विक्रम सीमेंट फैक्टरी से ठेकेदार के 150 मजदूरों को निकाला, अब परिवार के साथ गेट पर दे रहे धरना

Neemuch News - जिले के जावद तहसील में खोर स्थित विक्रम सीमेंट फैक्टरी में ठेके पर काम करने वाले 150 मजदूरों को निकाल दिया है। इसको...

Dec 04, 2019, 09:51 AM IST
Neemuch News - mp news 150 workers of contractor removed from vikram cement factory now protesting at the gate with family
जिले के जावद तहसील में खोर स्थित विक्रम सीमेंट फैक्टरी में ठेके पर काम करने वाले 150 मजदूरों को निकाल दिया है। इसको लेकर फैक्टरी प्रबंधन के खिलाफ दो दिन से मजदूरों के परिवारों द्वारा फैक्टरी के गेट धरना प्रदर्शन किया जा रहा है। मंगलवार को कुछ लोग कलेक्टाेरेट पहुंचे और कलेक्टर के नाम ज्ञापन नायब तहसीलदार प्रशस्ति सिंह को सौंपकर न्याय की गुहार लगाई।

ज्ञापन में बताया कि फैक्टरी के लोडिंग विभाग में ठेके पर काम करने के लिए वर्ष 2014-15 में फर्म जगदीश ट्रेडिंग कंपनी के माध्यम से सुपरवाइजर समेत 195 कर्मचारियों की नियुक्ति की थी। जो 19 बेल्ट सीमेंट प्रोडक्शन, पैकिंग का काम तीन शिफ्टों में करते थे। धीरे-धीरे कुछ बेल्ट कम करने से कर्मचारी भी कम हो गए। अब 150 परिवार पर रोजी रोटी का संकट आ गया है। जो लोग 20-25 साल से कार्य कर रहे है वे कहां जाए। जगदीश ट्रेडिंग कंपनी द्वारा गलत तरीके से एक पेटी कांट्रेक्टर दामोदरपुरा के सरपंच काे दे दिया। इनके खुद के द्वारा नियुक्त किए गए कर्मचारियों को ड्यूटी देना बंद कर दिया है जो कि श्रम कानून का उल्लंघन है। फैक्टरी प्रबंधन और जगदीश ट्रेडिंग कपंनी के बीच जो अनुबंध हुआ था उसका भी पालन नहीं किया गया है। कंपनी द्वारा कहा गया है कि यहां प्रोडक्शन नहीं है किंतु यहां से तैयार माल पैकिंग किए बिना खुला रैक में भरकर बाहर भेजा जा रहा है इससे यह साबित है कि प्रोडक्शन तो हो रहा है मगर वो पैक नहीं करवाया जा रहा है। मजदूरों को व्यर्थ परेशान किया जा रहा है। कंपनी के पास काम नहीं है तो वह वीआरएस लागू करें। इस की जानकारी 18 महीन में कलेक्टर, श्रम अधिकारी, क्षेत्रीय श्रम आयुक्त भोपाल, मुख्यमंत्री कार्यालय, लेबर कमिश्नर उज्जैन, श्रम मंत्रालय, प्रधानमंत्री कार्यालय को दी गई। मजदूर नेता शैलेंद्रसिंह ठाकुर व किशोर जेवरिया ने कहा कर्मचारियों को न्याय मिलना चाहिए। समस्या का समाधान करना चाहिए। इस प्रकार की परेशानी के कारण पहले भी एक कर्मचारी ने आत्महत्या कर ली है। कहीं ऐसा न हो कि बहुत ज्यादा परेशान होने के कारण इनमें से ओर कोई ऐसा कदम उठा लिया तो इसकी समस्त जिम्मेदारी, जगदीश ट्रेडिंग कंपनी, शासन, अल्ट्राटेक प्रबंधन की रहेगी।

कलेक्टोरेट में विरोध प्रदर्शन करते विक्रम सीमेंट में कार्यरत कर्मचारी।

20 साल से ठेका कंपनी के साथ काम कर रहे थे, अब उत्पादन बंद होने का कहकर बाहर का रास्ता दिखा दिया

X
Neemuch News - mp news 150 workers of contractor removed from vikram cement factory now protesting at the gate with family
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना