--Advertisement--

विश्व की मंगल कामना के साथ श्रृद्धालुओं ने दीं आहुतियां

Dainik Bhaskar

Apr 09, 2018, 05:40 AM IST

Narsinghgarh News - भास्कर संवाददाता| नरसिंहगढ़ 108 कुंडीय गायत्री महायज्ञ की प्रारंभिक आहुतियां रविवार को दी गईं।श्रद्धालुओं ने...

विश्व की मंगल कामना के साथ श्रृद्धालुओं ने दीं आहुतियां
भास्कर संवाददाता| नरसिंहगढ़

108 कुंडीय गायत्री महायज्ञ की प्रारंभिक आहुतियां रविवार को दी गईं।श्रद्धालुओं ने नगर के साथ देश और विश्व के कल्याण की कामना के साथ यज्ञ में आहुतियां दीं। पहले चरण के लिए 700 श्रद्धालुओं ने पंजीयन करवाए। महायज्ञ की पूर्णाहुति 10 अप्रैल को होगी।

व्यक्तिगत सुधार से समाज में बदलाव आएगा

रात्रिकालीन सत्र युग संगीत और प्रवचन पर आधारित है। महायज्ञ संपन्न करवा रहे शांतिकुंज हरिद्वार की टोली के नायक श्याम बिहारी दुबे ने शनिवार रात को अपने व्याख्यान में कहा कि व्यक्तिगत सुधार से ही देश और समाज में सकारात्मक बदलाव आते हैं। हर व्यक्ति अपने समाज की मूल इकाई है। ऐसी अनगिनत इकाइयों से मिलकर किसी भी संगठन, समाज या देश का निर्माण होता है।

उन्होंने कहा कि पूज्य गुरुदेव ने राष्ट्र और समाज की सेवा को आध्यात्म का मार्ग माना है। समाज की बुराइयों को दूर करने के लिए हर व्यक्ति को आगे आना होगा। यह सदी एक बड़े बदलाव की साक्षी बनेगी। महाकाल की आज्ञा से युग निर्माण के इस महाअभियान में सम्मिलित होने वाला हर व्यक्ति वास्तव में मानवता के सिपाही की भूमिका में पहचाना जाएगा।

आयोजन

महायज्ञ के साथ प्रवचन के जरिए भी लोगों को धर्म-आध्यात्म और मानवता के बारे में बताया जा रहा है

महायज्ञ के पहले दिन बड़ी संख्या में पहुंचे श्रद्धालुओं ने आहुतियां दी।

35 सालों से कर रहे हैं मिशन का प्रचार प्रसार

शांतिकुंज हरिद्वार के टोली नायक श्याम बिहारी दुबे ने कम उम्र में ही सन 1968 में अशोक नगर में पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य से प्रत्यक्ष दीक्षा ली थी और सन 1982 में नायब तहसीलदार की नौकरी छोड़कर पूरी तरह से गायत्री मिशन के प्रचार प्रसार में जुट गए। वर्तमान में वे शांतिकुंज हरिद्वार में नौ दिवसीय नवरात्रि साधना के प्रभारी और मध्य प्रदेश जोन के विशेष मार्गदर्शक हैं। पिछले दशकों में इंग्लैंड, स्वीडन, ऑस्ट्रेलिया समेत कई देशों में गायत्री मिशन के आध्यात्मिक संदेश का प्रचार-प्रसार कर चुके हैं।

X
विश्व की मंगल कामना के साथ श्रृद्धालुओं ने दीं आहुतियां
Astrology

Recommended

Click to listen..