• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Neemuch
  • सर्वे पूरा होते ही शहर की सफाई व्यवस्था फिर पुराने ढर्रे पर पहुंची
--Advertisement--

सर्वे पूरा होते ही शहर की सफाई व्यवस्था फिर पुराने ढर्रे पर पहुंची

स्वच्छता सर्वेक्षण में शहर को टॉप-10 में लाने का सपना देखने वाली नपा ने सर्वे पूरा होते ही सफाई पर ध्यान देना कम कर...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 03:25 AM IST
स्वच्छता सर्वेक्षण में शहर को टॉप-10 में लाने का सपना देखने वाली नपा ने सर्वे पूरा होते ही सफाई पर ध्यान देना कम कर दिया है। इसके कारण शहर की सफाई व्यवस्था फिर से पुराने ढर्रे पर पहुंच गई। जगह-जगह गंदगी के ढेर लगने लगे। जिन्हें नपा के सफाई कर्मचारी उठाने के लिए नहीं पहुंच रहे। त्योहार के समय बिगड़ रही व्यवस्था से जनता परेशान होने लगी है। सर्वे के समय नपा अधिकारियों ने दावा किया था कि आगे भी इसी तरह से सफाई होती रहेगी।

शहर के मूलचंद मार्ग, शहाबुद्दीन दरगाह मार्ग, एकता कॉलोनी, रामपुरा दरवाजा क्षेत्र, शिवशक्ति मठ, मिडिल स्कूल ग्राउंड सहित अधिकांश कॉलोनी व मोहल्लों से नियमित कचरा उठाने की व्यवस्था बिगड़ गई है। इन क्षेत्रों में कचरा वाहन चार दिन से नहीं पहुंचे हैं। ऐसे में जगह-जगह के ढेर दिखाई देने लगे हैं। सर्वे से पहले नपा की 22 वाहन प्रतिदिन 55 टन से अधिक कचरा उठाकर ट्रेंचिंग ग्राउंड में पहुंचा रहे थे। लेकिन अब ये वाहन दिखाई ही नहीं दे रहे हैं। जवाहर नगर, हुड़को कॉलोनी, बगीचा नं.10,13 में कचरा गाड़ी निर्धारित समय पर नहीं पहुंच रही है। ऐसे में रहवासी पूर्व में निर्धारित पाइंटों पर ही कचरा डालने लगे हैं। जिनका नपा कर्मचारी उठाव नहीं कर रहे हैं।

फिर शुरू हुआ पॉलीथिन का उपयोग

सिटी शहाबुद्दीन मार्ग पर इस तरह कचरा और पॉलीथिन रास्ते में बिखरी रहती है।

मूलचंद मार्ग पर इस तरह दिख रही है व्यवस्था।

धूल के गुबार से परेशान


दुर्गंध से हो रही है परेशानी


सिर्फ दिखावा था नपा का अभियान


सर्वे से पहले नपा ने शहर में पॉलीथिन का उपयोग करना प्रतिबंधित कर दिया था। सब्जी मंडी में काउंटर लगाकर नपा कर्मचारियों ने लोगों को सशुल्क कपड़े के थैले बेचे। लेकिन अब यह काउंटर भी बंद हो गया। लोगों ने फिर से पॉलीथिन का उपयोग शुरू कर दिया। दुकानों से सामान भी पॉलीथिन में दिया जा रहा है। कई क्षेत्र ऐसे है जहां दो-तीन दिन से सफाई के लिए कर्मचारी ही नहीं पहुंच रहे हैं। प्राइवेट बस स्टैंड, पठारी मोहल्ला, धनेरिया मार्ग क्षेत्र सहित करीब एक दर्जन स्थानों पर कचरे का अंबार लगा हुआ है।

त्योहार के कारण प्रभावित हुई व्यवस्था