नसरुल्लागंज

  • Home
  • Madhya Pradesh News
  • Nasrullaganj
  • सुबह खेली रंगों की होली, दोपहर बाद आदिवासी कलाकारों ने सुनाई फाग
--Advertisement--

सुबह खेली रंगों की होली, दोपहर बाद आदिवासी कलाकारों ने सुनाई फाग

भास्कर संवाददाता| नसरुल्लागंज/इछावर/रेहटी होली का पर्व क्षेत्र में रंग गुलाल की बौछार के साथ उत्साह, उमंग व...

Danik Bhaskar

Mar 04, 2018, 03:25 AM IST
भास्कर संवाददाता| नसरुल्लागंज/इछावर/रेहटी

होली का पर्व क्षेत्र में रंग गुलाल की बौछार के साथ उत्साह, उमंग व शांति पूर्ण रूप से शनिवार को मनाया गया। नगर में युवकों व नागरिकों की अलग- अलग टोलियों ने रंग-बिरंगी गुलाल लगाकर आपस में पर्व की शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर नगर के नागरिकों ने नगर में शोक संतृप्त परिवारों के घरों में पहुंचकर गुलाल डाली तथा परिजनों को अपनी संवेदनाएं व्यक्त की। पर्व पर नगर के नागरिकों ने नगर के मुस्लिम समुदाय के लोगों को भी गुलाल लगाकर पर्व की बधाइयां दी। पांच दिवसीय यह पर्व रंग पंचमी तक मनाया जाएगा। दोपहर बाद नगर के गांधी चौक छोटा बाजार में एक मेले का आयोजन किया गया। नगर में ग्रामीण क्षेत्रों से आई आदिवासियों की फाग मंडलियों ने जगह- जगह अपनी टोलियों के साथ पहुंचकर फाग भजनों की प्रस्तुति दी।

नगर के राय साहब भंवर सिंह महाविद्यालय में विद्यार्थियों द्वारा प्रबंधन के साथ रंग-बिरंगी गुलाल लगाकर होली पर्व मनाया गया। इस अवसर पर वॉयस प्रिसिंपल वॉयएस चंदेल सहित बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं व स्टाफ मौजूद था।

गांवों जाकर दिया पानी बचाने का संदेश

भास्कर संवाददाता| बिशनखेड़ी

गांव में राष्ट्र हिंदू सेना संगठन के कार्यकर्ताओं ने होली पर्व बड़े ही उत्साह के साथ मनाया। इस दौरान संगठन के कार्यकर्ताओं ने गुलाल से होली खेली। साथ ही ग्रामीणों को होली गुलाल से होली खेलने के लिए प्रेरित किया। शुक्रवार को राष्ट्र हिंदू सेना संगठन ने भजन कीर्तन करते हुए लोगों के घर पहुंचे और गुलाल के पैकेट बांटे। साथ ही उन्हें सूखी होली खेलने के लिए प्रेरित किया और पानी बचाने का संदेश दिया। रात के समय भजन कीर्तन का आयोजन किया गया। बिशनखेड़ी ग्राम इकाई के अध्यक्ष अशोक नागर, सचिव उपाध्यक्ष प्रवेश नागर, मंत्री हरिओम पांचाल, महामंत्री नीलेश नागर, मीडिया प्रभारी बृजेश किशोर, उप मीडिया प्रभारी जितेंद्र, रवि नागर, रोहित नागर, अमन नागर आदि मौजूद थे।

मां महिषासुर मर्दिनी के दरबार में 5 को लगेगा मेला

बिलकिसगंज| प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी बिलकिसगंज मां महिषासुर मर्दिनी दरबार में विशाल मेला लगेगा। यह मेला चैत्र मास की तीज और चतुर्थी को लगता है। इसमें बड़ी संख्या में आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से लोग मां के दर्शन के लिए आते हैं। यहां जो भी भक्त मन्नत मांगता है वह पूरी होती है। यह मेला कब से शुरू हुआ इसका कोई सही प्रमाण नहीं है परंतु आज से 40-45 साल पहले से यहां पर मां विराजित हैं। यहां पर पहले एक एक थोड़ा सा हिस्सा दिखाई देता था। इसके बाद यहां की पूजा करने वाले जगन्नाथ नाथ ने ग्राम वासियों से निवेदन करके यहां की खुदाई कराई। यहां से मां महिषासुर मर्दिनी की बहुत बड़ी प्रतिमा निकली एवं 8 बोरी सिंदूर निकला। इसको नर्मदा में विसर्जित किया गय। मेले में निशान गांव के पटेल के यहां से रात 12 बजे निकाला जाता है।

