोगों की सेहत के लिए खतरनाक बने दुग्ध शीतकेंद्र के जहरीले सीवेज के निपटारे के लिए शीत केंद्र और नगर पालिका कुछ नहीं कर रहे हैं। इसके लिए 3 महीने पहले लोगों ने प्रदर्शन भी किया था। तब शीत केंद्र की मांग पर नपा ने वादा किया था कि 15 दिनों में सीवेज के व्यवस्थित निपटारे के लिए पाइप लाइन बिछाने का एस्टीमेट तैयार करके दे दिया जाएगा, लेकिन यह काम आज तक नहीं हुआ है। इस मामले में शीत केंद्र नपा के भरोसे ही बैठा है। अपने स्तर पर कुछ नहीं कर रहा है और इस सब के बीच इस क्षेत्र में रहने वाले लोगों की तकलीफें बढ़ रही हैं। 2 साल का एक बच्चा तस्मै पहले ही इस जहरीले केमिकल की गैस की वजह से अपनी आंखें खो चुका है और वर्तमान में 10 से ज्यादा लोग आंखों ,सीने और त्वचा के इंफेक्शन से परेशान हैं।

विभागों के आपसी तालमेल की कमी से बड़ा महादेव की पुलिया से निकल रहा सीवेज

नगर पालिका और दुग्ध शीत केंद्र एक दूसरे पर जवाबदारी डाल रहे हैं

बड़े महादेव के रास्ते पर नाले से अभी भी केमिकल वेस्ट खुले में बह रहा है।

नाले से निकलने वाली जहरीली गैस व बदबू से श्रद्धालु भी परेशान

इस रास्ते से होकर बड़ी संख्या में लोग रोजाना प्राचीन श्री बैजनाथ बड़ा महादेव शिवालय,हिंगलाज माता मंदिर और श्री सद्गुरु आश्रम में दर्शन के लिए जाते हैं। नाले से उठने वाली जहरीली गैस की बदबू से यह सब भी परेशान हैं। लेकिन बार-बार मांग के बाद भी प्रशासन इस के स्थाई निराकरण के लिए कुछ नहीं कर रहा है। इसी सीवेज के दलदल में फंसने से 3 महीने पहले 2 गोवंश की मौत भी हो चुकी है।स्थानीय लोगों की सुरक्षा के लिए भी यह खतरनाक है क्योंकि कई बच्चे भी इस खुले हुए नाले के आसपास खेलते रहते हैं।

बहुत आसान है समस्या का समाधान

करीब 6 साल पहले सीवेज का पाइप क्षतिग्रस्त हो गया था। इसके बाद सीवेज नाले में खुले में ही बहने लगा केवल क्षतिग्रस्त पाइप लाइन को बदलकर नई पाइप लाइन डालनी है। लेकिन इतने से काम को भी नगर पालिका और शीतकेंद्र नहीं कर रहे हैं।

हमने नोटिस भी दिया है