--Advertisement--

कथा में श्रीकृष्ण-रुक्मिणी विवाह का प्रसंग सुनाया

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 03:51 AM IST

Neemuch News - कालेश्वर मंदिर परिसर में कथा के दौरान उपस्थित श्रद्धालु। भास्कर संवाददाता | मनासा खेतपालिया के कालेश्वर...

Manasa News - mp news story narrates the incident of krishna rukmini marriage
कालेश्वर मंदिर परिसर में कथा के दौरान उपस्थित श्रद्धालु।

भास्कर संवाददाता | मनासा

खेतपालिया के कालेश्वर मंदिर परिसर में कथा में रविवार को संत स्वयं प्रकाश महाराज ने भगवान श्रीकृष्ण-रुक्मिणी विवाह का प्रसंग सुनाया।

आकर्षक झांकी सजाई गई। उन्होंने कहा कि द्वारका में रहते हुए भगवान श्रीकृष्ण और बलराम का नाम चारों ओर फैल गया। बड़े-बड़े नृपति और सत्ताधिकारी उनके सामने मस्तक झुकाने लगे। उनके गुणों का गान करने लगे। बलराम के बल-वैभव और उनकी ख्याति पर मुग्ध होकर रैवत नामक राजा ने अपनी पुत्री रेवती का विवाह उनके साथ कर दिया। रुक्मिणी जब विवाह योग्य हो गई तो भीष्म को उसके विवाह की चिंता हुई। रुक्मिणी के पास जो लोग आते थे वे श्रीकृष्ण की प्रशंसा किया करते थे। भगवान श्रीकृष्ण के गुणों और उनकी सुंदरता पर मुग्ध होकर रुक्मिणी ने मन ही मन निश्चय किया कि वह श्रीकृष्ण को छोड़कर किसी को भी पति रूप में वरण नहीं करेगी। भगवान श्रीकृष्ण को पाती लिखी और भगवान रुक्मिणी को लेने आए। भगवान ने रुक्मिणी का हरण कर विवाह किया।

X
Manasa News - mp news story narrates the incident of krishna rukmini marriage
Astrology

Recommended

Click to listen..