कलेक्टर काे देख अस्पताल स्टाफ में मचा हड़कंप, वार्डों में नहीं दिखी सफाई, बीएमअाे काे फटकारा

Neemuch News - कलेक्टर राजीव रंजन मीना बुधवार सुबह करीब साढ़े 10 बजे अमले के साथ अचानक सरकारी अस्पताल पहुंचे। अधिकारियों की...

Bhaskar News Network

Feb 14, 2019, 03:46 AM IST
Manasa News - mp news seeing the collector in the hospital staff stirring in the wards cleaning the bmw
कलेक्टर राजीव रंजन मीना बुधवार सुबह करीब साढ़े 10 बजे अमले के साथ अचानक सरकारी अस्पताल पहुंचे। अधिकारियों की गाडिय़ां देख स्टाफ में हड़कंप मच गया। कर्मचारी अपनी ड्यूटी पर लग गए। ड्यूटी पर दो डॉक्टर थे, एक डॉक्टर अवकाश पर थे। निरीक्षण के दाैरान कई जगह अव्यवस्था दिखाई दी। इस पर कलेक्टर ने बीएमओ से कहा अस्पताल की व्यवस्था में सुधारने के निर्देश दिए।

अस्पताल के जनरल वार्ड, प्रसूति वार्ड, महिला वार्ड काे देखा। मेटरनिटी वार्ड में मरीजों से उपचार व्यवस्था के बारे में जानकारी ली। भोजन और नाश्ते की व्यवस्था के बारे में पूछा। परिसर में पर्याप्त सफाई, प्रकाश की व्यवस्था नहीं होने पर बीएमओ डॉ. डीसी बंसल को सुधार करने के लिए कहा। कलेक्टर से कांग्रेस नेता दिनेश राठौर ने सोनोग्राफी मशीन, रात में डॉक्टरों की ड्यूटी निश्चित करने की मांग की। कलेक्टर ने उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया। भाटखेड़ी बुजुर्ग के नाथूलाल से चर्चा कर उनकी बेटी देवकन्या के उपचार के लिए दी गई दवाइयों के बारे में पूछा। कलेक्टर ने कहा वे आशा कार्यकर्ता की उपस्थिति में नियमित रूप से दवाई का सेवन करवाएं। एक्स-रे कक्ष, पैथोलॉजी, ब्लड स्टोरेज यूनिट एवं फ्रीज में रखी दवाइयों का अवलोकन किया। पोषण पुनर्वास केंद्र एनआरसी का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा रामपुरा, मनासा में गर्भवती महिलाओं को प्रसूति के लिए बेहतर सुविधाएं उपलब्ध होगी तो उन्हें जिला चिकित्सालय नहीं आना पड़ेगा। रामपुरा में डॉ. सुरेंद्र पटेल अवकाश पर थे। डॉ. जियाउल हक मंसूरी व हेमंत पाटीदार ड्यूटी पर मिले।

कलेक्टर के पहुंचते ही वार्डों में मरीजों को स्टाफ ने बांटे कंबल, परिसर की सफाई भी की

सरकारी अस्पताल में कलेक्टर दवाइयों का स्टॉक चेक कर रहे थे। इसी दौरान ऊपरी मंजिल पर मेटरनिटी वार्ड के बाहर और अंदर आनन फानन में सफाई की, प्रसूताओं काे चादर व कंबल ओढ़ाए। यहां निरीक्षण करने पहुंचे कलेक्टर काे वार्ड के बाहर गीला दिखा ताे बाेले सफाई अभी की है। इसके बावजूद कई जगह सफाई नहीं होने से धूल जमी हुई थी। इस पर बीएमओ को सख्त हिदायत दी की व्यवस्था में तत्काल सुधार किया जाए।

कर्मचारियाें ने कहा 10 महीने से नहीं मिला वेतन

निरीक्षण के दौरान एनआरसी के कर्मचारियों ने कलेक्टर से वेतन नहीं मिलने की शिकायत की। रईसा रंगरेज, संगीता राठौर और गायत्री बागड़ी ने बताया अप्रैल 2018 से वेतन नहीं मिला है। बीएमओ, सीएमएचओ, सीएम हेल्पलाइन पर भी शिकायत की लेकिन कोई हल नहीं निकला है। कलेक्टर ने जांच कर कार्रवाई की आश्वासन दिया।

मनासा सरकारी अस्पताल के प्रसूती वार्ड की व्यवस्था देखते कलेक्टर।

एक-एक दिन का वेतन काटने के आदेश

कलेक्टर ने 10 जनवरी को मनासा में स्कूलों, मार्केटिंग सोसायटी और कृषि उपज मंडी का औचक निरीक्षण किया था। उस समय 24 कर्मचारी और शिक्षक नदारद मिले थे। इनकाे नाेटिस देकर जवाब तलब किया। संतोषपूर्वक जवाब नहीं अाने पर सभी का एक-एक दिन का वेतन काटने के आदेश दिए।

छात्रावास में लगाए वाटर कूलर, परिसर की नगर परिषद करेगी सफाई

कलेक्टर ने रामपुरा में शासकीय बालक सीनियर छात्रावास, पोस्ट मैट्रिक छात्रावास एवं बालिका छात्रावास का निरीक्षण किया। छात्र-छात्राओं से चर्चा कर उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी ली। छात्रावासों में विद्यार्थियों के लिए पृथक से रीडिंग रूम स्थापित करने के निर्देश दिए। छात्रों की मांग पर तहसीलदार काे फुटबॉल, वॉलीबाल की व्यवस्था करने काे कहा। नगर परिषद को शासकीय बालक सीनियर छात्रावास में वाटर कूलर, शौचालय की लाइन की मरम्मत, परिसर की सफाई, खिड़की, दरवाजों में जाली लगवाने के निर्देश दिए। शाबाउमावि में अनुपस्थित अध्यापक इशरद वारसी एवं ममता कटारिया को नोटिस देने के जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए।

X
Manasa News - mp news seeing the collector in the hospital staff stirring in the wards cleaning the bmw
COMMENT