Hindi News »Madhya Pradesh »Neemuch» सर्वे पूरा होते ही शहर की सफाई व्यवस्था फिर पुराने ढर्रे पर पहुंची

सर्वे पूरा होते ही शहर की सफाई व्यवस्था फिर पुराने ढर्रे पर पहुंची

स्वच्छता सर्वेक्षण में शहर को टॉप-10 में लाने का सपना देखने वाली नपा ने सर्वे पूरा होते ही सफाई पर ध्यान देना कम कर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 04, 2018, 03:25 AM IST

सर्वे पूरा होते ही शहर की सफाई व्यवस्था फिर पुराने ढर्रे पर पहुंची
स्वच्छता सर्वेक्षण में शहर को टॉप-10 में लाने का सपना देखने वाली नपा ने सर्वे पूरा होते ही सफाई पर ध्यान देना कम कर दिया है। इसके कारण शहर की सफाई व्यवस्था फिर से पुराने ढर्रे पर पहुंच गई। जगह-जगह गंदगी के ढेर लगने लगे। जिन्हें नपा के सफाई कर्मचारी उठाने के लिए नहीं पहुंच रहे। त्योहार के समय बिगड़ रही व्यवस्था से जनता परेशान होने लगी है। सर्वे के समय नपा अधिकारियों ने दावा किया था कि आगे भी इसी तरह से सफाई होती रहेगी।

शहर के मूलचंद मार्ग, शहाबुद्दीन दरगाह मार्ग, एकता कॉलोनी, रामपुरा दरवाजा क्षेत्र, शिवशक्ति मठ, मिडिल स्कूल ग्राउंड सहित अधिकांश कॉलोनी व मोहल्लों से नियमित कचरा उठाने की व्यवस्था बिगड़ गई है। इन क्षेत्रों में कचरा वाहन चार दिन से नहीं पहुंचे हैं। ऐसे में जगह-जगह के ढेर दिखाई देने लगे हैं। सर्वे से पहले नपा की 22 वाहन प्रतिदिन 55 टन से अधिक कचरा उठाकर ट्रेंचिंग ग्राउंड में पहुंचा रहे थे। लेकिन अब ये वाहन दिखाई ही नहीं दे रहे हैं। जवाहर नगर, हुड़को कॉलोनी, बगीचा नं.10,13 में कचरा गाड़ी निर्धारित समय पर नहीं पहुंच रही है। ऐसे में रहवासी पूर्व में निर्धारित पाइंटों पर ही कचरा डालने लगे हैं। जिनका नपा कर्मचारी उठाव नहीं कर रहे हैं।

फिर शुरू हुआ पॉलीथिन का उपयोग

सिटी शहाबुद्दीन मार्ग पर इस तरह कचरा और पॉलीथिन रास्ते में बिखरी रहती है।

मूलचंद मार्ग पर इस तरह दिख रही है व्यवस्था।

धूल के गुबार से परेशान

नपा ने सर्वे में अच्छे अंक के लिए जनता से सहयोग मांगा, सड़कों की रात में सफाई व धुलाई करवाई। सर्वे पूरा होने के बाद से अधिकारियों ने व्यवस्था पर ध्यान देना ही बंद कर दिया। शहर की जनता को सड़कों से उड़ती धूल के गुबार से परेशानी हो रही है। आरके व्यास, हुड़को कॉलोनी,नीमच।

दुर्गंध से हो रही है परेशानी

शहाबुद्दीन मार्ग पर कचरे ढेर से उड़ती दुर्गंध से लोग परेशान है। नपा ने सफाई पर ध्यान नहीं दिया। रोज हजारों लोगों का यहां से आवागमन होता है। जो नपा की लापरवाही को ताने देते हुए निकलते हैं। कई बार शिकायत करने पर भी जिम्मेदार अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे हैं। आरएल शर्मा, बगीचा नं. 10

सिर्फ दिखावा था नपा का अभियान

स्वच्छता सर्वेक्षण के लिए नपा द्वारा चलाया अभियान सिर्फ दिखावा था। सर्वे करने आई टीम ने भी जहां गंदगी थी वहां का निरीक्षण ही नहीं किया। मूलचंद मार्ग पर कचरे के ढेर व पॉलीथिन सड़कों पर फैल रही। जो सर्वे अधिकारियों व नपा टीम को दिखाई नहीं दी। नपा का अभियान मुख्य सड़कों तक ही सीमित रहा। मूलचंद मार्ग की दशा सुधारने पर ध्यान ही नहीं दिया। अब्दुल हमीद, आंबेडकर कॉलोनी

सर्वे से पहले नपा ने शहर में पॉलीथिन का उपयोग करना प्रतिबंधित कर दिया था। सब्जी मंडी में काउंटर लगाकर नपा कर्मचारियों ने लोगों को सशुल्क कपड़े के थैले बेचे। लेकिन अब यह काउंटर भी बंद हो गया। लोगों ने फिर से पॉलीथिन का उपयोग शुरू कर दिया। दुकानों से सामान भी पॉलीथिन में दिया जा रहा है। कई क्षेत्र ऐसे है जहां दो-तीन दिन से सफाई के लिए कर्मचारी ही नहीं पहुंच रहे हैं। प्राइवेट बस स्टैंड, पठारी मोहल्ला, धनेरिया मार्ग क्षेत्र सहित करीब एक दर्जन स्थानों पर कचरे का अंबार लगा हुआ है।

त्योहार के कारण प्रभावित हुई व्यवस्था

हाेली पर दो दिन का अवकाश होने के कारण सफाई व्यवस्था प्रभावित हुई है। सफाई कर्मचारी एक महीने से लगातार काम कर रहे थे। सर्वे के बाद अब अवकाश मिला है। लोगों की समस्याओं का प्राथमिकता के साथ समाधान किया जाएगा। शहर में स्वच्छता अभियान पहले की तरह चलता रहेगा। विश्वास शर्मा, प्रभारी सीएमओ, नपा नीमच।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Neemuch News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: सर्वे पूरा होते ही शहर की सफाई व्यवस्था फिर पुराने ढर्रे पर पहुंची
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Neemuch

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×