• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Neemuch
  • पशु-पक्षियों के लिए 150 सकोर व 100 पानी की टंकियां रखेंगे
--Advertisement--

पशु-पक्षियों के लिए 150 सकोर व 100 पानी की टंकियां रखेंगे

गर्मी में बढ़ते तापमान से निजात दिलाने का सबसे सरल साधन पानी है। यह जितना इंसान को जरूरी है उतना ही पशु-पक्षियों के...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 04:10 AM IST
गर्मी में बढ़ते तापमान से निजात दिलाने का सबसे सरल साधन पानी है। यह जितना इंसान को जरूरी है उतना ही पशु-पक्षियों के लिए भी। इंसान तो आसानी से इसकी व्यवस्था कर लेता है। लेकिन पशु पक्षियों को काफी दिक्कत होती है। इसको देखते हुए सामाजिक संगठन और समाजसेवी जुट गए हैं। बेजुबान पशु पक्षियों की प्यास बुझाने के नि:शुल्क सकोरे और पानी टंकी (नाद) लगाने की व्यवस्था की जा रही है।

सात वर्षों से वितरण कर रहे सकोरे-जैन ग्रुप एवं जैन संगिनी ग्रुप के पदाधिकारी 7 वर्ष में 1200 से अधिक सकोरों का नि:शुल्क वितरण कर चुके हैं। इस साल 300 सकोरे का वितरण का लक्ष्य रखा है। पूर्व अध्यक्ष राजेश गोखरु, अध्यक्ष विमल मोगरा, संगिनी सचिव जूही जैन ने बताया 11 अप्रैल से सकोरे बांटे जाएंगे तथा लोगों को घर व पेड़ पर लटका कर नियमित पानी और दाना डालने के लिए प्रेरित किया जाएगा

सेवा का जुनून

गर्मी में पक्षियों की प्यास बुझाने के लिए सकोरे का नि:शुल्क करेंगे वितरण, गोमाता के लिए रखेंगे पानी की टंकियां

बेजुबान पक्षियों की प्यास बुझाने के लिए अब बच्चे भी आगे आने लगे।

गोसेवा संघ दो चरण में चलाए अभियान

राष्ट्रीय गोसेवा संघ द्वारा गोमाता के लिए जनभागीदार से 100 टंकियां (नांद) शहर सहित जिले में लगवाई जाएगी। जिलाध्यक्ष मीनू लालवानी ने बताया पहले चरण में 25 तथा दूसरे चरण में 100 टंकियों का लक्ष्य निर्धारित किया है। पक्षियों की प्यास बुझाने के लिए 150 सकोरे लोगों को नि:शुल्क वितरित किए जाएंगे।

हमारे मित्र हैं पशु-पक्षी

नारकोटिक्स विभाग फैक्ट्री महाप्रबंधक एनएन मीणा अल्कोलाइड फैक्टरी व कॉलोनी में पक्षियों के पानी एवं सकोरे की व्यवस्था कर रहे है। हर वर्ष की तरह इस बार भी 150 से अधिक सकोरे उनके द्वारा लगाए जाएंगे। उन्होंने कहना पशु-पक्षी हमारे मित्र हैं। मूक प्राणियों की सेवा करने से बड़ी कोई सेवा नहीं है। भीषण गर्मी में पशु-पक्षियों को पीने के लिए पानी मिलने से बड़ा सुकून मिलेगा। उन्होंने लोगों से गर्मी में पशु-पक्षियों के लिए सकोरे व टंकी में समय पर पानी भरने का आरोपध किया।