--Advertisement--

एसबीआई कैश डिपॉजिट मशीन खराब, ठीक कराने की बजाय पर्दे में बंद किया

Neemuch News - शहर में विभिन्न स्थानों पर लगे बैंकों के एटीएम ग्राहकों के लिए परेशानी बनने लगे हैं। कोई सर्वर डाउन तो कोई राशि...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 04:05 AM IST
Neemuch News - sbi cash deposit machine closed in curtain instead of bad fine
शहर में विभिन्न स्थानों पर लगे बैंकों के एटीएम ग्राहकों के लिए परेशानी बनने लगे हैं। कोई सर्वर डाउन तो कोई राशि नहीं होने तो कुछ तकनीकी खराबी के कारण अनुपयोगी साबित हो रहे हैं। बैंक शाखाओं के आसपास लगे एटीएम भी समय पर नहीं सुधर रहे। ऐसे में लोगों को अलग-अलग एटीएम पर भटकना पड़ रहा है। आखिर में बैंक की कार्य प्रणाली को ताने देते हुए लौटना मजबूरी बन गया है। देश की सबसे बड़ी राष्ट्रीकृत एसबीआई के एटीएम व राशि जमा करने की मशीन की हालत तो और ज्यादा खराब है। कैश डिपॉजिट मशीन तो साल भर से खराब पड़ी है। जिसको सुधारने की जगह पर्दे में ढंक दिया है।

शहर में करीब 50 स्थानों पर अलग-अलग बैंक के एटीएम ग्राहक सुविधा के लिए लगे हुए हैं। इनका बैंक शाखाओं द्वारा मेंटेनेंस नहीं करने से कभी सर्वर डाउन होने के कारण तो कभी राशि लोड नहीं करने से ग्राहकों के लिए यह अनुपयोग साबित हो जाते हैं। किसी को मिनी स्टेटमैंट निकालना हो तो पर्ची भी नहीं मिलती। जिन बैंकों की शाखा परिसर में एटीएम है उन्हें भी समय पर नहीं सुधारा जाता। ग्राहकों को मजबूरी में दूसरी बैंक के एटीएम की सेवा लेना पड़ती है। या फिर बैंकों में लाइन में लगकर काउंटर से नकद राशि प्राप्त करना पड़ती है। शहर में सबसे ज्यादा एसबीआई के एटीएम है। दशहरा मैदान स्थित बैंक की मुख्य शाखा के बाहर ग्राहकों की सुविधा के लिए लगाई कैश डिपॉजिट मशीन साल भर से खराब पड़ी है। बैंक अधिकारियों ने इसे ठीक करवाने की जगह पर्दे से ढंक दिया है। लोगों को कैश जमा करवाने के लिए बैंक पहुंचकर कतार में खड़े रहकर अपनी बारी का इंतजार करना पड़ता है। एटीएम के मेंटेनेंस पर बैंक शाखाओं द्वारा ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इसके कारण कई जगह एटीएम के बटन से नंबर ही घीस गए हैं। मध्यवर्गीय व ग्रामीण क्षेत्र के ग्राहकों को रुपए निकलने के लिए परेशानी का सामना करना पड़ता है।

बैंक शाखा के बाहर सीडीएम मशरी पर डाला पर्दा।

एटीएम में छोटे नोट नहीं

नोटबंदी के एक साल बाद भी शहर की जनता को छोटे नोटों की किल्लत का सामना करना पड़ रहा है। अधिकांश एटीएम में 2000, 500 के नोट ही लोड किए जाते हैं। इससे मध्यवर्गीय लोगों को आवश्यकता अनुसार 100 व 200 रुपए के नोट नहीं मिलते। मजबूरी में सीधे 500 रुपए निकालना पड़ते हैं। रिजर्व बैंक द्वारा 100 व 200 रुपए के नोट शाखाओं को उपलब्ध करवा दिए। फिर भी ग्राहकों को नए नोट नहीं मिल रहे हैं। एटीएम की कैसेट को री-केलिब्रेट (नए सिरे से दुरुस्त करना) न किए जाने व सॉफ्टवेयर अपग्रेड नहीं होने से नए छोटे नोट तो निकल ही नहीं रहे हैं।

नई कैश डिपॉजिट मशीन इसी माह आ जाएगी


पर्ची भी नहीं निकलती

इंदिरा नगर निवासी पवन शुक्ला शोरूम चौराहे स्थित एसबीआई के एटीएम से खाते का बैलेंस चेक करने गए। एटीएम से मिनी स्टेटमेंट निकालने के लिए प्रक्रिया की तो पर्ची नहीं निकली। इसके बाद प्राइवेट बस स्टैंड स्थित एसबीआई एटीएम पर भी गए लेकिन वहां से भी यही परेशानी आए। निराश होकर वापस लौटना पड़ा।

बटन हो गए खराब

स्कीम नंबर 7 निवासी अजय गेहलोत स्टेशन रोड स्थित एटीएम में रुपए निकालने पहुंचे। एटीएम के बटन खराब होने के साथ ही अंक भी घीस गए। नंबर नहीं होने से पासवर्ड के अंक डालने में कई बार गड़बड़ी हो जाती है।

X
Neemuch News - sbi cash deposit machine closed in curtain instead of bad fine
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..