रंग गुलाल की बौछारों के साथ उत्साह से मना होली पर्व

नगर में एक दूसरे को गुलाल लगाकर होली की शुभकामनाएं देते हुए लोग।

मेले में बच्चों ने खरीदे खिलौने

इछावर. शिशगरपुरा स्थित बड़ी होली पर नगर की महिलाएं बड़ी संख्या में पूजन करने पहुंची। दूज के दिन दिन भर रंगों की बौछारें चलती रहीं। होलिका दहन के साथ ही गैर निकाली गई। सुबह से लोग होली सेंकने पहुंचे। किसानों ने होली में गेहूं की बालियां सेंक कर खाई और मवेशी को खिलाने के लिए नमक सेंका। इस बार भी 18 स्थानों पर होलिका दहन किया गया। वहीं मंगलवार को दूज के दिन नगर में जमकर रंग-गुलाल हुआ युवकों की टोलियों ने ढोल की थाप पर जमकर नृत्य किया। शाम को खेड़ीपुरा से बाबा रामदेवजी का निशान गिलामनी माता मंदिर पहुंचा और रामदेवजी की पूजन के बाद निशान चढ़ाया गया। इसके बाद होली की जत्रा शुरू हुई इसमें बड़ी संख्या में बच्चों ने खेल-खिलौने खरीदे।

बसें नहीं चलने से सड़कों पर रहा सन्नाटा

आष्टा| शुक्रवार को होली पर्व की शुरूआत होने तथा धुलेंडी होने के कारण बसों का आवागमन बंद रहा। इस कारण नगर के बस स्टैंड पर सन्नाटा देखने को मिला। यहां पर दुकानें भी बंद होने के कारण सूनापन देखने को मिला। शनिवार से बसों का आवागमन शुरू हो सका।

शुक्रवार को धुलेंडी होने के कारण हर साल की तरह इस बार भी यात्री बसों का आवागमन पूरी तरह से बंद रहा। वहीं यहां के समस्त व्यापारियों ने भी अपने प्रतिष्ठान बंद रखे। सुबह के समय ही इक्का-दुक्का भोपाल-इंदौर की बसों का आवागमन चालू रहा। इसके बाद वह भी बंद हो गईं। बसों के आवागमन नहीं होने के कारण जिन लोगों को अपने रिश्तेदारों में मिलने जाना था वह अपने निजी वाहनों से निकले।

रंगपंचमी पर बंद रहेंगे यात्री वाहन: नगर में रंगपंचमी पर भी यात्री बसों का आवागमन बंद रखा जाता है। हालांकि इस दिन प्रमुख स्थानों पर जत्राएं भराने के कारण इक्का-दुक्का बसों का आवागमन होता है। इस दौरान यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

डोबी में फाल्गुनी मेला आयोजित

डोबी| प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी डोबी में फाल्गुनी मेला आयोजित किया गया। इसमें बड़ी संख्या में लोग आते हैं। मेले का मुख्य आकर्षण भौरा बीम बम्बोल है। यह दो खंभे लकड़ी के बने हैं। इसके ऊपर एक लकड़ी बांधी जाती है। इस पर दो व्यक्ति भौरा बीम के चक्कर लगाते हैं। ऐसी मान्यता है कि बीम बम्बोल के दर्शन से रोग दूर होते हैं। साथ ही भूरा कुमड़ा को काटकर जनता में बांटा जाता है। मेले में फाल्गुनी गीतों की प्रस्तुति सरदार नगर के गायकों ने दी। इससे पूर्व गांव के सरपंच और गणमान्य नागरिकों ने गांव में गैर निकाली और शोक संतृप्त परिवारों के घर जाकर गुलाल लगाया।

500 साल से मनाया जा रहा खांडेराव उत्सव

रेहटी| होली के दिन ही दोपहर 2 बजे के बाद देवतुल्य खांडेराव का उत्सव मनाया जाता है। इस उत्सव में गांव के बीचो-बीच बने 2 स्तंभों पर राड़ लेकर कुछ परिवार की महिलाएं आती हैं और यहां बलि के प्रतीक रूप में भूरा फल की बली दी जाती है और उत्सव मनाया जाता है। इस उत्सव में सैकड़ों लोग शामिल होते हैं। खांडेराव का उत्सव 500 से अधिक वर्षों से निरंतर मनाया जा रहा है। यह उत्सव ग्रामीण क्षेत्र के सैकड़ों गांव में मनाया जाता है। नगर में होली के दिन दोपहर 12 बजे के बाद हाट बजरंग चौक में लगता है। इस बाजार में बड़ी संख्या में ग्रामीण और नगर के लोग पहुंचते हैं। ऐसा बताया जाता है कि चैत्र प्रारंभ होने और नए वर्ष के आगमन की खुशी में लोग मिठाई खाकर नई फसल का उपयोग करने का उत्सव मनाते हैं।

वीर बंबू पर लगा मेला,फाग प्रतियोगिता हुई

शाहगंज| होली के पावन त्योहारों पर पुराना बाजार रामलीला मैदान के वीर बंबू पर दोपहर बाद मेले का आयोजन किया गया। वीर बंबू पर केवट समाज ने परंपरानुसार पूजा अर्चना के बाद भूरा घुमाया। इसमें बड़ी संख्या में ग्रामीण क्षेत्र से लोगों ने पहुंचाकर मेले का आनंद लिया। केवट समाज ने फाग गायन प्रतियोगिता का आयोजन भी कराया। इससे पहले बृजमोहन पटेल के निवास से होली का जुलूस निकाला गया।

Click to listen..