• Hindi News
  • Mp
  • Neemuch
  • Mandsore News mp news the 26 lakh liter tank built on the land of the filler started sinking as water filled cracks in the court building

भराव की जमीन पर बनाई 26 लाख लीटर की टंकी पानी भरते ही धंसने लगी, कोर्ट भवन में आईं दरारें

Neemuch News - सेटलमेंट, हेमर एवं वार्टिकल्टी टेस्ट होंगे सोमवार को इंदौर से आएगी जांच टीम नपा ने किला क्षेत्र,...

Feb 15, 2020, 08:25 AM IST
Mandsore News - mp news the 26 lakh liter tank built on the land of the filler started sinking as water filled cracks in the court building

{सेटलमेंट, हेमर एवं वार्टिकल्टी टेस्ट होंगे

{सोमवार को इंदौर से आएगी जांच टीम

नपा ने किला क्षेत्र, खानपुरा व आसपास पेयजल समस्या समाधान के लिए कोर्ट परिसर में 4 करोड़ रुपए से 26 लाख लीटर क्षमता की टंकी बनवाई। टंकी भरते ही आसपास के भवनों में दरारें आने लगीं।

जांच में सामने आया कि नपा इंजीनियरों ने बिना पड़ताल के जगह का चयन किया। टंकी के पिलर के नीचे ठोस जमीन नहीं है। पानी भरने पर टंकी बैठ रही है। आसपास के क्षेत्र में असर पड़ रहा है। टंकी ढहाने की नौबत आ सकती है। तत्कालीन उपयंत्री व सहायक यंत्री पर कार्रवाई संभावित है। हालांकि लापरवाही साबित करने के लिए जांच दल ने स्टेबिलिटी व अन्य टेस्ट कराने को कहा है। सोमवार को इंदौर से टीम पहुंचेगी। फिर सही कारणों का खुलासा होगा।

शहर किला क्षेत्र में बनी सबसे बड़ी टंकी से शहर किला क्षेत्र, खानपुरा, नृसिंहपुरा क्षेत्र में सप्लाई की जाना है। नपा ने पहले किला क्षेत्र में पॉलिटेक्निक कॉलेज में जमीन का चयन किया। निर्माण शुरू किया लेकिन जमीन निजी निकल गई। कुछ माह बाद नपा ने कोर्ट परिसर के पार्किंग एरिया में टंकी का निर्माण शुरू। तत्कालीन नपा इंजीनियरों ने मिट्‌टी परीक्षण के बाद निर्माण की बात कही और 4 करोड़ रुपए से शहर की सबसे बड़ी 26 लाख लीटर की टंकी बना दी।

नपा ने टेस्टिंग के लिए पानी भरा तो सेटलमेंट आने लगा। टंकी में दरारें आ गई, पिलर क्रेक हो गए। पास के कोर्ट भवन में दरारें आ गईं। मामला गरमाया तो कलेक्टर ने तीन अधिकारियों का जांच दल बनाया। जलसंसाधन विभाग के कार्यपालन यंत्री सुधीर वाघेला, लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री सचिन हरित और लोक स्वास्थ्य कार्यपालन यंत्री संदीप दुबे शामिल हैं।

मौखिक जानकारी ही दी

जांच दल ने नपा से टंकी निर्माण से पहले की जाने वाली मिट्‌टी परीक्षण रिपोर्ट मांगी। नपा ने जांच रिपोर्ट नहीं दी। मौखिक कह दिया कि स्वाइल बैरिंग कैपेसिटी 7.50 टन प्रति वर्गमीटर निकली थी। मौके पर डिजाइन 5 टन प्रतिवर्ग मीटर पाई गई। इसका कोई आधार नहीं है। अधिकारियों ने कलेक्टर को सौंपी रिपोर्ट में लिखा है कि दस्तावेज उपलब्ध नहीं कराए।

गलत निर्माण नहीं किया है, जांच में सब साफ हो जाएगा


ठोस निर्णय के लिए जांच का आदेश दिया है


जांच दल ने रिपोर्ट में किसी तरह के ठोस निर्णय लिए जाने से पहले सेटलमेंट टेस्ट, हेमर टेस्ट (साउंडनेस टेस्ट) एवं वार्टिकल्टी टेस्ट कराने की बात कही है। इस पर नपा ने यह टेस्ट कराने के लिए इंदौर के एसजीएसआईटीएस (श्री गोविंदराम सेकसरिया प्रौद्योगिकी एवं विज्ञान संस्थान) को पत्र लिखकर जांच के लिए 3.60 लाख रुपए जमा करा दिए हैं। सोमवार को कॉलेज की टीम जांच के लिए मंदसौर पहुंचेगी।


4 करोड़ में बनी टंकी, नपा ने नहीं दी मिट्‌टी परीक्षण रिपोर्ट

भास्कर
पड़ताल**

जांच दल का मानना है कि टंकी का निर्माण गलत जगह किया है। कोई पढ़ाई करने वाला इंजीनियर या नौसिखिया भी वहां टंकी नहीं बनाता। पूरे एरिया में भराव वाली जगह है। नीचे कोई बेस नहीं है। टंकी के पिलर तक बिना बेस के खड़े हैं। इस तरह के निर्माण के लिए इतनी गहराई तक खुदाई की जाती है कि चट्‌टान आ जाए। उसके ऊपर बेस तैयार किया जाता है। नपा इंजीनियरों ने बिना बेस के इतनी बड़ी टंकी बना दी। इसे भरने के बाद जमीन में सेटलमेंट हो रहा है। पिलर बैठ रहे हैं। इसका असर आसपास के क्षेत्र पर भी पड़ रहा है।


इंजीनियरों पर हो सकती है कार्रवाई

टंकी निर्माण के दौरान जिम्मेदार तत्कालीन उपयंत्री राजेश उपाध्याय थे। उनके कार्यकाल में जितने काम हुए वे विवादित रहे हैं। इनके कार्यकाल में मिड इंडिया की डिजाइन पर विवाद हुआ तो सीवरेज प्रोजेक्ट की डीपीआर निरस्त हुई। अब एक और मामला हुआ है। इंजीनियर ने लापरवाही से टंकी निर्माण कराया। अधिकारियों के अनुसार टंकी डिस्मेंटल करना पड़ सकती है। जांच रिपोर्ट में लापरवाही सामने आती है तो इसकी भरपाई उपयंत्री, सहायक यंत्री व कार्यपालन यंत्री से होगी। शासन इनके निलंबन की कार्रवाई कर सकता है।

शहर किला क्षेत्र के कोर्ट परिसर में बनी शहर की सबसे बड़ी पेयजल टंकी विवादों में चल रही है।

टंकी निर्माण के बाद आसपास के परिसरों में इस तरह आने लगीं दरारें इसलिए बढ़ा विवाद।

Mandsore News - mp news the 26 lakh liter tank built on the land of the filler started sinking as water filled cracks in the court building
X
Mandsore News - mp news the 26 lakh liter tank built on the land of the filler started sinking as water filled cracks in the court building
Mandsore News - mp news the 26 lakh liter tank built on the land of the filler started sinking as water filled cracks in the court building
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना