रिश्वत लेने के मामले में जिला पेंशन अधिकारी पर अब तक कार्रवाई नहीं

Neemuch News - जिला पेंशन अधिकारी नर्रेटी के संरक्षण में आउटसोर्स चौकीदार जैकी सिंह द्वारा जिला पेंशन कार्यालय में बैठकर नियम...

Jan 16, 2020, 08:30 AM IST
Mandsore News - mp news no action yet on district pension officer for taking bribe
जिला पेंशन अधिकारी नर्रेटी के संरक्षण में आउटसोर्स चौकीदार जैकी सिंह द्वारा जिला पेंशन कार्यालय में बैठकर नियम विरुद्ध विभिन्न शासकीय कार्य किए जाते हैं। वह आए दिन कार्यालय के अधिकारियों व पेंशनरों के साथ लड़ाई-झगड़ा करता है। नर्रेटी रतलाम से अपडाउन करते हैं, जैकी उन्हें रोज मंदसौर रेलवे स्टेशन लेने व छोड़ने जाता है। वह रिश्वत लेकर पीपीओ/जीपीआे (पेंशन आदेश) संधारित करने का कार्य करता है। शासन के महत्वपूर्ण पत्रों को पढ़ता है, जिससे शासकीय गोपनीयता भंग होती है। यही नहीं कार्यालय में बैठकर अधिकारी के लॉग इन, पासवर्ड का उपयोग कर महत्वपूर्ण कार्य का संपादन करता है।

कार्रवाई होने तक अफसर हो जाते सेवानिवृत्त- जेडी

भास्कर संवाददाता | मंदसौर

जिला पेंशन अधिकारी द्वारा विभागीय प्रकरणों के निराकरण के बदले रिश्वत मांगी जाती है। नहीं देने पर मानसिक प्रताड़ना देकर अशोभनीय व्यवहार किया जाता है। इसकाे लेकर उन्हीं के सहायक पेंशन अधिकारी ने कलेक्टर, आयुक्त व उच्च अधिकारियों से एक माह पहले शिकायत की थी। संभागीय टीम ने जांच कर प्रतिवेदन आयुक्त को सौंप दिया बावजूद अब तक संबंधित अधिकारी पर कार्रवाई नहीं हो सकी है। मामले में जेडी का कहना है कि कार्रवाई का कोई निश्चित समय नहीं होता है।

सहायक पेंशन अधिकारी अश्विनी कटारिया ने एक माह पहले की शिकायत में बताया था कि जिला पेंशन अधिकारी विजयसिंह नर्रेटी द्वारा शासकीय कार्य (वेतन निर्धारण, पेंशन प्रकरण, पुनरीक्षित पेंशन प्रकरण आदि) के बदले रिश्वत मांगी जाती है। नहीं देने पर मानसिक और आर्थिक रूप से प्रताड़ित किया जाता है। वेतन निर्धारण के प्रकरणों में नर्रेटी द्वारा रुचि नहीं ली जाती। यहां तक की निराकृत योग्य प्रकरणों को ऑनलाइन करने पर अनावश्यक आपत्ति लेकर रिटर्न कर दिया जाता है। जबकि इन प्रकरणों का निराकरण संबंधित विभाग के कार्यालय प्रमुख द्वारा होता हैं, जिन्हें रिटर्न नहीं कर सकते हैं। आवश्यक कार्य के लिए जाने पर अवकाश निरस्त कर देते तो महंगाई भत्ते का भुगतान नहीं किया जाता है। मौलिक अधिकारों के विरुद्ध कार्यालयीन समय के बाद भी रात के 10-12 बजे तक काम लिया जाता है।

इधर, पेंशन अधिकारी के संरक्षण में आउटसोर्स चौकीदार करता है काम, विभाग की गोपनीयता होती है भंग

कार्रवाई संबंधित अधिकारी के विवेक पर निर्भर


X
Mandsore News - mp news no action yet on district pension officer for taking bribe
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना